काली नदी के ‘काल’ पर रोक नहीं

Meerut Updated Mon, 26 Nov 2012 12:00 PM IST
मोदीपुरम। पेपर मिलों और फैक्ट्रियों के केमिकल युक्त पानी के कारण काली नदी ‘काल’ बन गई है। क्षेत्र के देदवा, जलालपुर, उलखपुर, सैनी, नौरंगाबाद, भराला, पनवाडी, खेड़ी, सिमौली, अझौता, धंजू, इकलौता, मोहम्मदपुर समेत कुछ और गांवों का भूगर्भ जल प्रदूषित हो गया है।
बीते पांच साल में इन गांवों के 50 से अधिक लोग कैंसर, पीलिया, पेट की बीमारी, क्षय रोग, गला रोग, सिरदर्द, उल्टी-दस्त आदि बीमारियों से जान गंवा चुके हैं। सैकड़ों लोग किस्म-किस्म की बीमारियों की चपेट में हैं। लगातार बीमारियों से तंग आकर अब तक सैकड़ों लोग गांव छोड़ चुके हैं। विधायक सत्यप्रकाश अग्रवाल, हुकुम सिंह और नसीब पठान द्वारा मामला विधानसभा और विधानपरिषद में उठाने के बाद प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की नींद टूटी है। बोर्ड ने बागपत और मेरठ की 13 पेपर मिलों को नोटिस देने के साथ ही उनसे बैंक गारंटी मांगी है।
उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी डा. ब्रजेश बहादुर ने बताया कि पनवाड़ी, मीठेपुर, देदवा में पीने के पानी की जांच कराई गई थी। इसमें कलर, आयरन हार्डनेस, कैल्सियम, मैग्नीशियम, क्लोराइड, सल्फेट की मात्रा मानक से अधिक पाई गई है। यह पानी पीने योग्य नहीं है।
ग्रामीणों की माने तो अलग-अलग रोगों से पांच साल में देदवा में 20, पनवाडी में पांच, मोहम्मदपुर में पांच, लावड़ में सात, अझौता में छह, खेड़ी में पांच, समौली में तीन, दौराला में दो और भराला में दो लोगों की जान जा चुकी है।
देदवा निवासी वेगवरी ने बताया कि पति बीरम सिंह को जहरीले पानी के कारण कैंसर हो गया था। बाद में उसकी मौत हो गई। देदवा के महेश के पिता भी कैंसर से मरे हैं। महेश ने गांव छोड़ दिया। नरेश, शकुंतला और प्रमोद का कहना है कि गांवों में बड़े पैमाने पर इंडिया मार्क टू हैंडपंप जरूर लगे हैं, लेकिन इनका भी पानी प्रदूषित है। ग्रामीणों ने आरओ लगवाए हैं। वे पशुओं को भी जल निगम की सप्लाई का पानी पिलाते हैं।

Spotlight

Most Read

Lakhimpur Kheri

हिंदुस्तान बना नौटंकी, कलाकार है पक्ष-विपक्ष

हिंदुस्तान बना नौटंकी, कलाकार है पक्ष-विपक्ष

22 जनवरी 2018

Related Videos

‘आओ साइकिल चलाएं’ कार्यक्रम का आयोजन, होगा ये फायदा

बागपत में एक पेट्रोल पंप पर 'आओ साइकिल चलाएं' कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में केंद्रीय मानव संसाधन राज्यमंत्री डॉ सत्यपाल सिंह भी शामिल हुए।

22 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper