25 हजार गैस कनेक्शन ब्लॉक

Noida Updated Sat, 22 Sep 2012 12:00 PM IST
नोएडा। आपने अपने नाम या पते पर एक से अधिक गैस कनेक्शन ले रखे हैं तो वितरक से जानकारी कर लें कि आपका कनेक्शन ब्लॉक तो नहीं हो गया है। अन्यथा सिलेंडर खाली होने पर आप बुक कराने के लिए फोन करेंगे तो जवाब मिल सकता है कि आपका कनेक्शन ब्लॉक कर दिया गया है। नोएडा में तीन कंपनियों ने करीब 25 हजार गैस कनेक्शन ब्लॉक कर दिए गए हैं। एक ही मकान पर एक से अधिक गैस कनेक्शन होने पर किराएदार व मकान मालिक दोनों का ही गैस कनेक्शन ब्लॉक हो गया है।
दरअसल, एक नाम और पते पर एक से अधिक गैस कनेक्शन मिलने पर उन्हें ब्लॉक कर दिया गया हैं। भारत गैस कंपनी के उपभोक्ता शहर में सबसे अधिक हैं। इस कंपनी के ही 12 से 15 हजार कनेक्शन ब्लॉक होने की सूचना है। कंपनियों ने ब्लाक कनेक्शनों का वास्तविक डाटा उपलब्ध कराने से मना कर दिया है, मगर वितरकों ने इतने कनेक्शन ब्लॉक होने का अनुमान लगाया है। इनमें ग्रामीण व सेक्टर दोनों के ही उपभोक्ता शामिल हैं। सेक्टर के कनेक्शनउपभोक्ता का नाम व पता समान होने पर रद किए गए हैं, जबकि गांवों में एक समान नाम व पता होने और अधूरा पता होने पर कैंसिल किए गए हैं। उदाहरण के लिए अगर आप भारत गैस के उपभोक्ता हैं और अपने नाम व पते पर इसी कंपनी के एक से अधिक कनेक्शन ले रखे हैं तो उन्हें ब्लॉक कर दिया गया है। अब तक इस पर प्रतिबंध न होने के कारण लोगों ने भारी तादाद में एक से अधिक कनेक्शन ले रखे हैं।

दो कंपनियों से लिए कनेक्शन भी कटेंगे
वितरकों का कहना है कि अभी तो एक ही कंपनी के एक नाम व पते पर दो कनेक्शन लेने वालों पर कार्रवाई की जा रही है, इसके बाद अलग-अलग कंपनियों से गैस लेने वालों के कनेक्शन भी काटे जाएंगे। उपभोक्ताओं की छंटनी के बाद तीनों गैस कंपनियां डाटा साझा करेंगी। जिस उपभोक्ता के नाम पर एक से अधिक कंपनी का कनेक्शन मिला, उसे ब्लॉक कर दिया जाएगा।

पति-पत्नी में से एक के नाम बचेगा कनेक्शन
अगर पति-पत्नी के नाम से भी कनेक्शन ले रखे हैं तो भी एक पर ही गैस मिल सकेगी। दूसरे को ब्लॉक कर दिया गया है। इतना ही नहीं, एक ही परिवार के सदस्य एक मकान के अलग-अलग फ्लोर पर रहते हैं, मगर कनेक्शन किसी एक के नाम एक से अधिक हैं तो इसे भी ब्लॉक कर दिया गया है। परिवार के अन्य सदस्य के नाम पर कनेक्शन लेना होगा।

केवाईसी फॉर्म जमा करने पर ही खुलेगा कनेक्शन
जिस उपभोक्ता का कनेक्शन ब्लॉक हो गया है, उसे केवाईसी (नो योर कंज्यूमर) फॉर्म भरकर वितरक के यहां जमा करना पडे़गा। उसमें पूरा पता, बैंक खाता, ईमेल आईडी आदि पूरा विवरण देना होगा। उसके साथ कोई न कोई सपोर्टिंग प्रूफ भी देना होगा, तभी कनेक्शन खुलेगा। ग्रामीण उपभोक्ताओं को भी सिर्फ रेंट एंग्रीमेंट नहीं, बल्कि बैंक खाता, आईडी प्रूफ, डीएल जैसा कोई भी सपोर्टिंग डाटा जमा करना होगा।
- शैलेंद्र शर्मा, चित्रा भारत गैस वितरक

डाटा मांगा है
एक नाम व पते पर बुक होने वाले कनेक्शन कंपनियों ने ब्लॉक कर दिए हैं। शुक्रवार को बैठक कर कंपनियों से डाटा मांगा गया है। गांव हो या सेक्टर, कंपनियां उपभोक्ताओं के पते का वेरीफिकेशन कर रही हैं। इससे सही डाटा मिल सकेगा। साथ ही बीपीएल कार्ड धारकों के कनेक्शनों का भी विवरण देने को कहा गया है।
विजय बहादुर
जिला आपूर्ति अधिकारी, गौतमबुद्धनगर

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी पुलिस भर्ती को लेकर युवाओं में जोश, पहले ही दिन रिकॉर्ड रजिस्ट्रेशन

यूपी पुलिस में 22 जनवरी से शुरू हुआ फॉर्म भरने का सिलसिला पहले दिन रिकॉर्ड नंबरों तक पहुंच गया।

23 जनवरी 2018

Related Videos

‘पद्मावत’ को लेकर राजपूतों ने की DND पर तोड़फोड़

नोएडा में फिल्म ‘पद्मावत’ को लेकर राजपूतों का उग्र प्रदर्शन लगातार जारी है। रविवार को राजपूतों ने डीएनडी टोल पर जमकर तोड़फोड़ की। प्रदर्शनकारियों ने आगजनी की कोशिश भी की लेकिन इसी बीच मौके पर पुलिस पहुंची और प्रदर्शनकारियों को भगा दिया।

21 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper