दिनदहाड़े हत्याकांड से प्रीतमनगर में सनसनी

Moradabad Updated Sat, 13 Oct 2012 12:00 PM IST
मुरादाबाद। तीन बदमाश, युवक को घर से बुलाकर ले गए। मारपीट की और एक खाली प्लाट में घेरकर चाकुओं से गोद डाला। वह चिल्लाया, लेकिन कोई घर से बाहर नहीं निकला। घटना के बाद युवक को मरणासन्न अवस्था में छोड़कर बदमाश फरार हो गए। अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। दिनदहाडे़ मंडी समिति के पीछे पटपुरा मोहल्ले में हुई इस घटना से हड़कंप मच गया। पुलिस घटना के पीछे पुरानी रंजिश या अवैध संबंधों को कारण मान रही है।
प्रीतम नगर की गत्ता फैक्ट्री वाली गली में बीमा कंपनी के कर्मचारी यादराम के साथ उनका भतीजा अभिमन्यु उर्फ सैम (25 वर्ष) पुत्र स्व. अर्जुन सिंह रहता है। अभिमन्यु की मां भूरी, उसके पिता की मौत के बाद चाचा के साथ गजरौला में रह रही है। परिजनों के अनुसार अभिमन्यु ने पांच साल पहले बरेली की एक महिला और चार बच्चों की मां सुनीता (35 वर्ष) से शादी की थी। पिछले साल से सुनीता पटपुरा में किराए का कमरा लेकर रहने लगी। इसी दौरान अभिमन्यु प्रीतम नगर की एक युवती कविता की हत्या के मामले में जेल चला गया। दो माह पूर्व ही वह जेल से छूटकर आया था।
गुरुवार की शाम वह सुनीता के पास गया। दोपहर करीब 12 बजे चाचा के पास बीमा कंपनी पहुंचा। यहां से चाबी लेकर घर आया। मोहल्ले वालों के अनुसार इसी समय तीन बाइक सवार युवक उसे बुलाने आए और अभिमन्यु उनके साथ चला गया। पटपुरा में ले जाकर युवकों ने उस पर हमला बोल दिया। पहले तमंचे से फायर किया और फायर मिस होने पर चाकुओं से गोद डाला। लोगों के पहुंचने पर तीनों भाग निकले। इसके बाद अभिमन्यु को साईं अस्पताल लाया गया, जहां उसकी मौत हो गई। पुलिस के सामने अभिमन्यु ने एक हमलावर सुंदर का नाम लिया। मौके पर तीन कारतूस और जमीन पर खून पड़ा मिला। उसके चाचा ने सुंदर और उसके भाई पवन के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया। पुलिस मामले में कविता की हत्या की रंजिश या अवैध संबंधों को कारण मान रही है।
--
एसपी सिटी महेंद्र यादव ने बताया कि हत्या पुरानी रंजिश में या फिर प्रेम संबंधों के चलते की गई। आरोपी की तलाश की जा रही है। उसकी गिरफ्तारी के बाद ही मामले से पर्दा उठ सकेगा।
--
पहले पति से संपर्क में थी सुनीता
अभिमन्यु से शादी करने के बाद भी सुनीता अपने पहले पति से लगातार संपर्क में थी। बताया जा रहा है कि कविता की हत्या के मामले में जेल जाने के बाद उसके पहले पति इंदर सिंह व एक अन्य युवक का उसके घर पर आना जाना था। गुरुवार रात अभिमन्यु के सामने भी एक युवक आया था। जिसका उससे झगड़ा हुआ था।
--
कविता की मां ने दी थी धमकी
एक साल पहले मंडी समिति के पास हुई कविता की हत्या के बाद से उसकी मां कुंती अभिमन्यु के परिजनों को धमका रही थी। अभिमन्यु के चाचा यादराम ने बताया कि कुंती मुझे व भतीजे को जान से मारने की धमकी दे रही थी। जेल से छूटने के बाद अभिमन्यु अपनी मां के पास गजरौला चला गया था। लौटा तो यह घटना हो गई।
--
अपराधिक प्रवृत्ति का था अभिमन्यु
अभिमन्यु की संगत ठीक नहीं थी। चाचा यादराम की मानें तो कविता की हत्या के मामले में वह केवल मोहरा बना। वह कविता को बुलाकर ले गया था। लेकिन बाद में एक युवक ने उसकी हत्या कर दी। मामले में अभिमन्यु भी जेल गया। बोले कि मैं हमेशा उसकी संगत को लेकर टोकता था, लेकिन वह मेरी एक नहीं सुनता था।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

मुरादाबाद में पानी की टंकी में मिला छात्र का शव

मुरादाबाद में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई।

22 जनवरी 2018