नूर की बारिश में नहाए सरकार के दीवाने

Moradabad Updated Sat, 26 Jan 2013 05:30 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

विज्ञापन



मुरादाबाद। पुकारो या रसूल अल्लाह...सरकार की आमद मरहबा...नूर वाला आया है, नूर लेकर आया है...। नारे और सलातो सलाम, नात और मनकबत की गूंज। शुक्रवार को सरकारे दो आलम हजरत मोहम्मद मुस्तफा की यौमे विलादत का जश्न शहर में इस अंदाज में मना। बिजली की झालरों और दूधिया रोशनी से जगमग सड़कों पर जुलूसे मोहम्मदी पूरी शान-ओ-शौकत और भाईचारे के बीच निकाला गया।
जुलूसे मोहम्मदी का आगाज जीआईसी से हुआ। हरे परचम लहराते हुए उलेमा की कयादत में जुलूस आगे बढ़ा। मुफ्ती अय्यूब खां नईमी, मुफ्ती अब्दुल मन्नान कलीमी, जुलूस कन्वीनर मौलाना मोहम्मद अकरमी अगुवाई कर रहे थे। सबसे पहले सफेद घोड़ों पर अरबी लिबास में बैठे बच्चों का जोश दिखाई दिया। उनके पीछे मदीना-ए-मुनव्वरा की जगमगाती झांकियां देख सब वाह-वाह कर उठे। जुलूस में तमाम लोग नात पढ़ते हुए चल रहे थे, तो दर्जनों गाड़ियों में डीजे पर नात और मनकबत की गूंज थी। बीच-बीच में अखाड़े जोशीले करतब दिखा रहे थे। जुलूस आगे बढ़ता रहा और मुगलपुरा व लालबाग की ओर से वाहन इसमें जुड़ते गए। देर रात जुलूस के अगले हिस्से के दीवान का बाजार पहुंचने के बावजूद पिछला सिरा जीआईसी पर ही था। गाड़ियों पर बैठे लोग हरे परचम लहरा रहे थे। गाड़ियों से लंगर और मिठाई बांटी गई। शाम छह बजे जुलूस कोतवाली पहूुंचने पर रोक दिया गया। इकबाल गन हाउस में सभी ने मगरिब की नमाज अदा की।

नीम की प्याऊ से जुलूस फीलखाना की ओर मुड़ गया। लाल मस्जिद स्थित जुलूस के संस्थापक फख्र मिल्लत मुफ्ती नजीरुल अकरमी की मजार पर चादरपोशी की। इसके बाद देर शाम जुलूस दीवान का बाजार स्थित मदरसा जामिया नईमिया पहुंचा। इशा की नमाज अदा करने के बाद सलात-ओ-सलाम और दुआ के साथ जुलूस तमाम हुआ।


तबर्रुकात की ज्यारत को उमड़ी भीड़
मुरादाबाद। ईद मिलादुन्नबी के दिन जामिया नईमिया में खास तौर पर पैगंबरे इस्लाम सल. से जुड़े तबर्रुकात की ज्यारत कराई जाती है। यह रिवायत पिछले 62 साल से जारी है। मगरिब के वक्त से ही ज्यारत करानी शुरू कर दी गई। मुफ्ती टोला के हकीम सैयद असद अली हर वर्ष ज्यारत कराते हैं। तबर्रुकात में कदम शरीफ, पंजा शरीफ और मुए मुबारक शामिल हैं।

हरी पगड़ी, इस्लामी परचम
मुरादाबाद। जुलूसे मोहम्मदी में दो चीजें खास रहीं, हरी पगड़ियां और इस्लामी परचम। सभी गाड़ियों यहां तक मोटरसाइकिलों पर भी लोग झंडे लगाए घूमते रहे। वहीं हरी पगड़ी का चलन इस बार ज्यादा ही दिखाई दिया।

झांकियों में दिखाई दस्तकारी
मुरादाबाद। पीतल दस्तकारी का हुनर ईदे मिलाद के जुलूस में भी दिखाई दिया। मजहबी झांकियों में पीतल का इस्तेमाल खासतौर पर किया गया। कई बैनर भी पीतल के बनाए गए। झंडों के ऊपर भी अल्लाह, मुहम्मद पीतल से बने हुए लहराए।

जलसे में दिया अमन का संदेश
मुरादाबाद। जीआईसी पर अंजुमन खुद्दामे गुलामाने ताजदार मदीना कमेटी की ओर से जलसा हुआ। शहर इमाम सैयद मासूम अली आजाद की सदारत में हुए जलसे में समाजसेवी, राजनेता और अधिकारी शामिल हुए। उलेमा ने पैगंबरे इस्लाम की सीरत बयान की। उन्होंने कहा कि अगर मुसलमान सुन्नतों पर अमल करें तो एक भी शख्स भूखा नहीं रहेगा। उनका किरदार जमाने के लिए मिसाल है। समाजसेवियों ने भाईचारे का संदेश दिया। वहीं अधिकारियों ने शहर में अमन बनाए रखने की अपील की। जिलाधिकारी, एसएसपी और एसपी सिटी ने ईद-ए-मीलाद की मुबारकबाद देते हुए कहा कि अमन और भाईचारे के सबब शहर और जिले में तेजी से विकास हो रहा है। इसे कायम रखें। जलसे में खास तौर पर मुफ्ती मोहम्मद अय्यूब खां नईमी, मुफ्ती अब्दुल मन्नान कलीमी, जुलूसे मोहम्मदी के कन्वीनर मौलाना मोहम्मद अहमद अकरमी, दर्जा राज्यमंत्री हाजी इकराम कुरैशी, देहात विधायक शमीमुल हक, नगर विधायक हाजी यूसुफ अंसारी, पूर्व मेयर डा. एसटी हसन, बाबर खां, राशिद, सपा नगर अध्यक्ष शुएब पाशा, नदीम अहमद खां, कशिश वारसी जिगरी मलिक मौजूद रहे। संचालन सलीम वारसी ने किया।


जुलूस के स्वागत को लगे कैंप
मुरादाबाद। जुलूस के स्वागत को रास्ते में कई कैंप लगाए गए। पानदरीबा, मंडी चौक, टाउन हाल, कोतवाली और नीम की प्याऊ पर विभिन्न अंजुमनों और संगठनों ने कैंप लगाकर स्वागत किया। रास्ते में कई स्थानों पर चाय और मिठाई बांटी गई। जनता सेवक समाज के पादरी पाल सारस्वत, अजीजुल हसन, सुभाष गुप्ता, अतुल जौहरी ने पानदरीबा में उलेमा के काफिले का माल्यार्पण कर सौंफ, मिश्री खिलाई। कोर पीसीआई के डा. मुहम्मद जावेद ने जीआईसी पर जलसे में पोलियो अभियान की जानकारी दी। शहर अमन कमेटी के पदाधिकारियों ने भी कैंप लगाकर जुलूस का स्वागत किया।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X