बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

दुष्कर्म की तीन खौफनाक वारदातें: आपबीती सुन कांप गई अफसरों की रूह, आखिर यूपी में कब थमेंगी ऐसी घटनाएं

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, मुजफ्फरनगर Published by: कपिल kapil Updated Sun, 25 Jul 2021 12:00 AM IST

सार

जिले में एक साथ सामूहिक दुष्कर्म की तीन घटनाएं होने से पुलिस अधिकारी सवालों के घेरे आ गए हैं। पुलिस अधिकारियों के दावे हवा-हवाई साबित हो रहे हैं।
विज्ञापन
प्रतीकात्मक तस्वीर।
प्रतीकात्मक तस्वीर। - फोटो : अमर उजाला।
ख़बर सुनें

विस्तार

उत्तर प्रदेश में भले ही पुलिस-प्रशासनिक अधिकारी लाख दावे करते हैं कि यूपी के हर शहर में बेटियां सुरक्षित हैं। लेकिन यूपी की हकीकत क्या है इसका अंदाजा तो आप एक जिले की इन तीन घटनाओं से ही लगा सकते हैं। वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी कई बार निर्देश दे चुके हैं कि बेटियों की सुरक्षा में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इसके बावजूद भी बेटियां शहर से घर तक सुरक्षित नहीं हैं। सिस्टम से सवाल है कि आखिर प्रदेश में कब तक बेटियों के साथ ऐसी घटनाएं होती रहेंगी? 
विज्ञापन


घटना - 1
किशोरी को अगवा कर किया सामूहिक दुष्कर्म


मुजफ्फरनगर के खतौली थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी किशोरी को अगवा कर दूसरे वर्ग के तीन युवकों ने उसे मेरठ के दौराला क्षेत्र में ले जाकर सामूहिक दुष्कर्म किया। बाद में आरोपी उसे हाईवे पर छोड़कर फरार हो गए। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। हिंदू संगठन के कार्यकर्ताओं ने थाने पर हंगामा कर लगातार बढ़ रहे धर्मांतरण मामलों में कड़ी कार्रवाई की मांग की।


खतौली थाना क्षेत्र के गांव निवासी पीड़ित पिता ने तहरीर देकर बताया कि उसकी 15 साल की बेटी 22 जुलाई की सुबह करीब 9.30 बजे संदिग्ध हालात में लापता हो गई। परिजनों ने उसकी तलाश की, लेकिन किशोरी का सुराग नहीं लगा। बाद में उसी दिन शाम के समय किशोरी बदहवास हालत में खतौली के बाहर हाईवे से बरामद हुई।

आरोप है कि मेरठ जनपद के इंचौली थाना क्षेत्र के गांव मिठेपुर निवासी वसीम व फरमान उसे गांव के बाहर से बाइक से जबरन ले गए। पीड़िता के अनुसार दोनों आरोपियों ने अपने एक अन्य साथी के साथ उसे दौराला क्षेत्र में अज्ञात स्थान पर ले जाकर सामूहिक दुष्कर्म किया। बाद में आरोपी उसे किसी से घटना के बारे में बताने पर जान से मारने की धमकी देते हुए हाईवे पर छोड़कर फरार हो गए। वहीं बेटी की आपबीती सुनकर परिजनों व पुलिस अधिकारियों की रूह कांप गई। पुलिस ने पीड़ित पक्ष की तहरीर पर घटना की रिपोर्ट दर्ज कर नामजद दोनों आरोपियों फरमान व वसीम को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं, तीसरे आरोपी को चिह्नित कर उसकी भी गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us