बिन वादी बयान, मुकदमा एक्सपंज

Moradabad Updated Fri, 08 Jun 2012 12:00 PM IST
मुरादाबाद। इसे पुलिस की तेजी कहेंगे या फिर मुकदमों को निपटाने की आपाधापी। लूट के एक मामले में पुलिस ने चौबीस घंटे के अंदर ही एफआर लगा उसे एक्सपंज कर दिया। न तो वादी के बयान दर्ज हुए, न भुक्तभोगियों से बातचीत हुई और न ही आरोपी अज्ञात लोग पुलिस के हत्थे चढ़े लेकिन लूट जैसे संगीन मामले की जांच पुलिस ने अपने स्तर से कर दी।
अगवानपुर के सराय फारुख मोहल्ले निवासी कमल कुमार की मां शीला देवी व पत्नी सुमन सिंह सोमवार को दोपहर में पुरानी हरथला चौकी के पास एक वैवाहिक समारोह में आई थी। शाम को मौसम खराब होने से वे घर जाने में लेट हो गई। देर शाम करीब आठ बजे वे अगवानपुर जाने के लिए सड़क किनारे खड़े होकर टेंपो का इंतजार कर रहीं थीं। काफी देर तक टेंपो नहीं आया। इसी बीच एक मारुति कार आकर रुकी और उसमें से एक युवक ने खुद को अगवानपुर का बताते हुए उन्हें लिफ्ट देने की बात कही। काफी देर से खड़ी सास-बहू कार में बैठ गईं। कार में पहले से भी एक युवक बैठा हुआ था। युवक कार को आशियाना वाली सड़क पर ले गए और तमंचा दिखा दोनों महिलाओं से जेवर उतरवा दिया और सुमन का मोबाइल भी छीन लिया। बदमाशों ने दोनों को ढाप वाले मंदिर के पास चलती कार से फेंक दिया और फरार हो गए।
इस मामले में कमल सिंह ने चार जून को ही सिविल लाइंस थाने में अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया। पुलिस ने मामले की जांच करते हुए पांच जून को मुकदमे में एफआर लगाते हुए मामले को एक्सपंज कर दिया। वादी कमल सिंह ने कप्तान सुनील कुमार गुप्ता से बृहस्पतिवार को इसकी शिकायत की।
--
विवेचक ने उलझाया मामला
मुरादाबाद। लूट के इस मामले के विवेचक एसआई सीपी सिंह ने पूरे मामले को उलझा दिया है। पांच जून को एफआर लगाने के बाद भी विवेचक मामले की जांच चलने की बात कह रहे हैं। वादी कमल सिंह का कहना है कि विवेचक फोन पर शीघ्र ही उसके बयान दर्ज करने की बात कह रहे हैं। बृहस्पतिवार को देर रात इस संवाददाता से मोबाइल पर हुई बातचीत में भी एसआई ने जांच चलने की बात कही।
---
ये है पुलिस की जांच रिपोर्ट
पुलिस ने अपनी जांच रिपोर्ट में लिखा है कि मामला किराए को लेकर विवाद का था। दोनों महिलाएं पुरानी हरथला चौकी के पास से बैठी थीं। मारुति सवार युवकों ने अगवानपुर के लिए तीस-तीस रुपए किराए के मांगे। इसी को लेकर विवाद में दोनों महिलाओं को कार से उतार दिया गया। महिलाओं के साथ लूट व मारपीट की बात की पुष्टि नहीं हो सकी है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

मुरादाबाद में पानी की टंकी में मिला छात्र का शव

मुरादाबाद में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई।

22 जनवरी 2018