शराबी अपहर्ताओं के चंगुल से बच निकला बालक

Mirzapur Updated Mon, 10 Dec 2012 05:30 AM IST
अहरौरा। शराब का नशा अपहरणकर्ताओं पर इस कदर हावी हुआ कि उन्हें अपहृत बालक की सुधि नहीं रही। मौके का फायदा उठाकर गाड़ी की खुली डिग्गी से बालक आजाद हो गया और लगभग 48 घंटे बाद शनिवार की देर रात वह अपने घर पहुंचा तो उसकी तलाश में बदहवास परिजनाें के चेहरे पर मुस्कान लौट आई। यह घटना तब घटी जब बालक सड़क किनारे अकेले खड़े होकर लघुशंका कर रहा था उसी समय पहुंचे चार पहिया वाहन सवार अपहर्ताओं ने मुंह दबा कर उसे उठाकर गाड़ी में बैठा लिया और चले गए। परिजनाें तथा पुलिस को इस मामले की भनक तक नहीं लगी। उधर पुलिस ने इस मामले से अनभिज्ञता जाहिर की।
अहरौरा थाना क्षेत्र के मोहल्ला पट्टी खुर्द निवासी धोबी सत्तार का तेरह वर्षीय पुत्र असलम नगर पालिका इंटर कालेज में कक्षा सात का छात्र है। शुक्रवार को सुबह वह अपने पशुओं को चराने के लिए घर से निकला और चितविश्राम तिराहे पर पहुंच कर जानवराें को चरने के लिए छोड़ दिया। दस बजे के करीब बालक के पिता सत्तार खुद चितविश्राम तिराहे पर पहुंचे और जानवराें को चराने लगे और असलम को खाना खाने के लिए घर भेज दिया। बालक विद्युत उपकेंद्र के पास सड़क किनारे लघुशंका कर रहा था तभी काले रंग के वाहन में सवार लोगों ने गाड़ी रोक कर असलम का मुंह दाबकर उठा लिया और भाग निकले। इस दौरान बदमाशाें ने अपना मुंह कपड़े से ढंक रखा था। असलम के अनुसार गाड़ी में बदमाशाें ने उसका हाथ पैर बांधने के बाद उसके आंख पर पट्टी बांध दी। भूखा प्यासा बालक दिन भर बदमाशाें के चंगुल में रोता बिलखता रहा। अंधेरा होने पर सड़क किनारे वाहन रोक कर बदमाश अज्ञात स्थान पर बैठकर शराब पीने लगे। शराब की बोतल गाड़ी की डिग्गी से निकालते समय बदमाश डिग्गी बंद करना भूल गए। मौके का फायदा उठाते हुए बालक डिग्गी से बाहर निकला और शरीर में बंधी डोरी को दांत से खोल लिया। गाड़ी के बारह निकलने पर अंधेरा देख वह घबरा गया और पास के एक मकान के बाहर बैठी महिला से अपनी कहानी बताई। महिला ने उसे अपने घर में छुपा लिया। सुबह घर का पता बताने पर असलम को अहरौरा जाने वाले एक वाहन में बैठा कर रवाना कर दिया। वह वाहन में बैठकर निकला तो देखा तो वहां से चुनार मात्र 14 किलोमीटर था। जिसे देखने के बाद बालक वाहन को रोक कर उतर गया। इसी बीच रास्ते से गुजर रहे एक बाइक सवार को रोक कर वह नरायनपुर तिराहे पहुंचा जहां से अहरौरा जाने वाले मार्ग पर पैदल ही चल पड़ा। दिन भर के अथक परिश्रम के बाद शनिवार की देर रात वह अपने घर पहुंचा। इस दौरान उसके दोनों पैराें में सूजन आ गई थी। उधर 48 घंटे से लापता बालक की खोज में परिजन बदहवास हो गए थे लेकिन बालक के पहुंचते ही उनके चेहरे पर मुस्कान लौट आई।

Spotlight

Most Read

National

सियासी दल सहमत तो निर्वाचन आयोग ‘एक देश एक चुनाव’ के लिए तैयार

मध्य प्रदेश काडर के आईएएस अधिकारी और झांसी जिले के मूल निवासी ओपी रावत ने मंगलवार को मुख्य चुनाव आयुक्त का कार्यभार संभाल लिया।

24 जनवरी 2018

Rohtak

बिजली बिल

24 जनवरी 2018

Rohtak

नेताजी

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: आपके बच्चों से स्कूल में ये काम तो नहीं कराया जाता?

मिर्जापुर के बंधवा में बने पूर्व प्राथमिक पाठशाला की एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो में स्कूल के छात्रों से शौचालय साफ कराया जा रहा है।

30 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper