लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Muzaffarnagar ›   Lord Shiva's idol broke

भगवान शिव की मूर्ति खंडित की

ब्यूरो/अमर उजाला, मुजफ्फरनगर Updated Sat, 13 May 2017 12:19 AM IST
शिव मंदिर में मूर्ति खंडित होने की घटना की जांच करती पुलिस।
शिव मंदिर में मूर्ति खंडित होने की घटना की जांच करती पुलिस। - फोटो : amar ujala
विज्ञापन
ख़बर सुनें
मुजफ्फरनगर। सिविल लाइन थाना क्षेत्र के मोहल्ला जनकपुरी के शिव मंदिर में किसी शरारती तत्व ने भगवान शंकर की मूर्ति को खंडित कर दिया। जिससे लोगों ने आक्रोश फैल गया। पुलिस ने मौके पर जाकर स्थित को संभाला। देर रात को लोगों के सहमति से एक मूर्तिकार को बुला कर खंडित हुए भगवान शंकर के त्रिशूल को बदल दिया गया।


जनकपुरी मोहल्ले के होली चौक के पास शिव मंदिर स्थित है। मंदिर का पुजारी कई दिनों से बाहर गया हुआ है। शुक्रवार को किसी ने मंदिर में घुस कर संगमरमर की बनी भगवान शंकर की मूर्ति के त्रिशूल को खंडित कर दिया। शाम को श्रद्धालु पूजन के लिए मंदिर में गए तो मूर्ति को खंडित पाया। जिसकी जानकारी होने पर लोगों में आक्रोश फैल गया तथा मौके पर भीड़ एकत्र हो गई। मिश्रित आबादी में मूर्ति खंडित होने की सूचना पर सीओ सिटी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और लोगों को समझाबुझाकर शांत किया। 


बाद में मंदिर कमेटी के पदाधिकारियों के साथ वार्ता कर मोहल्ले में ही मूर्ति बनाने वाले एक मूर्तिकार को बुलवा कर नया त्रिशूल लगवा दिया। मामले की गंभीरता को देखते हुए वहां पर पुलिस बल भी तैनात कर दिया। सीओ सिटी डॉ. तेजवीर सिंह ने बताया कि अब सब शांत है। इस संबंध में अभी तहरीर नहीं दी गई है, यदि कोई तहरीर आएगी तो मुकदमा दर्ज किया जाएगा। पुलिस अपने स्तर से मामले की जांच कर ऐसा करने वालों को तलाश रही है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00