विज्ञापन

मिर्जापुर में भाजपाई तो चुनार में कांग्रेसी जीत के जश्न में डूबे

Mirzapur Updated Sun, 08 Jul 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
मिर्जापुर। मिर्जापुर नगर पालिका अध्यक्ष पद पर लंबी बढ़त के कारण इस सीट को भाजपा अपनी झोली में आना तय मानकर चल रही है। तीन चक्र की गणना में ही भाजपा प्रत्याशी राजकुमारी खत्री करीब सोलह हजार वोटों के अंतराल से अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी से आगे हो गई थीं। उन्हें बीस हजार वोट मिल चुके थे। वहीं स्थानीय निकाय चुनाव के बाद सभी चारों सीटों पर जीत का दावा करने वाले सभी पार्टियों के दावे हवा हवाई हो गए। किसी भी दल को सभी सीटें नहीं मिल सकी हैं। भाजपा को एक, कांग्रेस को एक तथा दो सीट निर्दलियों की झोली में चली गई है। इसमें से एक बसपा समर्थित उम्मीदवार बताई गई हैं।
विज्ञापन
नगर में तो सिर्फ भगवा ही लहराया। यहां पर अन्य सभी दलों को भगवा प्रत्याशी राजकुमारी खत्री ने प्रथम चक्र से ही काफी पीछे धकेल रखा था। देखा जाए तो पूरे चुनाव में कांग्रेस व भाजपा प्रत्याशी ही हर जगह लड़ते दिखे। उनकी यह स्थिति शायद सिंबल पर चुनाव लड़ने एवं मजबूत संगठन के कारण ही हो पाई।
साइकिल की लहर चलने के साथ ही सपा ने भले ही विधानसभा में अपना परचम लहराया हो लेकिन स्थानीय निकाय चुनाव में अपनी पतली हालत जानते हुए ही पार्टी ने अपने ही कार्यकर्ताओं को सिंबल पर चुनाव नहीं लड़ाया। हालांकि हर जगह सपा समर्थित उम्मीदवार मैदान में उतरे थे लेकिन मतदाताओं ने उन्हें सिरे से खारिज कर दिया। वहीं भाजपा एवं कांग्रेस प्रत्याशियों को मतदाताओं ने हाथों हाथ लिया। हालांकि अहरौरा व कछवां में निर्दल प्रत्याशियों ने ही बाजी मारी।
कछवां में बसपा समर्थित शबीला बेगम (1829 मत) ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी भाजपा प्रत्याशी प्रेमा देवी (1468 मत) को 361 मतों के अंतराल से पटखनी दी। कमोबेश यही हाल अहरौरा में भी रहा। यहां पर भी निर्दल प्रत्याशी दिलदार (5987 प्राप्त मत) ने कांग्रेस के इंद्रदेव (3574 प्राप्त मत) को 2413 वोटों के अंतर से हराया।
चुनार संवाददाता के अनुसार यहां पर कांग्रेस प्रत्याशी हसीना बेगम 6510 मत पाई। पालिकाध्यक्ष की कुर्सी को दोबारा अपने कब्जे में बनाए रखने में वह कामयाब रहीं। उनकी जीत के लिए मडि़हान के युवा कांग्रेस विधायक ललितेश पति त्रिपाठी एवं वाराणसी के कोलअसला से कांग्रेस विधायक अजय राय ने काफी पसीना बहाया था। चुनार में कांग्रेस की हसीना बेगम की निकटतम प्रतिद्वंद्वी निर्दल प्रत्याशी रीता यादव 5845 मत पाकर दूसरे नंबर पर रहीं। वहीं भाजपा प्रत्याशी रेखा वर्मा 5690 मत पाकर तीसरे पायदान पर चली गईं।
बताते चलें कि चुनाव बीतने के बाद भाजपा, कांग्रेस सहित अन्य छोटे दलों तथा सपा व बसपा समर्थित उम्मीदवारों ने भी जीत का दावा करते हुए जनता के प्रति आभार जताया था, लेकिन नतीजा निकलने के बाद चाहे वह सपा हों या बसपा या कांग्रेस, भाजपा सभी के होश फाख्ता हो गए।
इनसेट
घंटाघर पर भाजपा तो चुनार दुर्ग पर कांग्रेस का कब्जा
मिर्जापुर। नगर पालिका परिषद मिर्जापुर की सीट कांग्रेस के हाथ के पंजे से निकलकर दोबारा भाजपा की झोली में चली गई। वहीं चुनार में कांग्रेस अपनी सीट को बचाए रखने में कामयाब रही है। भाजपा व कांग्रेस को जहां एक-एक सीट मिलने की खुशी है तो दो सीटें गंवाने का गम भी है। वहीं पिछले चुनाव में चारों सीटों पर काबिज होने वाली क ांग्रेस सिर्फ चुनार में ही अपनी लाज बचा पाई है। वहीं बीजेपी को एक सीट का फायदा मिला है।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us