तरस रहे किसान: सहारनपुर में सिर्फ पांच चीनी मिलों ने किया पूरा भुगतान, 1324 करोड़ रुपये बकाया, चेतावनी का प्रभाव नहीं

संवाद न्यूज एजेंसी, सहारनपुर Published by: सुशील कुमार कुमार Updated Tue, 24 Aug 2021 09:52 PM IST

सार

गन्ना विभाग के समय पर गन्ना मूल्य भुगतान कराने के तमाम प्रयास विफल साबित हो रहे हैं। नया पेराई सत्र शुगर होने में करीब दो महीने का समय है, लेकिन मंडल के किसान अभी भी पूरा बकाया गन्ना मूल्य पाने के लिए तरस रहे हैं।
चीनी मिल। (फाइल फोटो )
चीनी मिल। (फाइल फोटो ) - फोटो : अमर उजाला।
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

गन्ना विभाग और प्रशासनिक अधिकारियों ने बकाया गन्ना मूल्य भुगतान के लिए कई बार चीनी मिल प्रबंधकों को चेतावनी दी। अक्सर मीटिंग में भुगतान को लेकर कड़ा निर्देश दिया जा रहा है, लेकिन मंडल की 12 चीनी मिलों पर इसका प्रभाव नहीं हो रहा और करीब 1324 करोड़ रुपये भुगतान बकाया बना हैं। मंडल की 17 शुगर मिलों में से मात्र पांच ने ही गन्ना मूल्य का पूरा भुगतान किया है।
विज्ञापन


गन्ना विभाग के समय पर गन्ना मूल्य भुगतान कराने के तमाम प्रयास विफल साबित हो रहे हैं। नया पेराई सत्र शुगर होने में करीब दो महीने का समय है, लेकिन मंडल के किसान अभी भी पूरा बकाया गन्ना मूल्य पाने के लिए तरस रहे हैं। मंडल की 17 चीनी मिलों में से मात्र पांच ने ही पूरे गन्ना मूल्य का भुगतान किया है। जबकि शेष 12 मिलों पर 1324 करोड़ रुपये बकाया हैं। जल्द बकाया गन्ना मूल्य भुगतान कराने को लेकर गन्ना विभाग ने चीनी मिलों को कई बार नोटिस भी जारी किए हैं। इसके बाद भी  शुगर मिलें बकाया भुगतान में कोताही बरत रही हैं।


गांव नंदी फिरोजपुर के प्रगतिशील किसान सेठ पाल सिंह, चौरा खुर्द के किसान महक सिंह, बिड़वी के किसान सुधीर कुमार आदि का कहना है कि बकाया गन्ना मूल्य भुगतान नहीं होने से किसानों के सामने आर्थिक संकट पैदा हो गया है। किसानों को अपने बच्चों की फीस, दवाई से लेकर खेती की लागत के लिए भी उधार या कर्ज लेना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि या तो नियमानुसार मिल में गन्ना सप्लाई होने के 14 दिन में भुगतान हो, ऐसा नहीं होने पर बकाया गन्ना मूल्य पर ब्याज दिलाया जाए।

मंडल की पांच चीनी मिलें गन्ना मूल्य का पूरा भुगतान कर चुकी हैं। इनमें एक सहारनपुर और चार मुजफ्फरनगर जनपद की शुगर मिल हैं। मंडल में 78 प्रतिशत गन्ना मूल्य भुगतान हो चुका है। 12 चीनी मिलों पर अभी भी 1324 करोड़ रुपये बकाया हैं। सभी बकायेदार मिलों पर जल्द बकाया भुगतान करने के लिए दबाव बनाया है। - डॉ. दिनेश्वर मिश्र, उप गन्ना आयुक्त।

एक नजर में पेराई सत्र 2020-21
कुल गन्ना मूल्य- 6005 करोड़ रुपये
अब तक भुगतान -4681 करोड़ रुपये
अवशेष गन्ना मूल्य -1324 करोड़ रुपये
 
मंडल में बकाया गन्ना मूल्य
जनपद      बकाया
सहारनपुर    379 करोड़ रुपये
मुजफ्फरनगर  387 करोड़ रुपये
शामली     585 करोड़ रुपये

नोट: उप गन्ना आयुक्त कार्यालय के आंकड़ों के अनुसार।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00