विंध्यधाम में कला साधकों ने लगाई हाजिरी

Mirzapur Updated Mon, 06 Aug 2012 12:00 PM IST
विंध्याचल। जगत जननी मां विंध्यवासिनी का फूलों से किया गया अलौकिक शृंगार, विंध्य धाम की फूल-पत्तियों सहित रंग-बिरंगे कपड़ाें व गुब्बारों से की गई सजावट, घंटा, घड़ियाल, शंख और डमरू की गूंज के बीच श्रद्धालुओं के बीच हलवा व चना का प्रसाद वितरण तथा देश के ख्यातिलब्ध कला साधकों का गायन, नृत्य एवं वादन। यह सब नजारा मां विंध्यवासिनी के पावन दरबार में आयोजित जागरण की रात कार्यक्रम के दौरान देखने को मिला।
श्री विंध्यवासिनी आराधना केंद्र के तत्वावधान में विंध्य धाम में आयोजित देवी जागरण में देश के प्रख्यात कला साधकों ने अपनी उत्कृष्ट प्रस्तुतियों से अपनी हाजिरी लगाई। संस्था के 41 वें वर्ष के जागरण कार्यक्रम में हजारों दर्शनार्थी रात भर माता के आंगन में बैठकर भक्ति संगीत के साथ ही वादन एवं कत्थक नृत्य का संगम देख मंत्रमुग्ध हो गए। जागरण के कार्यक्रम का शुभारंभ संस्था के संस्थापक वरिष्ठ तीर्थ पुरोहित पंडित बच्चा लाल पाठक ने दीप प्रज्जवलित कर किया। कार्यक्रम में क्रम में जयपुर से आए गायक नईम अजमेरी ने अपने कई भक्तिमय प्रस्तुतियों को मां के चरणों में समर्पिंत किया। उन्होंने दीवाने तेरे आ गए नजारे तेरे भा गए.., आ जाओ मईया थोड़ा प्यार दे.., तथा मैने झोली फैला दी ओ मईया अब खजाना तू प्रेम का लुटा दे..प्रस्तुत कर मां की आराधना की। कोलकाता से आई गायिका प्रतिभा सिंह ने अपने मधुर भजनों से मां को मनाया। पद्म विभूषण सितारा देवी की पुत्री जयंती माला ने अपने भावपूर्ण कत्थक नृत्य की प्रस्तुति से सबका मन मोह लिया। दिल्ली से आए मनीष एवं कार्तिकेय ने कत्थक नृत्य की जुगलबंदी से दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। वाराणसी से आए अरविंद पांडेय ने वायलिन के धुन पर कजरी प्रस्तुत कर पूरे वातावरण को सावनमय बना दिया। तत्पश्चात् पद्म विभूषण स्व. पंडित किशन महाराज जी के पुत्र पूरन महाराज जी ने अपने तबला वादन से श्रोताओं को बांधे रखा। इसी क्रम में विशाल कृष्ण का एकल और मुंबई से आए जयंती माला व कुमारी रिशिका का युगलबंदी कत्थक नृत्य दर्शकों के सिर चढ़कर बोला। शाम छह बजे से सुबह छह बजे तक चले देवी जागरण कार्यक्रम में देश के कोने-कोने से आए कलाकारों ने अपनी भक्तिमय प्रस्तुतियों को मां के चरणों में समर्पित किया। कार्यक्रम के दौरान संस्था द्वारा सभी कलाकारों को अंगवस्त्रम् व स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया। समारोह की अध्यक्षता पंडित महेश्वरपति त्रिपाठी एवं संचालन विंध्य पंडा समाज के अध्यक्ष राजन पाठक ने किया। कलाकारों के साथ संगतकारों में मोहन वीणा पर राघवेंद्र नारायण व संजय वर्मा, सितार पर अवधेश, मीना व श्रुति, वायलिन पर विजयानंद, बांसुरी पर प्राज्जवल सिंह व अतुल शंकर, आर्गन पर हेमंत, तबला पर हंसराज सिंह व विवेक, सारंगी विनोद मिश्र व नाल पर राजू ने कुशल संगत किया।

Spotlight

Most Read

National

'पद्मावत' के विरोध में मल्टीप्लेक्स के टिकट काउंटर में लगाई आग

रात करीब पौने दस बजे चार-पांच युवक जिन्होंने अपने चेहरे ढक रखे थे, मॉल में आए और टिकट काउंटर के पास पहुंच कर उन्होंने हंगामा शुरू कर दिया।

20 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: आपके बच्चों से स्कूल में ये काम तो नहीं कराया जाता?

मिर्जापुर के बंधवा में बने पूर्व प्राथमिक पाठशाला की एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो में स्कूल के छात्रों से शौचालय साफ कराया जा रहा है।

30 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper