रफ्तार पर आपकी समझदारी ही टालेगी खतरा

Noida Updated Thu, 20 Sep 2012 12:00 PM IST
नोएडा। विश्वस्तरीय और देश का सबसे तेज एक्सप्रेसवे हादसों के लिए भी बड़ी बदनामी झेल रहा है। ऐसे में सवाल यह है कि इस पर हादसों की रोकथाम को प्रभावी कदम कब उठाए जाएंगे। जानकारों का कहना है कि संसाधनों की कमी व एक्सप्रेसवे की व्यवस्था के तहत सारा दोष प्रबंधन पर ही नहीं गढ़ा जा सकता। खतरा टालने के लिए कार के चालकों को भी समझदारी दिखाते हुए सिविक सेंस अपनानी होगी। बीच रास्ते में तेज रफ्तार गाड़ी को धीमा करने का रिस्क नहीं लिया जा सकता, जबकि टोल आने तक ओवर लिमिट स्पीड लोगों को लील रही है।
दरअसल, ग्रेटर नोएडा के जीरो प्वाइंट से जाते हुए 38, 95 व 150 किलोमीटर पर टोल बैरियर पड़ते हैं। ठीक इसी तरह आगरा से आते समय 15, 70 व 127 किलोमीटर पर टोल है। इस एक्सप्रेसवे पर कार की स्पीड लिमिट सौ किलोमीटर प्रति घंटा है। हाई स्पीड लिमिट को कैमरा भले ही कैच कर ले लेकिन उसे टोल से पहले रोका जाना संभव नहीं है। ऐसे में एक्सप्रेसवे पर ड्राइव का मजा ले रहे लोगों का पैर एक्सलरेटर से हटता नहीं। अगर कोई सामान्य स्पीड में चल भी रहा है तो बराबर से तेज गति में निकलकर आंखों से ओझल हो जा रही कार उसे स्पीड बढ़ाने के लिए प्रेरित करती है। यह बात दीगर है कि इस एक्सप्रेसवे पर एयर एंबुलेंस से लेकर तमाम संसाधन उपलब्ध कराने का दावा भी हवाई है।
समाजशास्त्री प्रो. संजय सिंह की मानें तो नियमों को बनाने के पीछे सुरक्षा और शांति की भावना प्रमुख होती है। ऐसे में व्यक्ति यदि समाज द्वारा निर्धारित नियमों पर चलता है तो अप्रिय स्थिति होने की संभावना तकरीबन नहीं होती है।
जेपी इंफ्राटेक के उपाध्यक्ष (कॉरपोरेट कम्यूनिकेशन) अस्करी जैदी ने कहा कि दिल्ली से आगरा की दूरी को आधे वक्त में तय करने के लिए बने इस रास्ते में वाहन चलाने वाले हर व्यक्ति की सहूलियत का ध्यान रखा गया है। ऐसे में बढ़ती दुर्घटनाएं चिंता का विषय हैं। लेकिन एक्सप्रेसवे की सुरक्षा व व्यवस्था में लगे व्यक्तियों से हुई बातचीत और पिछले तीन सप्ताह किए गए निरीक्षण के बाद कुछ चौंकाने वाली बातें सामने आई हैं। जिनमें वाहन चालकों में सिविक सेंस की कमी सबसे बड़ी समस्या बनी है।

एक्सप्रेस वे पर यह समझदारी टालेगी हादसा
---------------------------
- वाहन को निर्धारित गति सीमा से कम ही चलाएं
(हल्के वाहन: 100 और भारी: 60 किमी प्रति घंटा)
- स्वयं और सहयात्री सीट बेल्ट जरूर बांधें
- वाहन चलाते वक्त मोबाइल पर बातचीत न करें
- ओवरटेकिंग सिर्फ सबसे दाहिनी लेन से ही करें
- शराब पीकर वाहन न चलाएं, न ही वाहन चलाते वक्त शराब पीएं
- लेन ड्राइविंग सदैव सुरक्षित होती है, ध्यान रखें
(दाहिनी:100, मध्य: 80, बाएं: 60 किमी प्रति घंटा की रफ्तार)
- सड़क पर कुछ भी न फेंकें और गंदगी न फैलाएं
- रास्ते के किनारे बेवजह वाहन न रोकें
- यात्रा पूरी करने में जल्दबाजी न करें। अच्छा हो कि टोल प्लाजाओं पर जनसुविधा केंद्र पर ही रुकें।
--------------

यमुना एक्सप्रेसवे पर सड़क हादसे
---------------------

16 सितंबर, 2012 : यमुना एक्सप्रेसवे पर इंडिगो कार ने नोएडा के बाइक सवार दो युवकों को रौंदा। मौके पर दोनों की मौत।
2 सितंबर : एक्सप्रेसवे पर बीएमडब्ल्यू कार का टायर फटने से कार पलटी। दिल्ली के सरस्वती विहार निवासी दो छात्र और दो छात्राएं घायल।
30 अगस्त : यमुना एक्सप्रेसवे पर ट्रैक्टर ट्रॉली पलटने से राजस्थान के रहने वाले नाहर सिंह और मान सिंह की मौत।
29 अगस्त : टैंटीगांव मथुरा यमुना एक्सप्रेसवे पर तड़के मीरपुर और मेहंदीपुर के बीच टायर फटने से कैंटर पलट गया। हादसे में फर्रुखाबाद के पांच किसानों की मौत हो गई। दो अन्य घायल हो गए।
25 अगस्त : ग्रेटर नोएडा यमुना एक्सप्रेसवे पर खराब खड़े ट्रक में कार घुसने से एक कारोबारी की मौत।
24 अगस्त : ग्रेटर नोएडा यमुना एक्सप्रेसवे पर एक दिल्ली का परिवार हादसे का शिकार, एक की मौत और तीन घायल।

Spotlight

Most Read

Kanpur

बाइकवालाें काे भी देना हाेगा टोल टैक्स, सरकार वसूलेगी 285 रुपये

अगर अाप बाइक पर बैठकर आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर फर्राटा भरने की साेच रहे हैं ताे सरकार ने अापकी जेब काे भारी चपत लगाने की तैयारी कर ली है। आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर चलने के लिए सभी वाहनों को टोल टैक्स अदा करना होगा।

17 जनवरी 2018

Related Videos

नोएडा में कपड़ा फैक्ट्री के इस गार्ड की हत्या कर लूटे 12 लाख रुपये

नोएडा में गार्ड की गोली मारकर हत्या कर दी गई। बदमाशों ने की बेखौफ होकर इस वारदात को एक गार्मेंट कंपनी में अंजाम दिया। यही नहीं बदमाशों ने फैक्ट्री के लॉकर से 12 लाख रुपये भी लूट लिए।

15 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper