रसोई गैस की कालाबाजारी पर फूटा गुस्सा

Meerut Updated Fri, 12 Oct 2012 12:00 PM IST
मेरठ। रसोई गैस में कोटा प्रणाली लागू करने के बाद से इसकी कालाबाजारी और ज्यादा बढ़ गई है। आलम यह है कि अब सब्सिडी पर दिए जाना वाला गैस सिलेंडर भी ब्लैक में बेचा जा रहा है। इसके विरोध में गुरुवार को भारतीय जनता मजदूर महासंघ के कार्यकर्ताओं का गुस्सा फूट पड़ा। महासंघ के कार्यकर्ताओं ने जिलापूर्ति कार्यालय (डीएसओ) पर हंगामा किया और ताले जड़ दिए।
महासंघ के जिलाध्यक्ष प्रदीप ढडरा के नेतृत्व में दर्जनों कार्यकर्ता कमिश्नरी चौराहे पर इकट्ठा हुए। यहां से जुलूस का रूप धारण करके नारेबाजी करते हुए एमडीए बिल्डिंग स्थित जिलापूर्ति कार्यालय पर पहुंचे। कार्यकर्ताओं ने गैस की कालाबाजारी के विरोध में मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए कार्यालय के दरवाजों पर ताले जड़ दिए। हालांकि बाद में वहां मौजूद इंस्पेक्टर प्रतिमा सिंह और अन्य महिला कर्मचारियों के निवेदन पर ताले खोल दिए गए। सूचना पाकर कार्यालय में डीएसओ डीएन श्रीवास्तव भी पहुंच गए।
उधर, महासंघ के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सुनील भराला भी मौके पर पहुंच गए। सुनील भराला ने कहा कि गैस की कालाबाजारी चरम पर है। गैस एजेंसियों के हॉकर खुलेआम इसे अंजाम दे रहे हैं। अगर गैस की कालाबाजारी बंद नहीं की गई तो सड़कों पर उतरकर आंदोलन किया जाएगा। प्रदर्शनकारियों की नाराजगी के सामने डीएसओ कोई संतुष्ट जवाब नहीं दे पाए। प्रदर्शन करने वालों में राजकुमार कौशिक, पुष्पेंद्र सोम, गीता ठाकुर, सविता, कमलेश, वेदप्रकाश, मोनू ठाकुर, जय गणेश वर्मा, गोपाल, रविंद्र, हरिओम आदि मुख्य रहे।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी करार

रांची स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले के तीसरे मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया है। साथ ही पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

बागपत: पत्नी की हत्या के आरोप में बीएसएफ जवान गिरफ्तार

बागपत में पत्नी की हत्या के आरोप में बीएसएफ के जवान को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने आरोपी जवान की पत्नी गीता की लाश बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दी है।

23 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls