बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW

25 लड़ाके करेंगे जोर आजमाइश

Meerut Updated Fri, 12 Oct 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
मेरठ। सीसीएसयू कैंपस छात्र संघ चुनाव में नामांकन प्रक्रिया पूरी हो गई है। बृहस्पतिवार को स्क्रूटनी और नाम वापसी का दिन था। लिंगदोह समिति के नियमों पर खरे नहीं उतरने की वजह से नौ प्रत्याशियों का नामांकन रिजेक्ट हो गया। सबसे ज्यादा पांच रिजेक्शन और चार नाम वापसी अध्यक्ष पद पर हुई। दो रिजेक्शन महामंत्री, एक-एक रिजेक्शन संयुक्त सचिव और कोषाध्यक्ष पद के लिए हुआ। सात प्रत्याशियों ने नाम वापस लिए। अब चुनाव मैदान में 25 प्रत्याशी हैं। रिजेक्शन को लेकर छात्रों ने डीएसडब्लू कार्यालय के बाहर हंगामा भी किया। मौके पर एसीएम और सीओ पहुंचे। मामले में जांच करने की बात कही जा रही है।
विज्ञापन

अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, महामंत्री, संयुक्त सचिव और कोषाध्यक्ष पद के लिए बुधवार को 41 नामांकन हुए थे। सबसे ज्यादा 15 नामांकन अध्यक्ष के लिए हुए थे। बृहस्पतिवार को जब स्क्रूटनी और नाम वापसी हुई तो अध्यक्ष पद की संख्या सबसे ज्यादा रही। नौ प्रत्याशियों का नामांकन अस्वीकार कर दिया गया। चार प्रत्याशी उम्र ज्यादा होने की वजह से बाहर हुए तो पांच अनुशासनात्मक कार्रवाई की वजह से चुनाव नहीं लड़ सकेंगे। छात्रों ने स्क्रूटनी पर सवाल खड़े किए हैं। देर शाम इसको लेकर डीएसडब्लू कार्यालय के बाहर हंगामा भी हुआ। रिजेक्ट छात्रों ने अनुज कुमार और धर्मेंद्र कुमार का फार्म स्वीकार करने पर आपत्ति जताई। दोनों के खिलाफ एफआईआर दर्ज होने का आरोप लगाया। इलेक्शन कमिश्नर प्रो. एनसी लोहनी ने मामले की जांच कर स्थिति स्पष्ट करने का आश्वासन दिया। अध्यक्ष पद के लिए उम्र ज्यादा होने पर रिजेक्ट किए गए कपिल कुमार ने भी विरोध किया। लिंगदोह नियम में पीएचडी छात्रों के लिए उम्र सीमा 28 साल है। वह एमफिल कर रहा है और उसकी उम्र 25 साल 10 महीने है। एमफिल भी एक रिसर्च प्रोजेक्ट है। कपिल का कहना है कि वह कोर्ट में अपील करेगा। उपाध्यक्ष पद के लिए न तो कोई रिजेक्शन है और न ही किसी ने नाम वापस लिया है।

अश्विनी के रिजेक्शन पर सवाल
महामंत्री पद के उम्मीदवार अश्विनी कुमार के रिजेक्शन पर छात्रों ने सवाल खड़े किए हैं। अनुशासनात्मक कार्रवाई हवाला देते हुए रिजेक्शन किया गया है। छात्रों का कहना है कि अश्विनी को केवल चेतावनी दी गई थी। यह अनुशासनात्मक कार्रवाई नहीं हुई। डीएसडब्लू बोर्ड और प्रोक्टोरियल बोर्ड मामले की फिर से जांच कर रहा है।
अध्यक्ष पद के उम्मीदवार
नाम विभाग
अरुण यादव बीटेक एमई
भूपेंद्र सिंह एमएससी एप्लॉयड माइक्रोबायोलॉजी
धर्मेंद्र कुमार एमए समाजशास्त्र
राहुल कुमार एमए राजनीतिशास्त्र
संजीव कुमार पीएचडी राजनीतिशास्त्र
एसडी मिश्रा एमएससी मेडिसन माइक्रोबायोलॉजी
विकास कुमार बीटेक एमई

उपाध्यक्ष के उम्मीदवार
नाम विभाग
हेमंत सिंह बीटेक ईसी
मीनल गौतम एलएलबी
विजय कुमार बीटेक एमई

महामंत्री के उम्मीदवार
नाम विभाग
अनुज कुमार एमएससी टॉक्सोलॉजी
परवेंद्र सिंह एमफिल समाजशास्त्र
रजनीश पंवार एमए लोक प्रशासन
राहुल वरधान बीटेक आईटी
संदीप निमेश एलएलबी


इनका हुआ रिजेक्शन
नाम नामांकन पद वजह
आयुष पंवार अध्यक्ष अनुशासनात्मक कार्रवाई
कपिल कुमार अध्यक्ष उम्र ज्यादा
राहुल कुमार अध्यक्ष उम्र ज्यादा
उदयपाल सिंह अध्यक्ष उम्र ज्यादा, अनुशासनात्मक कार्रवाई
विजय रत्नम अध्यक्ष अनुशासनात्मक कार्रवाई
अश्विनी कुमार महामंत्री अनुशासनात्मक कार्रवाई
आयुष पंवार महामंत्री अनुशासनात्मक कार्रवाई
विशाल कुमार संयुक्त सचिव उम्र ज्यादा
करमबीर सिंह कोषाध्यक्ष बैक पेपर, यूएफएम


इन्होंने लिए नाम वापस
नाम पद
नरेंद्र कुमार अध्यक्ष
परवेंद्र सिंह अध्यक्ष
राहुल कुमार अध्यक्ष
विकास कुमार अध्यक्ष
मोहित कुमार महामंत्री
संयुक्त सचिव योगेंद्र शर्मा
कोषाध्यक्ष प्रवीण गुप्ता

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X