एमएचएससी ने उठाया रेडिएशन फ्री सर्टिफिकेट का बीड़ा

Moradabad Updated Fri, 06 Jul 2012 12:00 PM IST
मुरादाबाद। कोबाल्ट की काली छाया से एमएचएससी की रिसर्च टेस्टिंग एवं कैलिब्रेशन लैबोरेटरी ने उबार दिया है। इसने निर्यातकों को रेडिएशन फ्री सर्टिफिकेट कंसाइनमेंट के बाबत देने का बीड़ा उठाया है। इस क्रम में उसकी ओर से महानगर के तीन निर्यातकों को रेडिएशन फ्री सर्टिफिकेट दिया जा चुका है। जिसकी बदौलत एक्सपोर्टर अपना माल अमेरिका के लिए रवाना चुके हैं।
कोबाल्ट को लेकर अमेरिकी मशीनरी पूरी तरह से सजग है। वह कोबाल्ट रहित शिपमेंट स्वीकारने के प्रति कटिबद्ध हो गया है। अमेरिकी शिपिंग कंपनी कोई भी शिपमेंट, रेडिएशन फ्री सर्टिफिकेट के बगैर लेने से पूरी तरह से इंकार दिया है। इससे तत्काल में शिपमेंट भेजने वाले निर्यातक पसोपेश में पड़ गए थे। पर उनके इस संकट को एमएचएससी ने राम भक्त हनुमान बनकर दूर किया है। उलझन में फंसे निर्यातकों को एमएचएससी की पहल संजीवनी बूटी का काम कर रही है। दरअसल जब अमेरिकी शिपिंग कंपनी ने कंसाइनमेंट लेने से मना कर दिया तो संकट में फंसे एक्सपोर्टर ने एमएचएससी से संपर्क साधा। जिस पर रिसर्च टेस्टिंग एवं कैलिब्रेशन लैबोरेटरी के प्रयोगशाला प्रमुख ने डा. रविंद्र शर्मा ने उनकी मदद करने का बीड़ा उठा लिया। शर्मा ने तीन निर्यातकों के कंसाइनमेंट को उनकी ओर से रेडिएशन फ्री सर्टिफिकेट दिया जा चुका है। शर्मा ने बताया कि विधिवत जांच करने के बाद सर्टिफिकेट दिए जा रहे हैं। इस कार्य को करने में एम एच एस सी सक्षम है। आवश्यकता के अनुसार जांच के तौर तरीकों और तकनीक में इजाफा किया जाएगा।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

मुरादाबाद में पानी की टंकी में मिला छात्र का शव

मुरादाबाद में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई।

22 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls