गीत संगीत से गूंज उठी पुलिस लाइन

Moradabad Updated Mon, 28 Jan 2013 05:30 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

विज्ञापन

मुरादाबाद। देशभक्ति के तरानों पर खाकी वर्दी भी झूम उठी। पुलिस लाइन के मैदान में पुलिसकर्मियों की कदमताल ने रोमांचित किया तो स्कूली बच्चों ने भी अपने डांस से लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया। मौका था गणतंत्र दिवस समारोह का। दर्जा राज्य मंत्री हाजी इकराम कुरैशी ने बतौर मुख्य अतिथि जवानों की हौसला अफजाई की।
मुख्य अतिथि ने ध्वजारोहण किया। परेड की कमांड एएसपी केशव कुमार चौधरी, सीओ सिविल लाइंस अलका और मेजर करतार सिंह ने संभाली। सलामी मुख्य अतिथि के साथ डीआईजी शैलेंद्र प्रताप सिंह और एसएसपी विजय सिंह मीना ने ली। इसके बाद अपराधों की रोकथाम और अपराधियों को पकड़वाने वाले जनता के बीच के लोगों और पुलिस कर्मियों को सम्मानित किया गया।

आखिर में सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुतियों ने लोगों का दिल जीत लिया। मोहन मिश्रा ने तबले की प्रस्तुति, कौशल्या कन्या इंटर कालेज, आरएसडी एकेडमी, टाइनी टाट्स, केसीएम, आरआरके और विल्सोनिया स्कूल के बच्चों ने शानदार नृत्य से समां बांध दिया। आरआरके स्कूल के बच्चों को एसएसपी ने 5000 और डीएम संजय कुमार ने 2100 रुपये का पुरस्कार भी दिया। संचालन डा. जयपाल सिंह व्यस्त ने किया। मौके पर एसपी सिटी महेंद्र यादव, एसपी देहात एके सिंह, डा. एसटी हसन समेत शहर के तमाम गणमान्य लोग मौजूद रहे।
--
पब्लिक और पुलिस के वीरों को सम्मान
- दर्जा राज्य मंत्री ने दिया स्मृति चिन्ह व प्रशस्तिपत्र
अमर उजाला ब्यूरो
मुरादाबाद। पब्लिक और पुलिस के जांबाजों के लिए यह गणतंत्र दिवस कुछ खास था। उनकी वीरता की चर्चाएं यूं तो पूरे जिले में चर्चा का केंद्र थीं, लेकिन इस वीरता को पहली बार सम्मान दिया गया। दर्जा राज्य मंत्री ने स्मृति चिन्ह और प्रशस्तिपत्र देकर उन्हें सम्मानित किया। साथ ही समाज में इसी प्रकार अपना योगदान देते रहने की अपील की।
पिछले एक साल में अपराध बढ़े, लेकिन उसी तेजी से पब्लिक और पुलिस का हौसला भी बढ़ा। पब्लिक ने खुलकर अपराधियों से लोहा लेने का मन बनाया और फिर कई बदमाशों को पकड़वाया। चेन स्नेचरों से लेकर हत्यारे तक पब्लिक के हौसले से पकड़े गए। वहीं महकमे के तमाम पुलिसकर्मियों ने भी अपना उत्कृष्ट प्रदर्शन करके सबको आश्चर्यचकित कर दिया। शनिवार को जनता के बीच से 10 और पुलिस महकमे से 20 व्यक्तियों को उनकी वीरता के लिए सम्मानित किया गया।
--
1. आशा रानी मदान, सराय कोठीवाल- ताड़ीखाना के पास चेन तोड़ते दो युवकों को पकड़कर उन्होंने अदम्य साहस का परिचय दिया था। घटना में आशा के हाथ में काफी चोट आई थी। बाइक पर जा रहे युवक को पकड़ने की कोशिश में वह सड़क पर भी गिर गई थीं।
2. राजविमल रस्तोगी, अमरोहा गेट कोतवाली- पीलीकोठी के पास अचानक बेटे की चेन तोड़कर भाग रहे दो लुटेरों को उन्होंने मौके पर ही पकड़ लिया था। उनके बेटे यश और पब्लिक ने लुटेरोें की पिटाई कर उन्हें पुलिस के हवाले किया।
3. अनीता जैन, गणेश मंदिर चंद्रनगर- अनीता अपनी रिश्तेदारी में चंद्रनगर आई थीं। तभी बाइक सवार लुटेरों ने झपट्टा मारकर उनकी चेन तोड़ ली थी। किसी प्रकार अनीता ने हिम्मत दिखाते हुए एक लुटेरे को पकड़ लिया और फिर उसे पुलिस के हवाले किया गया।
4. पवन कुमार अग्रवाल, चंद्रनगर- महिला की चेन तोड़कर भाग रहे लुटेरे को पकड़ने में पवन ने भी भूमिका निभाई। पवन ने बदमाशों के पास मौजूद हथियार की भी परवाह नहीं की।
5. अंकिता वर्मा, मंडी चौक कोतवाली- सहेली के साथ कपूर कंपनी से पारकर कालेज की ओर जाते समय एक युवक ने उनसे अभद्रता और छेड़छाड़ की थी। लेकिन अंकिता ने साहस दिखाते हुए युवक को मौके पर ही पकड़ लिया और जमकर पीटा।
6. मानसी अग्रवाल, शिवपुरी कालोनी, कटघर- पांच दिन पहले ही घर में घुसे हथियारबंद डकैतों से मानसी ने बड़ी हिम्मत से निपटा। चिल्लाकर किराएदार को बताया। उसकी हिम्मत के आगे बदमाशों के पसीने छूट गए और वह मौके से भागने लगे। तभी एक डकैत को पकड़ लिया गया। घटना में नई बस्ती के राजू ने भी हिम्मत दिखाई।
7. लईक, पीतलबस्ती चौकी के पास- करीब चार माह पूर्व पीतलबस्ती में दिनदहाड़े एक युवक ने दुकान में घुसकर अपनी पत्नी के प्रेमी की चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी थी। लेकिन लईक ने दुकान का शटर गिरा दिया। इससे हत्यारा मौके पर ही पकड़ लिया गया।
8. कमरुद्दीन, टाहमदन, भगतपुर- मोहर्रम के मौके पर टाहमदन गांव में दो पक्ष आमने सामने आ गए थे। तनाव बढ़ गया। इस मौके पर पुलिस के पहुंचने से पहले ही कमरुद्दीन ने दोनों पक्षों को समझाया। पुलिस आई, लेकिन गनीमत रही कि बवाल नहीं हुआ।
--
पुलिसकर्मियों में यह हुए सम्मानित
पूर्व एसओजी प्रभारी अखिलेश प्रधान, एसओ अरविंद मोहन शर्मा, पीआरओ राजकुमार शर्मा, एसआई अजय सिंह, सिविल लाइंस एसआई योगेश यादव, भोजपुर एसओ ओमकार सिंह, कांठ एसओ शिशुपाल शर्मा, एसआई श्याम सिंह, हेड कांस्टेबिल देवेंद्र शर्मा और कांस्टेबिल परवेज आलम, दिनेश, नवल किशोर, ललित, प्रेम सिंह, राजन सिंह, जितेंद्र सिंह, चंद्रप्रकाश, गोपाल, राहुल सिंह, जुल्फिकार, पुष्पेंद्र यादव, टीकाराम, सचिन, नरेंद्र, रोहित, अर्पित कुमार, हितेश कुमार, वरुण कुमार, संजू चौधरी, नरेश कुमार।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X