पढ़ाई शुरू करने से पहले बच्चे उठाते हैं गोबर

Mirzapur Updated Mon, 24 Sep 2012 12:00 PM IST
शेरवा (मिर्जापुर)। जमालपुर ब्लाक के प्राथमिक विद्यालय, सिकंदरपुर में बच्चों को पढ़ाई शुरू करने से पहले गोबर उठाना और झाड़ू लगाना पड़ता है। वजह, विद्यालय की चहारदीवारी नहीं बनी है। विद्यालय में छुट्टी के बाद शाम से परिसर पशुओं का आरामगाह बन जाता है। कुछ पशुओं को तो सुबह स्कूल खुलने पर हांक कर बाहर करना पड़ता है।
विद्यालय में नियमित सफाईकर्मी न होने के कारण अध्यापक स्कूल के बच्चों से ही सफाई करवाते हैं। इसमें झाड़ू लगाने से गोबर उठाने तक का काम होता है। प्रधानाध्यापक मो. सुहेल तो कहते भी हैं कि बच्चे विद्यालय आते हैं और बैठने के स्थान पर गोबर पड़ा होने पर खुद उठाकर फेंकते हैं। चहारदीवारी निर्माण की बाबत कई बार विभागीय अधिकारियों से कहा गया, लेकिन अब तक बात नहीं बनी।
यह हालत सिर्फ सिकंदरपुर के प्राथमिक विद्यालय की ही नहीं है। ब्लाक के यूसुफपुर, लोढ़वां, चकलठिया, दौलताबाद, गोगहरा, जाफरखानी आदि गांवों के प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक विद्यालयों की भी यही दशा है। प्राथमिक विद्यालय दौलताबाद के प्रधानाध्यापक राजनाथ, पूर्व माध्यमिक विद्यालय चकलठिया के प्रधानाध्यापक राधेश्याम ने कबूल किया कि बच्चों के साथ उन्हें भी गोबर उठाकर फेंकना पड़ता है। प्राथमिक विद्यालय गोगहरा में प्रधानाध्यापक नहीं है और विद्यालय शिक्षामित्र के सहारे चलता है। यहां पर बच्चों के साथ शिक्षामित्र गोबर उठाकर फेंकते और साफ-सफाई करते हैं। कहते हैं कि विद्यालय में कभी-कभी दिन में ही मवेशी घुस आते हैं और आपस में लड़ने लगते हैं। इसके कारण पठन-पाठन तो प्रभावित होता ही है, बच्चों को चोट लगने का भी खतरा पैदा हो जाता है। लोगों के मुताबिक कहीं-कहीं विद्यालयों में मिड-डे मील पकाने के लिए बने रसोईघर में लावारिस कुत्ते लोटते दिखाई पड़ते हैं।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: आपके बच्चों से स्कूल में ये काम तो नहीं कराया जाता?

मिर्जापुर के बंधवा में बने पूर्व प्राथमिक पाठशाला की एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो में स्कूल के छात्रों से शौचालय साफ कराया जा रहा है।

30 दिसंबर 2017