बुखार, डेंगू से तीन मौत

Meerut Updated Wed, 03 Oct 2012 12:00 PM IST
परतापुर/मेरठ। बुखार ने कहर बरपाना शुरू कर दिया है। परतापुर क्षेत्र के गगोल गांव में बुखार ने दो जिंदगी लील ली। वहीं, डेंगू मच्छर ने भी डंक मारना शुरू कर दिया है। शहर के तीन अस्पतालों में डेंगू के तीन नए मामले सामने आए हैं। कुल मिलाकर तीन मौत हो गई हैं।
गगोल में 20 दिनों से बुखार का प्रकोप है। आठ दिन में दो मासूम इसके शिकार हो चुके हैं। दिलशाद पुत्र इकबाल और अरमान पुत्र यासीन ने दम तोड़ दिया है। वायरल ने साक्षी, सुमित, राजेंद्र, रामकिशन, जमशेद, शिवम, सागर, लक्की, प्रियांशु, पायल और देवेंद्र सहित दर्जनों को चपेट में ले रखा है। स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया है। मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने गांव का दौरा किया। बिना दवाई पहुंची टीम को ग्रामीणों के आक्रोश का सामना करना पड़ा। बृहस्पतिवार को कैंप लगाने का आश्वासन देकर टीम के डॉक्टर वहां से खिसक लिए। टीम के जाते ही एक और मासूम ने दम तोड़ दिया।
वहीं डेंगू के डंक से अलग-अलग अस्पतालों में तीन लोग भर्ती हुए हैं। वहीं, बागपत में तैनात एक सिपाही की उपचार के दौरान मौत हो गई। बेगमपुल रोड स्थित एक निजी अस्पताल में माछरा निवासी 16 वर्षीय किशोर को डेंगू के कारण भर्ती किया गया है। बागपत निवासी 20 वर्षीय युवक को बच्चा पार्क स्थित निजी अस्पताल में डेंगू के कारण भर्ती किया गया है। तीसरा मामला हापुड़ का है। 22 वर्षीय युवक को तेज बुखार और नाक से खून बहने के बाद एलएलआरएम कालेज के पास स्थित निजी अस्पताल में भर्ती किया गया है। वहीं, बागपत अग्रवाल मंडी पुलिस चौकी पर तैनात सिपाही रामेश्वर दयाल शर्मा की मेरठ मेडिकल कालेज में उपचार के दौरान मौत हो गई। हालांकि एलएलआरएम मेडिकल कालेज मेडिसन विभागाध्यक्ष प्रो. टीवीएस आर्या ने मेडिकल कॉलेज में डेंगू से मौत होने से इंकार कर रहे हैं। लेकिन परिजन इसे डेंगू का मामला बता रहे हैं।
स्वास्थ्य केंद्र पर दवाई नहीं मिलती
परतापुर। गगोल के ग्रामीणों ने बताया कि ग्राम में स्थित स्वास्थ्य केंद्र पर समय पर न तो दवाइयां मिल पाती हैं और न ही दवाई देने वाले। एक वर्ष पहले भी पूरे ग्राम को इसी वायरल ने चपेट में ले लिया था। उस समय स्वास्थ्य विभाग कि टीम गांव आई तो, लेकिन पीड़ित बच्चों के नाम लिखकर ले गई। मजबूरी में इलाज के लिए ग्रामीण रोगी को झोलाछाप डॉक्टर के पास लेकर जाते हैं, जहां इलाज के नाम पर उन्हें लाल पीली गोलियां दे दी जाती हैं।
कैसे हो जाता है जानलेवा
जब खून में प्लेटलेट्स 20,000 से कम हो जाता है, तो मरीज पर मौत का खतरा मंडराने लगता है। ऐसे मरीजों की वेंटिलेटर पर भी रखना पड़ जाता है।
कैसे फैलता है डेंगू
एडीज मच्छर के काटने से डेेंगू का संक्रमण फैलता है। एक व्यक्ति से दूसरे में मच्छरों के द्वारा ही यह बीमारी फैलती है।
लक्षण
कमजोरी
तेज बुखार
सिर दर्द
बदन दर्द
पेट दर्द
मांस पेशियों में दर्द
नाक से खून निकलना
शरीर पर गुलाबी रंग के चकत्ते
आंख की पुतली के पीछे दर्द होना
रोकथाम
कूलर और गमले में पानी जमा न होने दें
मच्छरदानी का प्रयोग करें

Spotlight

Most Read

Dehradun

देहरादून: 24 जनवरी को कक्षा 1 से 12 तक बंद रहेंगे सभी स्कूल और आंगनबाड़ी केंद्र

मौसम विभाग की ओर से प्रदेश में बारिश की चेतावनी के चलते डीएम ने स्कूल और आंगनबाड़ी केंद्र बंद करने के निर्देश जारी किए हैं।

23 जनवरी 2018

Related Videos

बागपत: पत्नी की हत्या के आरोप में बीएसएफ जवान गिरफ्तार

बागपत में पत्नी की हत्या के आरोप में बीएसएफ के जवान को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने आरोपी जवान की पत्नी गीता की लाश बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दी है।

23 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper