आशा कार्यकत्रियों को भोजन के 150 रुपये मिलने बंद

Meerut Updated Fri, 12 Oct 2012 12:00 PM IST
मेरठ। जननी स्वास्थ्य सुरक्षा योजना को बढ़ावा देेने के लिए केंद्र सरकार आशा कार्यकत्रियों को प्रति मरीज 200 रुपये प्रोत्साहन राशि देती है। भोजन की व्यवस्था के लिए 150 रुपये और उपलब्ध कराती है।
उत्तर प्रदेश सरकार ने समाजवादी स्वास्थ्य सेवा के तहत जिले को 16 एंबुलेंस उपलब्ध करवा दी हैं। इसलिए आशा कार्यकर्ताओं को मरीज लाने और ले जाने की जिम्मेदारी से मुक्त कर दिया गया है, जिससे वे 250 रुपये से पहले ही वंचित हो गई हैं। अब मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. अमीर सिंह का कहना है कि आशा कार्यकत्रियों को भोजन की जिम्मेदारी से भी मुक्त कर दिया जाएगा, जिससे उन्हें 150 रुपये मिलने बंद हो जाएंगे। जिले के चार सामुदायिक और नौ प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर जल्द ही भोजन बनाने की व्यवस्था कर दी जाएगी।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी करार

रांची स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले के तीसरे मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया है। साथ ही पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

बागपत: पत्नी की हत्या के आरोप में बीएसएफ जवान गिरफ्तार

बागपत में पत्नी की हत्या के आरोप में बीएसएफ के जवान को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने आरोपी जवान की पत्नी गीता की लाश बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दी है।

23 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls