संत समागम में उमड़ा आस्था का सैलाब

Moradabad Updated Fri, 18 May 2012 12:00 PM IST
कई मार्ग रहे जाम की गिरफ्त में
मुरादाबाद। निरंकारी संत समागम में उमड़े हुजूम के कारण नगर के अधिकांश प्रमुख मार्ग जाम रहे। कई रास्ते बदल का वाहन निकाले गए। पुलिस को भी कड़ी मशक्कत का सामना करना पड़ा।
रेलवे स्टेडियम आयोजित संत समागम में भाग लेने के लिये मुरादाबाद सहित आप पास के जनपदों से भी बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचे। बड़ी संख्या में लोग निजी वाहनों से भी आए। इसके कारण रेलवे स्टेशन, बुध बाजार, कपूर कंपनी चौराहा, लोको शेड, फव्वारा चौक, पीली कोठी, कंपनी बाग आदि मार्गों पर जाम लगा रहा। कपूर कंपनी पुल पर तो कई बार वाहनों वन वे कर निकालना पड़ा। दोनों ओर पुलिस तैनात रही। चौराहों पर भी पुलिस बल मुस्तैद रहा। स्वयं सेवक यातायात व्यवस्था दुरुस्त कराते रहे। रेलवे स्टेडियम के पास पुलिस के साथ किसी सतर्कता की दृष्टि से अग्निशमन दल भी तैनात रहा।



स्वयंसेवकों के हवाले रही समागम की व्यवस्था
मुरादाबाद। संत समागम की व्यवस्था पूरी तरह संत निरंकारी मंडल के स्वयंसेवकों के हवाले रही। वाहनों के लिये स्टैंड से लेकर मंच तक स्वयंसेवक मुस्तैद रहे।
रेलवे स्टेडियम को जाने वाले हर मार्ग पर काफी पहले से स्वयं सेवकों को तैनात किया गया। यह श्रद्धालुओं का मार्गदर्शन करने के साथ ही व्यवस्था में जुटे रहे। कंपनी बाग के पास बड़े वाहनों के लिये तो मनोरंजन सदन के पास दो पहिया वाहनों की पार्किंग की व्यवस्था रही। यहीं से स्वयं सेवक कतार बनाकर मंच जुटे रहे। महिलाओं और बच्चों के साथ पुरुष वर्ग को भी बाबा के दर्शन कराने की व्यवस्था रही। यही स्थिति लोगों को बाहर पहुंचाने की भी रही। स्वयंसेवकों में महिलाओं और युवतियों ने भी पूर्ण समर्पण भाव से सेवा की। लोगों को कतारबद्ध कर मंच के सामने से गुजार कर बाबा के दर्शन कराए गए। प्रांगण में स्टेशनरी के स्टाल भी सजे रहे।



देर रात तक जारी रहा लंगर
मुरादाबाद। संत समागम के पास लंगर का भी आयोजन किया गया। स्वयंसेवकों का प्रयास रहा कि बाहर से आने वाले श्रद्धालु पहले भोजन ग्रहण करें भी स्टेडियम में प्रवेश करें। इस लिये सभी ओर तैनात स्वयं सेवकों आने वालों से पहले भोजन करने का आग्रह करते रहे। यह लंगर दोपहर से से ही आरंभ कर दिया गया था और देर रात समागम संपन्न होने के बाद तक जारी रहा।




लड़ाई से बचकर स्वयं को पहचाने मानव: निरंकारी बाबा हरदेव सिंह महाराज
बाबा ने दी सत्य के मार्ग पर चलने की नसीहत
मुरादाबाद। आस्था का हुजूम, सभी में बाबा की एक झलक देखने की ललक, आगे ओर बढ़ते कदम मगर निगाहें मंच पर, नजदीक पहुंचते ही चरणों में नतमस्तक होता शीश, दर्शन होते ही खुशी ऐसी मानो परमपिता मिल गया। हर किसी में इस क्षण को यहीं थामने की चाहत। जिसने ऐतिहासिक बना दिया संत समागम।
संत निरंकारी मंडल के तत्वावधान में रेलवे स्टेडियम आयोजित संत समागम में जैसे ही निरंकारी बाबा हरदेव सिंह जी महाराज ने माइक पर आए तो स्टेडियम जयकारों से गूंज उठा। बाबा आशीर्वचन देते हुए कहा संपूर्ण संसार एक पिता की संतान है। सभी पंच तत्वों से निर्मित हैं। इसलिये सब को एक दूसरे से प्यार करना और सहारा बनना चाहिये। उन्होेंने कहा हमें धर्म, मजहब, पहनावे की लड़ाई से बचकर अपने को पहचानना चाहिये। परम पिता की जानकारी लेकर अंधकार से प्रकाश की ओर बढ़ना चाहिये। अंधकार दुख का कारण है। घर में भी अंधकार हो तो ठोकर लग जाती है। इसी लिये संतों ने सत्य का मार्ग अपनाया। सत्य को परमपिता की जानकारी के लिये जरूरी बताया। कहा बुझा दीपक दूसरा दीपक नहीं जला सकता मगर जलता दीपक अनेक दीये प्रज्ज्वलित कर सकता है। उन्होेेंने मानव भौतिक पदार्थों में उलझता जा रहा है। यह जीवन के लिये जरूरी हो सकते हैं मगर मकसद सत्य की प्राप्ति ही होना चाहिये। उन्होंने सतयुग को सर्वोत्तम युग बताते हुए कहा उस समय प्रहलाद कण कण में राम को देखता था। उसका पिता हिरण्य कश्यप अंहाकर वश उसे मारना चाहता था। इस तरह अज्ञानता सदैव दुख देती है। प्रभु की जानकारी अंधकार से प्रकाश की ओर ले जाती है। इसे कष्टों का निवारण होता है। इनसे पूर्व जसपुर आंचल के प्रभारी राजकपूर निरंकारी सहित आशु खुराना, कृपाल सिंह, अजब सिंह, राजू मुल्तानी, वीरेंद्र कुमार, कश्मीरी लाल, आदि ने विचारों से रूबरू कराया। समागम का समापन गीत के साथ किया गया। संचालन महेश धवन एवं करतार सिंह ने किया।

Spotlight

Most Read

National

मौजूदा हवा सेहत के लिए सही है या नहीं, जान सकेंगे आप

दिल्ली के फिलहाल 50 ट्रैफिक सिग्नल पर वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) डिस्पले वाले एलईडी पैनल पर यह जानकारी प्रदर्शित किए जाने की कवायद हो रही है।

19 जनवरी 2018

Related Videos

रामपुर में मोटरसाईकिल के लिए पत्नी को दिया तीन तलाक

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद सरकार ने तीन तलाक पर कानून बनाने का फैसला तो जरूर कर लिया लेकिन इसका असर दिखाई नहीं दे रहा है।

19 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper