अब्दुल्लापुर बवाल में 139 पर मुकदमा

Meerut Updated Sun, 25 Nov 2012 12:00 PM IST
मेरठ। अब्दुल्लापुर में शिया-सुन्नी पक्ष के बीच हुए टकराव के बाद शनिवार को तनावपूर्ण शांति रही। पुलिस अफसरों ने क्षेत्र में मार्च निकाला और शांति बनाए रखने की अपील की। इस मामले में दोनों पक्षों से दो-दो एफआईआर में 139 लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई है। पुलिस ने सुन्नी पक्ष से पूर्व पार्षद नदीम और खुर्शीद को हिरासत में लिया है।
शुक्रवार रात अब्दुल्लापुर गांव में मोहर्रम के जुलूस के दौरान शिया और सुन्नी पक्ष के लोगों में टकराव हो गया था। जमकर पथराव के साथ फायरिंग की गई थी। पुलिस, पीएसी और आरएएफ को हालात संभालने में कड़ी मशक्कत करनी पड़ी थी। शनिवार को इलाके में फ्लैग मार्च निकाला गया। अफसरों ने अभियान चलाकर कुछ घरों में असलहों की तलाश की। दोनों पक्षों के लोगों के यहां बैठक कर हिदायत दी कि माहौल बिगाड़ने की कोशिश की, तो बख्शा नहीं जाएगा।
शिया पक्ष ने किए 85 नामजद
शिया पक्ष के अली जहीर ने सुन्नी पक्ष के सात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। आबिद अब्बास की तरफ से 78 लोगों को नामजद किया गया है। रिपोर्ट में कातिलाना हमला और बलवे की धाराएं लगाई गई हैं।
सुन्नी पक्ष ने 54 नामजद किए
सुन्नी पक्ष से इस्लामुद्दीन ने शिया पक्ष के 36 लोगों के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई है। वहीं जमील ने 18 लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। इनकी तरफ से भी कातिलाना हमला और बलवे की धाराएं लगी हैं।
चार लाइसेंसी असलाह कब्जे में
अब्दुल्लापुर से पुलिस ने चार लाइसेंसी असलाह कब्जे में लिए हैं। अफसरों का कहना है कि नामजद आरोपियों के पास यदि शस्त्र लाइसेंस हैं, तो उन्हें निरस्त करने की रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को भेजी जाएगी।
दिन में दिखे रात के निशान
किस कदर पथराव हुआ और गोलियां चलीं, उसके निशान शनिवार सुबह दिखे। किसी के मकान की खिड़की का शीशा टूटा हुआ था, तो किसी के आंगन में पत्थर भरे थे। गलियां भी पत्थरों से पटी हुई थीं। दीवारों में गोलियों के निशान साफ दिख रहे थे। सफाई करके पत्थरों को हटाया गया।
‘मुहर्रम पर कड़ी चौकसी’
अब्दुलापुर में हुए बवाल को देखते हुए एसएसपी ने शनिवार को पुलिस लाइन में विशेष बैठक की। उन्होंने बताया कि अब्दुलापुर में मोहर्रम के जुलूस को देखते हुए सुरक्षा की दृष्टि से 1-1 कंपनी पीएसी और आरएएफ, एक एएसपी, दो सीओ, 5 इंस्पेक्टर, 15 दारोगा और 125 सिपाही तैनात किए गए हैं। शहर में मुख्य जुलूस में 15 सीसीटीवी कैमरे, 4 कंपनी पीएसी, 1 कंपनी आरएएफ और स्थानीय पुलिस बल तैनात रहेगा। सभी जुलूसों की अलग से वीडियोग्राफी कराई जा रही है। पुलिस की सभी टीम दंगा नियंत्रण उपकरणों से लैस की गई हैं।
‘रूट डायवर्ट होगा’
दस मोहर्रम यानी आज सबसे बड़ा जुलूस छोटी करबला चौड़ा कुआं व इमामबाड़ा मनसबिया से प्रारंभ होकर घंटाघर, मेनका सिनेमा से होकर मनसबिया रेलवे रोड पहुंचेगा। इसके अलावा लालकुर्ती से रात के समय चौकियों का जुलूस निकलेगा जो सोतीगंज, केसरगंज, रेलवे रोड चौराहा होते हुए ईदगाह हाजी साहब कब्रिस्तान पहुंचेगा। इसके अलावा जहिदियान से भी जुलूस पैंठ एरिया, इंद्रा चौक, मोहनपुरी होकर मखदूम शाह विलायत कब्रिस्तान पहुंचेगा। एसएसपी के अनुसार इस दौरान संबंधित मार्गों से रूट डायवर्जन किया जाएगा।
मेरठ से अब्दुल्लापुर गए अजादार
मेरठ। अब्दुल्लापुर में मोहर्रम के मातमी जुलूस में शरीक होने के लिए मेरठ के विभिन्न मोहल्लों से शिया सोगवार पहुंचे। अजादार शाह अब्बास जैदी ने बताया कि मेरठ से जैदी सोसाइटी, सेक्टर चार व 10 शास्त्री नगर, जैदी फार्म, मोहसिन बाग, पूर्वा फैय्याज अली, बड़ी मंसाबिया, कोटला, वैली बाजार, जैदियान, बुढ़ाना गेट, खिरवा जलालपुर के लोग वहां पहुंचे। अब्दुल्लापुर में रात 12 बजे मशाल के साथ मातमी जुलूस निकाला गया। जिस रूट से जुलूस निकला, उस पर मकानों के बाहर अंधेरा रहता है। सिर्फ मशालों के प्रकाश के साथ ही जुलूस निकलता है।

Spotlight

Related Videos

बागपत: पत्नी की हत्या के आरोप में बीएसएफ जवान गिरफ्तार

बागपत में पत्नी की हत्या के आरोप में बीएसएफ के जवान को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने आरोपी जवान की पत्नी गीता की लाश बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दी है।

23 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper