दो प्रधानाचार्य पर आजीवन डिबार की संस्तुति

Moradabad Updated Tue, 26 Jun 2012 12:00 PM IST
मुरादाबाद। बोर्ड परीक्षा के दौरान सूचनाएं छिपाने पर दो प्रधानाचार्य और कालेजों के खिलाफ आजीवन डिबार की संस्तुति की गई। इन प्रधानाचार्यों ने अपने ही कालेज में अपने बच्चों को परीक्षा दिलाई थी। जिसमें से एक जिला टापर है दूसरी टापर की सूची में तीसरे स्थान पर है। प्रधानाचार्यों के साथ ही आसीएम इंटर कालेज और सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कालेज में कभी भी परीक्षा न कराए जाने की सिफारिश की गई है। जिला विद्यालय निरीक्षक ने अपनी रिपोर्ट बोर्ड कार्यालय भेज दी है।
इंटरमीडिएट में आरएसएम इंटर कालेज सौदासपुर में पढ़ने वाले छात्र अरुण कुमार ने 87.6 प्रतिशत अंकों के साथ जिला टाप किया था। आरएसएम इंटर कालेज का सेंटर आरसीएम इंटर कालेज आलमपुर में था। जिसमें अरुण के पिता डा. धर्मपाल सिंह प्रधानाचार्य और केंद्र व्यवस्थापक थे। प्रिया रानी सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कालेज डिलारी की छात्रा है। जिसका सेल्फ सेंटर था। इसके प्रधानाचार्य और केंद्र व्यवस्थापक प्रिया के पिता रवेंद्र पाल सिंह थे। रिजल्ट घोषित होने के साथ ही इन छात्रों की योग्यता पर सवाल उठने लगे थे। इन विद्यालयों में नकल कराने की शिकायत की गई थी।
जिसके तहत दोनों प्रधानाचार्यों से जवाबतलब किया गया। जवाब में दोनों ने आधी अधूरी सूचनाएं दी। रवेंद्र पाल ने सूचनाएं नहीं दिए जाने को मानवीय भूल माना और डा. धर्मपाल सिंह ने सूचना दिए जाने का दावा किया था। लेकिन किसी ने भी कक्ष निरीक्षक की उपस्थिति पंजिका उपलब्ध नहीं कराई। जिला विद्यालय निरीक्षक एसपी द्विवेदी ने बताया कि यह सब जानबूझकर किया गया था। इन कालेजों में नकल की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है। दोनों प्रधानाचार्यों और कालेजों के खिलाफ आजीवन डिबार की सिफारिश करते हुए रिपोर्ट बोर्ड कार्यालय को भेज दी गई है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

मुरादाबाद में पानी की टंकी में मिला छात्र का शव

मुरादाबाद में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई।

22 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls