विज्ञापन
विज्ञापन

मिर्जापुर कइलू गुलजार हो कि बड़ा उपकार कइलू मईया...

Mirzapur Updated Mon, 30 Jul 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
विंध्याचल। जगत जननी मां विंध्यवासिनी देवी के पावन दरबार में अपनी हाजिरी लगाने पहुंचे देश के ख्यातिलब्ध कला-साधकों ने जीवन के विविध रंगों को कजरी के माध्यम से प्रस्तुत किया। विंध्य शक्ति संघ के तत्वावधान में विंध्याचल धाम में आयोजित 40 वें अखिल भारतीय कजली महोत्सव में कजरी गायन, वादन व मनोहारी नृत्यों का अद्भुत का संगम देखने को मिला।
विज्ञापन
विज्ञापन
कजली महोत्सव का शुभारंभ श्री विंध्य शक्ति संघ के सिद्धेश्वरी प्रसाद उपाध्याय ने ज्योति पूजन कर किया। कजरी गायन के क्रम में जिले की सुप्रसिद्ध कजरी गायिका श्रीमती अजीता श्रीवास्तव ने- मिर्जापुर कइलू गुलजार को कि बड़ा उपकार कइलू मईया और खोलअ-खोलअ धन केवड़िया हम विदेशवा जइबे ना..सुनाकर सावनी बयार बहाई। वाराणसी से आई प्रख्यात गायिका शैल बाला ने- चल देख आई विंध्याचल क निराली छटा ना.. .और श्रीमती ममता शर्मा ने- बरसन लागी बदरिया झूम-झूम के..तआइल सावन क बदरिया ना..प्रस्तुत कर श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया।आरा से आई बाल कलाकार साक्षी राज ने कार्यक्रम की शुरुआत गायत्री मंत्र से करके कई देवी गीतों और कजरी गायन की मधुर प्रस्तुतियों से महोत्सव में चार चांद लगा दिया। सुप्रसिद्ध गायक अमलेश शुक्ल अमन ने- विंध्याचल मां का अद्भुत श्रृंगार है सावनी बहार है ना..सुनाकर पूरे वातावरण को भक्तिमय बना दिया। गायक पट्टर पांडेय, कपींद्र उपाध्याय सहित कई अन्य कलाकारों ने भी कजरी के गायन से श्रोताओं पर एक अमिट छाप छोड़ी।आमंत्रित कलाकारों को संस्था के अध्यक्ष सिद्धेश्वरी प्रसाद उपाध्याय ने अंगवस्त्रम् और स्मृति चिन्ह भेंटकर सम्मानित किया। अधिकांश कलाकारों के साथ आर्गन पर राजू, तबला पर बृजेश, शहनाई पर बांकेलाल व ढोलक पर सोनू पाठक ने कुशल संगत किया। संचालन पटना से आए मनोज कुमार ने किया। इस दौरान राधा-कृष्ण के बरखा एवं मयूर नृत्य देख कर लोग मंत्रमुग्ध हो गए। सिद्धेश्वरी प्रसाद उपाध्याय, अंबेश्वरी प्रसाद उपाध्याय, शक्ति उपाध्याय, संरक्षक अशोक पांडेय व शैलबाला सहित तमाम गणमान्य लोगों ने रात भर कजरी गायन के रंग में सराबोर होते रहे।

नृत्यों और वादन की युगलबंदी से महोत्सव बना यादगार
विंध्याचल। विंध्याचल धाम में आयोजित अखिल भारतीय कजली महोत्सव के दौरान कलाकारों के मनोहारी नृत्यों के साथ ही तबला के साथ सितार व वायलिन की युगलबंदी देख लोग मंत्रमुग्ध हो गए। प्रख्यात तबला वादक अशोक पांडेय ने अपने बेहतरीन तबला वादन से से महोत्सव यादगार बन गया। श्री पांडेय के साथ वायलिन व सितार की भी जुगलबंदी के कार्यक्रम को भी लोगों की खूब वाहवाही मिली। नृत्यों के क्रम में इलाहाबाद से आई बीना सिंह ग्रुप की कलाकारों ने अपनी प्रस्तुतियों से चार चांद लगा दिया। ग्रुप में शामिल बीना सिंह के साथ ही सीमा, गीता, शिवानी, प्रतिभा, नेहा, कोमल, डाली, विशाल, शैंकी, राहुल ने मयूर नृत्य के साथ ही दीप, डांडिया, कृष्ण लीला, एवं बरखा नृत्य की पेशकश से खूब तालियां बटोरी, वहीं कत्थक नर्तक अजीत सिंह ने काली तांडव व मयूर नृत्य व राधा-कृष्ण नृत्य की प्रस्तुति से उपस्थित जनों का मन मोह लिया। इसी क्रम में श्याम बिहारी गौड़ ग्रुप के कलाकारों ने दर्शकों को खूब झुमाया।

Recommended

शनि जयंती (03 जून 2019, सोमवार) के अवसर पर शनि शिंगणापुर में शनि को प्रसन्न करने के लिए तेल अभिषेकम्
Astrology

शनि जयंती (03 जून 2019, सोमवार) के अवसर पर शनि शिंगणापुर में शनि को प्रसन्न करने के लिए तेल अभिषेकम्

कैसे होगा करियर, कैसा चलेगा व्यापार, किसे मिलेगी तरक्की और किसे मिलेगा प्यार ! जानिए विश्वप्रसिद्व ज्योतिषाचार्यो से
Astrology

कैसे होगा करियर, कैसा चलेगा व्यापार, किसे मिलेगी तरक्की और किसे मिलेगा प्यार ! जानिए विश्वप्रसिद्व ज्योतिषाचार्यो से

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव 2019 (lok sabha chunav 2019) के नतीजों में किसने मारी बाजी? फिर एक बार मोदी सरकार या कांग्रेस की चुनावी नैया हुई पार? सपा-बसपा ने किया यूपी में सूपड़ा साफ या भाजपा का दम रहा बरकरार? सिर्फ नतीजे नहीं, नतीजों के पीछे की पूरी तस्वीर, वजह और विश्लेषण। 23 मई को सबसे सटीक नतीजों  (lok sabha chunav result 2019) के लिए आपको आना है सिर्फ एक जगह- amarujala.com  Hindi news वेबसाइट पर.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Mirzapur

पीएम मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री बनाने के लिए दी गई 111 नारियलों की आहुति

लोक सभा चुनाव 2019 चुनाव खत्म होने के बाद अब सिर्फ रिजल्ट आना बाकी है...

22 मई 2019

विज्ञापन

जीत के बाद मां से मिलने पहुंचे पीएम मोदी, पैर छूकर मां हीराबेन से लिया आशीर्वाद

लोकसभा चुनाव में शानदार जीत के बाद अपनी मां हीराबेन का आशीर्वाद लेने पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी।पैर छुकर लिया आशीर्वाद।देखें तस्वीरें।

26 मई 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree