रैपिड रेल की ‘राह’ बनी, एयरपोर्ट पर संदेह के बादल

Meerut Updated Tue, 04 Dec 2012 05:30 AM IST
मेरठ। राजनीति की रस्साकसी में फंसे मेरठ के डोमेस्टिक एयरपोर्ट पर संदेह के बादल मंडराने लगे हैं। मेरठ से घरेलू उड़ान की शुरुआत के लिए अभी तक फिजिबिलटी रिपोर्ट जारी नहीं हो सकी है, लेकिन रैपिड रेल की कामयाबी पर मुहर लग गई है। आरआरटीएस प्रोजेक्ट की फिजिबिलटी रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली-मेरठ रूट पर पहले ही वर्ष रोजाना पांच लाख यात्री मिलेंगे। इस समय सिर्फ मेरठ से ही करीब 50 हजार लोग रोजाना दिल्ली का सफर तय कर रहे हैं।
गुरुवार को केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय के तहत दिल्ली में अहम बैठक हुई। इसमें रैपिड रेल को भविष्य के लिए बेहद कारगर माना गया। फिजिबिलटी सर्वे रिपोर्ट (संचालन शुरू होने पर मिलने वाले यात्रियों की संख्या) भी इसी ओर इशारा कर रही है।
आरआरटीएस योजना के लिए सलाहकार कंपनी डीआईएमटीएस के उपाध्यक्ष समीर शर्मा से प्राप्त जानकारी के अनुसार दिल्ली-मेरठ रूट पर हर रोज पांच लाख से अधिक यात्री मिलने का आकलन किया गया है। सिर्फ मेरठ से ही रोजाना करीब पचास हजार लोग रेल, बस, निजी वाहनों से दिल्ली जाते हैं।
उधर परतापुर हवाई पट्टी को डोमेस्टिक एयरपोर्ट के रूप में विकसित करने के प्रयासों की सफलता संदेह के दायरे में है। स्थानीय स्तर पर अब तक इस प्रोजेक्ट की फिजिबिलटी सर्वे रिपोर्ट ही हासिल नहीं हुई है। यह रिपोर्ट ही रूटवार मिलने वाले यात्रियों की संख्या को उजागर करेगी।
इसी रिपोर्ट पर डोमेस्टिक एयरपोर्ट का भविष्य निर्भर करेगा। डोमेस्टिक एयरपोर्ट को लेकर प्रदेश सरकार और केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री चौधरी अजित सिंह के बयानों में विरोधाभास सामने आ रहे हैं।
दोनों प्रोजेक्ट पर एक नजर
रैपिड रेल
दिल्ली (निजामुद्दीन), दुहाई, गाजियाबाद, मुरादनगर, मोदीनगर होते हुए शताब्दीनगर से रैपिड रेल मेरठ में दाखिल होगी। जनपद में रैपिड रेल दो रूटों से सफर तय करेगी।
शताब्दी नगर से भूमिगत रास्ते से नौचंदी ग्राउंड, गढ़ अड्डा होते हुए यह मेडिकल पहुंचेगी। दूसरा रूट बेगमपुल, मोदीपुरम होते हुए दौराला पहुंचेगा।
डोमेस्टिक एयरपोर्ट
परतापुर हवाई पट्टी मौजूदा समय में 80 मीटर चौड़ी और 1800 मीटर लंबी है। विस्तारीकरण के बाद यह 200 मीटर चौड़ी और 2700 मीटर लंबी हो जाएगी। ऐसे में यहां दिन के साथ रात में भी विमान उतर सकेंगे।

Spotlight

Most Read

Lucknow

भयंकर हादसे के शिकार युवक ने योगी से लगाई मदद की गुहार, सीएम ने ट्विटर पर ये दिया जवाब

दुर्घटना में रीढ़ की हड्डी टूटने से लकवा के शिकार युवक आशीष तिवारी की गुहार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सुनी ली। योगी ने खुद ट्वीट कर उसे मदद का भरोसा दिलाया और जिला प्रशासन को निर्देश दिया।

20 जनवरी 2018

Related Videos

बुलंदशहर की ये बेटी पाकिस्तान को कभी माफ नहीं करेगी, देखिए वजह

पाकिस्तान की नापाक हरकतों की वजह से शुक्रवार को बुलंदशहर के रहने वाले जगपाल सिंह शहीद हो गए। जगपाल सिंह एक दिन बाद अपनी बेटी की शादी के लिए घर आने वाले थे।

20 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper