विज्ञापन
विज्ञापन

फाइलें खिसकीं, तो भड़के वकील

Muzaffar nagar Updated Tue, 03 Jul 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
शामली। प्रबुद्धनगर डीएम कोर्ट में लंबित मुकदमों की फाइलें सुनवाई के लिए मुजफ्फरनगर मंगा लेने के डीएम मुजफ्फरनगर के फैसले से नाराज प्रबुद्धनगर के वकील सोमवार को कार्य से विरत रहे और बेमियादी हड़ताल की चेतावनी दी। इस मसले पर मंगलवार को वकीलों का प्रतिनिधिमंडल मुजफ्फरनगर में डीएम से मिलेगा।
विज्ञापन
विज्ञापन
गौरतलब है कि प्रबुद्धनगर में पिछले तीन महीने से जिलाधिकारी का पद खाली चल रहा है। पहले सीडीओ को डीएम का प्रभार दिया गया। बाद में शासन ने निकाय चुनाव के मतदान से पांच दिन पूर्व मुजफ्फरनगर के डीएम सुरेंद्र सिंह को प्रबुद्धनगर का अतिरिक्त कार्यभार सौंप दिया। चुनाव व्यवस्था का जायजा लेने के लिए यहां आए डीएम सुरेंद्र सिंह ने अपने कोर्ट पेशकार को आदेश देकर डीएम कोर्ट के वादों की फाइलें मुजफ्फरनगर मंगा लीं, जिससे प्रबुद्धनगर के अधिवक्ता खफा हैं।
सोमवार को जिला बार एसोसियेशन के आह्वान पर जिले के तमाम अधिवक्ताओं ने नो वर्क रखा। बार भवन में अध्यक्ष योगेश शर्मा की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में जिलाधिकारी की इस कार्रवाई का विरोध किया गया। वकीलों का कहना था कि जब प्रबुद्धनगर जिला है तो यहां के मामले यहीं सुने जाएं और डीएम मुजफ्फरनगर को यहीं आकर केस सुनने चाहिएं। जनपद के वादकारी मुजफ्फरनगर क्यों जाएं। अधिवक्ताआें ने चेतावनी दी कि यदि उनकी मांगों पर सुनवाई नहीं की गई तो वे अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जायेंगे। योगेश शर्मा ने बताया कि जिले के अधिवक्ताओं का प्रतिनिधिमंडल मंगलवार को डीएम से मिलकर अपनी आपत्ति से अवगत कराएगा। इस मौके पर महासचिव जगदेव सिंह, जसपाल सिंह, बिजेंद्र सिंह, मणिकांत शर्मा, अवधेश कुमार, शैलेंद्र सिंह, वीरेंद्र सिंह, संजय शर्मा, मनोज जांगिड़, नीलम पुरी, रामपाल सुगलिया, इश्रत जहां, जगत प्रसाद कौशिक, सतेंद्र धिरयान, दीपक कौशिक, सतेंद्र शर्मा, धर्मवीर सिंह, धीरेंद्र कुमार एडवोकेट आदि उपस्थित रहे।

डीएम यहीं आकर सुनवाई करें : योगेश
शामली। बीते 28 सितंबर को प्रबुद्धनगर अस्तित्व में आने के बाद यहां डीएम कोर्ट में 100 से ज्यादा पत्रावलियों पर सुनवाई के साथ ही मामले निस्तारित किए जा चुके हैं। नए जिले के प्रथम डीएम अजय कुमार सिंह और उनके बाद रंजन कुमार सिंह ने 100 से ज्यादा मामले निस्तारित किए। अब 155 वादों की फाइलें मुजपफरनगर डीएम कोर्ट चली गई हैं। बार अध्यक्ष योगेश शर्मा का कहना है कि डीएम मुजफ्फरनगर को यहां दो दिन बैठकर जनसमस्याओं केसमाधान के अलावा कोर्ट की फाइलों पर भी सुनवाई करनी चाहिए। मुजफ्फरनगर मुख्यालय पर फाइलें मंगाना प्रबुद्धनगर की उपेक्षा करना है।

Recommended

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।
UP Board 2019

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।

क्या आप जीवन में किसी चिंता से परेशान है? ज्योतिष शास्त्र द्वारा अपने प्रश्न का उत्तर जानिए
ज्योतिष समाधान

क्या आप जीवन में किसी चिंता से परेशान है? ज्योतिष शास्त्र द्वारा अपने प्रश्न का उत्तर जानिए

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव में किस सीट पर बदल रहे समीकरण, कहां है दल बदल की सुगबुगाहट, राहुल गाँधी से लेकर नरेंद्र मोदी तक रैलियों का रेला, बयानों की बाढ़, मुद्दों की पड़ताल, लोकसभा चुनाव 2019 से जुड़े हर लाइव अपडेट के लिए पढ़ते रहे अमर उजाला चुनाव समाचार।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Muzaffarnagar

महिला की गला दबा कर हत्या

महिला की गला दबा कर हत्या

24 अप्रैल 2019

विज्ञापन

अलीगढ़ के रोडवेज दफ्तर में छलके जाम, वीडियो वायरल

उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम के अलीगढ़ डिपो में कर्मचारियों के शराब पीने का वीडियो हुआ वायरल। देखें वीडियो।

21 अप्रैल 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election