विज्ञापन
विज्ञापन

दो लाख उपभोक्ताओं ने दबा रखा है पीवीवीएनएल का एक हजार करोड़

राजदीप जाखड़, मेरठ Updated Thu, 07 Nov 2019 12:44 AM IST
demo pic
demo pic - फोटो : फाइल फोटो
ख़बर सुनें
बिजली उपभोक्ताओं द्वारा बकाया बिल अदा नहीं करने से पीवीवीएनएल की हालत खराब होती जा रही है। कंपनी के करीब दो लाख उपभोक्ताओं ने ही एक हजार करोड़ से ज्यादा का बिल दबाया हुआ है। 
विज्ञापन
आरसी जारी होने के बाद भी ये उपभोक्ता बकाया नहीं दे रहे हैं। कंपनी अधिकारियों का कहना है कि जो भी बकायेदार बकाया अदा नहीं करेगा उसके खिलाफ राजस्व विभाग से कार्रवाई की जाएगी।

भारी घाटे से जूझ रही प्रदेश की बिजली कंपनियों को संजीवनी देने के लिए केंद्र सरकार ने उदय योजना के तहत भारी वित्तीय मदद की है। ये मदद बिजली चोरी का ग्राफ 15 फीसदी तक लाने और राजस्व वसूली बेहतर करने की शर्त पर दिया गया है। 
पीवीवीएनएल को भी उदय योजना से करोड़ों रुपये की वित्तीय मदद मिली हुई है, लेकिन राजस्व वसूली और बिजली चोरी का ग्राफ अपेक्षा से कम होने के चलते वित्तीय मदद पर खतरे के बादल मंडराने लगे हैं। इससे बचने के लिए कंपनी ने उन उपभोक्ताओं से बकाया वसूली करने की कवायद तेज कर दी है जिनकी आरसी काटी जा चुकी है। 

कंपनी एमडी अरविंद मल्लप्पा बंगारी के मुताबिक इन बकायेदार उपभोक्ताओं से वसूली के लिए कंपनी के अधिकारी नियुक्त कर दिए हैं। ये अधिकारी राजस्व विभाग से समन्वय स्थापित कर बकाये की वसूली करेंगे।

मुरादाबाद जोन में सर्वाधिक बकाया
बंगारी ने बताया कि मुरादाबाद में सर्वाधिक बकायेदार है। इस जोन में 48 हजार 806 उपभोक्ताओं की आरसी काटी गई है। इन पर विभाग का 290 करोड़ रुपये बकाया चल रहा है।

मेरठ के उपभोक्ताओं ने भी दबा रखे हैं 102 करोड़
मेरठ के करीब तीस हजार उपभोक्ताओं ने भी कंपनी के करीब 102 करोड़ रुपये दबा रखे हैं। इन सभी की आरसी कटी हुई है। बकायेदारों के पास कंपनी का संदेश भी पहुंचाया गया है, लेकिन बहुत कम उपभोक्ता ही कार्रवाई से बचने के लिए बकाया अदा कर रहे हैं।

ये हैं कंपनी के दबे राजस्व का हाल
जोन                 बकायेदार उपभोक्ता         बकाया राशि (करोड़ रुपये में)
मेरठ                     29531                        102
गाजियाबाद             24120                        102
बुलंदशहर               24360                       101
सहारनपुर               35827                        167
नोएडा                   14383                        103
मुरादाबाद               48806                         290         

वसूली की जाएगी, नहीं तो कार्रवाई होगी
कंपनी के करीब दो लाख बकायेदार उपभोक्ताओं की आरसी काटी जा चुकी है। इन उपभोक्ताओं पर करीब एक हजार करोड़ रुपया बकाया है। तहसील प्रशासन को साथ लेकर इन उपभोक्ताओं से वसूली की जाएगी। जो उपभोक्ता बकाया नहीं देगा उसके खिलाफ कार्रवाई होगी। - अरविंद मल्लप्पा बंगारी, एमडी पीवीवीएनएल मेरठ
विज्ञापन

Recommended

पीरियड्स है करोड़ों लड़कियों के स्कूल छोड़ने का कारण
NIINE

पीरियड्स है करोड़ों लड़कियों के स्कूल छोड़ने का कारण

विनायक चतुर्थी पर सिद्धिविनायक मंदिर(मुंबई ) में भगवान गणेश की पूजा से खत्म होगी पैसों की किल्लत 30-नवंबर-2019
Astrology Services

विनायक चतुर्थी पर सिद्धिविनायक मंदिर(मुंबई ) में भगवान गणेश की पूजा से खत्म होगी पैसों की किल्लत 30-नवंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Meerut

मुजफ्फरनगर: पराली जलाने पर जुर्माने के विरोध में भड़के किसान, भाकियू ने घेरा प्रदूषण कार्यालय

किसानों पर प्रदूषण फैलाने के नाम पर किए गए जुर्माने के विरोध में भारतीय किसान यूनियन ने क्षेत्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड कार्यालय पर किया आंदोलन

19 नवंबर 2019

विज्ञापन

अर्पिता खान और आयुष शर्मा की शादी की सालगिरह की पार्टी में नजर आए बॉलीवुड के कई बड़े सितारे

बॉलीवुड के 'भाईजान' सलमान खान की बहन अर्पिता खान और आयुष शर्मा की शादी को 5 साल पूरे हो गए हैं। इस खास मौके पर सोमवार को एक खास पार्टी का आयोजन किया गया।

19 नवंबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election