मेरठ में बनेगा वेस्ट के बदमाशों का डाटा बैंक

Meerut Updated Wed, 19 Dec 2012 05:30 AM IST
मेरठ। वारदात के बाद बदमाश का अब दूसरे जिले में छुपकर रहना आसान न होगा। इसे रोकने के लिए मेरठ में पश्चिमी उत्तर प्रदेश का डाटा बैंक बनने जा रहा है। इस बैंक में पश्चिम के सभी बड़े अपराधियों के साथ ही ऐसे बदमाशों का नाम और क्राइम प्रोफाइल होगा, जो अपराध करने के बाद लापता हो जाते हैं।
इस बैंक में रोड होल्डअप, हत्या, बलात्कार, डकैती, लूट, अपहरण, वाहन चोरी, हाउस रॉबरी जैसे संगीन मामलों के अपराधियों का पूरा रिकार्ड श्रेणीबद्ध दर्ज होगा। हर बदमाश के व्यक्तिगत और शारीरिक विवरण के साथ ही उसकी आदतों, कपड़े पहनने का तरीका, उसके फिंगर प्रिंट और शौक का भी रिकार्ड रखा जाएगा। उसके द्वारा किए जाने वाले अपराध के तौर तरीकों, वारदात में अमूमन प्रयोग किए जाने वाले असलाह भी दर्ज होंगे। अपराधी के निकटतम रिश्तेदारों, उसके जमानतदारों, खास मित्रों के अलावा यदि कोई महिला मित्र है, तो उसका नाम भी दर्ज होगा।
क्यों
मेरठ, हापुड़, गाजियाबाद, गौतमबुद्ध नगर (नोएडा), बुलंदशहर, बागपत, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर जिलों के हर अपराधी का रिकार्ड इस बैंक में दर्ज होगा। यदि कोई बदमाश वेस्ट के किसी भी जिले में पकड़ा जाता है, तो उसका प्रोफाइल संबंधित जिले का जिला क्राइम रिकार्ड ब्यूरो (डीसीआरबी) डाटा बैंक के प्रभारी को नोट कराएगा। प्रभारी उस अपराधी का नाम अपने डाटा में सर्च करेगा। यदि उसका नाम पहले से दर्ज नही है, तो कर लिया जाएगा। इसके साथ ही वह बदमाश पूर्व में किन-किन जिलों में छुपकर रहा है, इसका डाटा भी दर्ज होगा। पश्चिम के अलावा दिल्ली का नाम भी इस सूची में दर्ज होगा।
फायदा
इस डाटा बैंक में दर्ज हर अपराधी पर लगातार नजर रखी जाएगी। किसी खास सूचना पर रेंज स्तर से एडवाइजरी जारी होगी।
इस योजना की तैयारियां अंतिम चरण में हैं। डाटा बैंक से पुलिस की पहुंच बदमाशों तक आसानी से होगी।
- जकी अहमद, प्रभारी आईजी जोन

Spotlight

Most Read

Kanpur

बाइकवालाें काे भी देना हाेगा टोल टैक्स, सरकार वसूलेगी 285 रुपये

अगर अाप बाइक पर बैठकर आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर फर्राटा भरने की साेच रहे हैं ताे सरकार ने अापकी जेब काे भारी चपत लगाने की तैयारी कर ली है। आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर चलने के लिए सभी वाहनों को टोल टैक्स अदा करना होगा।

17 जनवरी 2018

Related Videos

NGT के एक आदेश पर ये बोले केंद्रीय राज्यमंत्री डॉ सत्यपाल सिंह

बागपत में केंद्रीय मानव संसाधन राज्यमंत्री डॉ सत्यपाल सिंह ने एनजीटी के इस आदेश का सही बताया जिसमें NGT ने फैक्ट्रियों की जांच के लिए कहा था।

18 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper