वाहन चोरों के अंतर्राज्यीय गैंग का पर्दाफाश, छह बंदी

Moradabad Updated Mon, 11 Jun 2012 12:00 PM IST
मुरादाबाद। पुलिस ने वाहन चोरों के अंतर्राज्यीय गैंग का पर्दाफाश करते हुए सरगना समेत छह ऑटो लिफ्टरों को गिरफ्तार किया है। इनके कब्जे से चोरी के चौदह वाहन बरामद किए हैं। इनमें से आठ बाइक महानगर के विभिन्न इलाकों से चोरी की गई थीं। वाहन चोरों ने दिल्ली व उत्तराखंड में चोरी की वारदातों को कबूला है।
पिछले काफी समय से महानगर में वाहन चोरियों के मामलों में जबर्दस्त बढ़ोतरी हुई है। महानगर में रोजाना तकरीबन चार-पांच दो पहिया वाहन चोरी हो रहे हैं। रविवार को एसओजी व सिविल लाइंस पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी। पुलिस ने छह ऑटो लिफ्टराें को पकड़ा। इनमें फहीम पुत्र अब्दुल करीम निवासी झब्बू का नाला (नागफनी), सलाउद्दीन उर्फ सलीम पुत्र बुंदू अंसारी, शहादत उर्फ इक्का पुत्र रिफाकत सैफी निवासी निवासी उमरी कलां (छजलैट), निपेंद्र चौहान पुत्र केसर सिंह निवासी बूढ़ानगला, स्योहारा (बिजनौर), सुल्तान पुत्र हबीब निवासी मलकपुर सेमली (डिलारी) शामिल हैं। एसपी सिटी महेंद्र यादव ने बताया कि इनमें से फहीम गैंग का लीडर हैं। इनके तीन साथी फरार हैं। एसपी सिटी ने बताया कि इनके कब्जे से चोरी की चौदह बाइकें मिली हैं। इनमें से छह सिविल लाइंस व एक-एक कोतवाली, मझोला क्षेत्र से चोरी की गई थी।
---
पुलिस टीम को दस हजार का ईनाम
मुरादाबाद। एसएसपी सुनील कुमार गुप्ता ने ऑटो लिफ्टरों के गिरोह का पर्दाफाश करने वाली एसओजी व सिविल लाइंस थाने की टीम को दस हजार का ईनाम देने की घोषणा की है। एसओजी प्रभारी राजकुमार शर्मा, सर्विलांस प्रभारी अरविंद मोहन शर्मा, सिविल लाइंस एसओ हिंदवीर सिंह, कांस्टेबल प्रेम सिंह, राजन कुमार, रणजीत सिंह, नूर अंसारी शामिल हैं।

---------------------------------
वाहनों का ‘अपहरण’ कर मांगते थे ‘फिरौती’
- फरार तीन सदस्य मांगते थे वाहन स्वामियों से रकम
- चार सालों में कर चुके हैं दो सौ वाहनों का सौदा
- पांच से दस हजार में बेची जाती थी चोरी की बाइक
अमर उजाला ब्यूरो
मुरादाबाद। वाहनों का ‘अपहरण’ कर ‘फिरौती’ मांगने वालों में भी यही गैंग शामिल हैं। इस गैंग के फरार तीन बदमाश वाहनों की ‘फिरौती’ व उनकी सौदेबाजी का काम करते थे। इन तीनों के गिरफ्त में आते ही ‘फिरौती’ के इस धंधे का पूरी तरह से खुलासा होगा।
महानगर के कई इलाकों में वाहनों के बदले ‘फिरौती’ मांगने का ट्रेंड चलने लगा है। पिछले दिनों एसएसपी सुनील कुमार गुप्ता को इनकी शिकायत की गई थी। शनिवार को अमर उजाला ने इससे संबंधित खबर ‘फिरौती को ‘अगवा’ होने लगीं मोटरसाइकिलें’ शीर्षक से खबर प्रकाशित की थी। इस गैंग के पकड़े जाने के बाद इस धंधे का खुलासा हो गया है। इस अंतर्राज्यीय गैंग में कुल नौ बदमाश काम करते हैं। पकड़े गए छह बदमाशों के जिम्मे वाहनों की चोरी का काम था। एक वाहन की चोरी में तीन बदमाश काम करते थे। एक बदमाश वाहन स्वामी की गतिविधियों पर नजर रखता था जबकि दो वाहन को चोरी करने का काम करते थे। जबकि फरार तीन बदमाश वाहनों को ठिकाने लगाने का काम करते थे। चोरी की गई बाइक को मॉडल के हिसाब से पांच से दस हजार रुपए में नेपाल व दिल्ली में बेच दिया जाता था। कुछ दिनों से ये लोग वाहनों के बदले ‘फिरौती’ वसूलने का भी धंधा करने लगे थे। एसपी सिटी महेंद्र यादव का कहना है कि अभी तीनों के पकड़े जाने के बाद पूरे गोरखधंधे का खुलासा होगा।

Spotlight

Most Read

Lucknow

ओपी सिंह कल संभालेंगे यूपी के डीजीपी का पदभार, केंद्र ने किया रिलीव

सीआईएसएफ के डीजी ओपी सिंह को रिलीव करने की आधिकारिक घोषणा रविवार को हो गई।

21 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी के इस शहर में घुस आया तेंदुआ

मुरादाबाद से लगे अगवानपुर में एक तेंदुए के घुस आने से लोगों में दहशत फैल गई।

19 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper