विज्ञापन
विज्ञापन

चलती कार में भरोसेमंद ने घोंटा नईम का गला

Moradabad  Bureauमुरादाबाद ब्यूरो Updated Sat, 25 May 2019 01:47 AM IST
ख़बर सुनें
कांठ (मुरादाबाद)। मुस्तकीम हत्याकांड के मामले में तफ्तीश में जुटी पुलिस टीम को प्रथम दृष्टया ये मामला चलती कार में भरोसेमंद द्वारा मुस्तकीम की गला घोंटकर हत्या किए जाने का लग रहा है। ये वही नई कार है,जिससे कलियर में चादर चढ़ाने के लिए वह घर से दो दोस्तों के साथ निकला था। चाचा असलम ने भतीजे मुस्तकीम के आटो चालक दोस्त नईम और उसके भाई फईम के खिलाफ कांठ थाने में हत्या और कार, नकदी लूट का नामजद मुकदमा शुक्रवार को दर्ज कराया है। दोनों आरोपी पुलिस की पकड़ से दूर हैं।
विज्ञापन
विज्ञापन
असलम ने बताया कि मुस्तकीम 20 मई की शाम चार बजे हरथला हिमगिरी कालोनी निवासी नईम और उसके भाई फहीम के साथ ही कलियर और अजमेर जाने के लिए फरीदपुर हमीर गांव स्थित घर से निकला था। इसके बाद वह हरथला में अपनी ससुराल भी गया, जहां रोजा इफ्तार किया। उस वक्त पत्नी जेवा भी वहीं पर थी। जेवा ने साथ चलने के लिए कहा तो मुस्तकीम ने दोस्तों की वजह से उसे साथ चलने से मना कर दिया। देर शाम को वह ससुराल से निकला, इसके बाद रात को ही उसका मोबाइल बंद हो गया। एसपी देहात उदय शंकर सिंह ने बताया कि हरथला से निकलने के बाद ही वारदात को अंजाम दिया गया है। एसपी ने बताया कि जिस तरह से वारदात को अंजाम दिया गया है। उससे अंदेशा है कि चलती कार में मुस्तकीम का गला कार में पीछे बैठे किसी भरोसेमंद ने घोंटा है। ऐसा तभी मुमकिन है जब मुस्तकीम चालक के बगल वाली सीट पर बैठा हो, वारदात में कम से कम तीन लोगों के शामिल होने का अंदेशा है। संदिग्धों की धरपकड़ के प्रयास किए जा रहे हैं।

मुस्तकीम की दूसरी पत्नी का पड़ोसी है आरोपी दोस्त
मुरादाबाद। हरथला हिमगिरी कालोनी में रहने वाली जेवा से 2011 में मुस्तकीम ने निकाह किया था। जेवा उसकी दूसरी पत्नी है, पहली पत्नी जुबैल इंशापुर मुंडिया गांव की रहने वाली है, जिससे मुस्तकीम ने 2010 में निकाह किया था। परिवार वालों ने बताया कि मुस्तकीम इकलौता बेटा था, पढ़ाई के वक्त उसकी जेवा से दोस्ती हो गई थी। इसलिए निकाह के एक साल बाद ही जब मुस्तकीम ने जेवा से निकाह की बात कही और जिद पर अड़ गया तो परिवार वालों ने उसका निकाह जेवा से कराया था, ससुराल में आने जाने के दौरान ही हरथला हिमगिरी कालोनी में रहने वाले आटो चालक से मुस्तकीम की मुलाकात चार साल पहले हुई थी।

संदिग्ध हत्यारोपी आता-जाता था मुस्तकीम के घर
मुरादाबाद। मुस्तकीम किराए पर आटो और छोटा हाथी चलवाने का काम करता था, जेवा के घर के पास रहने वाले आटो चालक से दोस्ती के बाद मुस्तकीम ने उससे टाटा लोडर किराए पर चलवाया था। जिस वजह से चालक का मुस्तकीम के घर पर भी आना जाना शुरू हो गया था। परिवार वालों ने बताया कि 18 मई को मुस्तकीम ने नई कार खरीदी और दो दिन उनको रिश्तेदारों के घर लेकर गया। 20 तारीख को सुबह वह ससुराल पहुंचा तो वहां रहने वाले आटो चालक दोस्त ने ही उसे कलियर शरीफ और अजमेर चलने का कहा।

Recommended

एलपीयू ही बेस्ट च्वॉइस क्यों है इंजीनियरिंग और अन्य कोर्सों के लिए
Lovely Professional University

एलपीयू ही बेस्ट च्वॉइस क्यों है इंजीनियरिंग और अन्य कोर्सों के लिए

क्या आपकी नौकरी की तलाश ख़त्म नहीं हो रही? प्रसिद्ध करियर विशेषज्ञ से पाएं समाधान।
Astrology

क्या आपकी नौकरी की तलाश ख़त्म नहीं हो रही? प्रसिद्ध करियर विशेषज्ञ से पाएं समाधान।

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वशनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Moradabad

मौलाना जव्वाद बोले, एनकाउंटर का नया रूप है मॉब लिंचिंग

मौलाना कल्बे जव्वाद ने देश के विभिन्न हिस्सों में घट रही मॉब लिंचिंग की घटनाओं को गंभीर अपराध बताया है।

26 जून 2019

विज्ञापन

अधीर रंजन के 'नाली' पर पीएम ने याद दिलाया कांग्रेस का 'गटर' वाला बयान

लोकसभा में धन्यवाद प्रस्ताव के दौरान अधीर रंजन के 'नाली' वाले बयान पर पीएम ने याद दिलाया कांग्रेस का 'गटर' वाला बयान।

25 जून 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
सबसे तेज अनुभव के लिए
अमर उजाला लाइट ऐप चुनें
Add to Home Screen
Election