वन्य जीव संरक्षण को हटवाया कब्जा

Mirzapur Updated Tue, 02 Oct 2012 12:00 PM IST
हलिया। कैमूर वन्य जीव बिहार अभयारण्य क्षेत्र की अतिक्रमित वन भूमि पर किए गए कब्जे को हटवा दिए जाने से अतिक्रमणकारी सहमे हुए हैं। वन विभाग द्वारा लगातार चलाए जा रहे अतिक्रमण मुक्ति अभियान के चलते वन भूमि की सुरक्षा को नया बल मिला है।
रविवार को वन्य जीव प्रभाग के प्रभागीय वनाधिकारी के निर्देश पर क्षेत्रीय वनाधिकारी हलिया प्रवीण नारायण श्रीवास्तव के नेतृत्व में कुशियरा वन क्षेत्र में करीब 22 हेक्टेयर अतिक्रमित वन भूमि से अतिक्रमण हटाया गया था। इस दौरान अतिक्रमण से मुक्त कराई गई वन भूमि पर जंगली पौधाें के बीज भी बोए गए। इस अभियान से कैमूर वन्य जीव बिहार अभयारण्य के सुरक्षा एवं वन संवंर्धन के साथ ही दुर्लभ वन्य जीवाें के निर्भय जीवन यापन की प्रक्रिया को भी बल मिलेगा। क्षेत्रीय वनाधिकारी प्रवीण नारायण श्रीवास्तव ने बताया कि हलिया वन क्षेत्र करीब 22 हजार हेक्टेयर फैला हुआ है। इसमें अति दुर्लभ वन्य जीवाें की भरमार है। उन्होंने बताया कि यहां अति दुर्लभ काले हिरण के साथ ही अन्य दुर्लभ वन्य जीव निर्भय होकर जीवन यापन करते हैं। उनके संरक्षण एवं सुरक्षा के लिए आरक्षित वन क्षेत्र का सुरक्षित रहना नितांत आवश्यक है। इसी क्रम में कैमूर वन्य जीव बिहार की संपूर्ण वन भूमि का सीमांकन कराकर अतिक्रमित वन भूमि को अतिक्रमण मुक्त कराया जा रहा है। क्षेत्राधिकारी प्रवीण नारायण श्रीवास्तव ने कैमूर वन्य जीव बिहार अभयारण क्षेत्र हलिया के समीप बसे ग्रामीणाें से अनुरोध करते हुए कहा कि पर्यावरण, दुर्लभ वन्य जीव एवं राष्ट्रीय वन संपदा को अक्षूण्य बनाए रखने के लिए वन भूमि एवं वन क्षेत्र को अतिक्रमण मुक्त रखने में जनजन का सहयोग अपेक्षित है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: आपके बच्चों से स्कूल में ये काम तो नहीं कराया जाता?

मिर्जापुर के बंधवा में बने पूर्व प्राथमिक पाठशाला की एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो में स्कूल के छात्रों से शौचालय साफ कराया जा रहा है।

30 दिसंबर 2017