...और बढ़ गया गैसा का झाम

Meerut Updated Sat, 29 Sep 2012 12:00 PM IST
मेरठ। गैस को लेकर पूरा निजाम बदल गया है। उपभोक्ताओं के घर पर गैस की होम डिलीवरी होना तय है। इसके बाद भी गैस गोदामों पर उपभोक्ताओं की लंबी कतारें लगी हैं। उधर, कर्मचारियों और उपभोक्ताओं के बीच नोकझोंक होना आम बात है। शुक्रवार को ‘अमर उजाला’ ने शहर की सभी गैस एजेंसियों और उनके गोदामों पर पहुंचकर उपभोक्ताओं का दर्द जाना।
केस एक : सुबह 8.30 बजे। सूरजकुंड-कचहरी नाले के किनारे एचपी गैस के गोदाम पर सिलेंडरों से भरी गाड़ी खड़ी थी। गैस के इंतजार में चार लोग सिलेंडर लेकर खड़े मिले। गोदाम बंद था।
केस दो : सुबह 8.40 बजे, खिर्वा रोड स्थित भारत की मधु गैस एजेंसी के गोदाम के बाहर खाली मैदान में गैस के लिए लोगों की लंबी लाइन लगी मिली। कर्मचारी और उपभोक्ताओं में नोकझोंक हो रही थी।
केस तीन : सुबह 9 बजे, कचहरी रोड स्थित अनाथालय के निकट इंडेन कंपनी पासी और विजयंत गैस एजेंसियों के गोदाम हैं। हॉकर साइकिलों पर सिलेंडर लादते मिले।
केस चार : सुबह 10 बजे, दिल्ली चुंगी स्थित ओबराय गैस एजेंसी के हॉकर होम डिलीवरी के लिए ट्रक से साइकिलों पर सिलेंडर लादते मिले।
केस पांच : सुबह 10.30 बजे, रिठानी शताब्दीनगर में बालसुंदरा गैस एजेंसी पर कर्मचारी तो मिले, लेकिन उपभोक्ता नहीं थे।
किसको कब देनी है गैस, हमारी मर्जी
मेरठ। किसको कब और कितनी गैस देनी है, वह हमारी मर्जी पर आधारित है। जो मर्जी शोर मचाओ, गैस लेनी है तो लाइन में लगना ही पड़ेगा। तेज आवाज में बोलोगे तो खाली हाथ लौटोगे। यह कहना है कंकरखेड़ा खिर्वा रोड स्थित भारत एजेंसी के गोदाम के सामने गैस वितरण कर रहे कर्मचारी संजय शर्मा के। शुक्रवार को जब ‘अमर उजाला’ टीम यहां पहुंची तो कर्मचारियों द्वारा ब्लैक करने वालों को पहले गैस देने के विरोध में उपभोक्ता कर्मचारी संजय से भिड़ रहे थे। संजय ने उन्हें चेतावनी देते हुए कहा कि किसको कब और कितनी गैस देनी है, यह हमारी मर्जी है।
लाइन में खड़े कंकरखेड़ा अशोकपुरी निवासी सतीश ठेकेदार ने बताया कि तीन माह से गैस कनेक्शन कटा है। सिलेंडर नहीं मिल रहे हैं। रामनगर निवासी संदीप ने बताया कि गैस के लिए सुबह छह बजे से लाइन में लगे हैं। अब भी पता नहीं मिलेगा भी या नहीं। जंगेठी निवासी रामकुमार कहते हैं कि प्रतिमाह वह गोेदाम पर ही आते हैं। गैस मिल जाती है, लेकिन कर्मचारी बुरा व्यवहार करते हैं। रामनगर निवासी सतेंद्र ने बताया कर्मचारी ने पहले ब्लैक करने वाले व्यक्ति जो चार-चार सिलेंडर लेकर पहुंचे थे उनको दी है, अब हमारा नंबर आया है।
नहीं सुधरा है गैस बुकिंग ढर्रा
मेरठ। कहने को गैस एजेंसियों पर बेसिक फोन, मोबाइल पर एसएमएस और ऑन लाइन गैस बुकिंग की व्यवस्था है। इस व्यवस्था पर महानगर की कुछ गैस एजेंसियां तो अपडेट हैं, लेकिन कुछ एजेंसियों पर तो फोन तक नहीं उठते।

हां मैं स्वीकार करता हूं कि गोदाम पर भीड़ थी। उपभोक्ताओं की कम गैस की शिकायत के बाद हमने गोदाम पर भी व्यवस्था की है। होम डिलीवरी भी की जा रही है। अगर हमारे कर्मचारी ने उपभोक्ताओं को कुछ गलत कहा है तो उसको समझाया जाएगा। गैस आपूर्ति भी कम हो रही है।
-अमित भारद्वाज, महामंत्री गैस वितरक फेडरेशन।

- गैस किसको कैसी दी जाए। उपभोक्ता खाते खुलवाएं या नहीं अभी तक कुछ भी स्पष्ट नहीं है। नई व्यवस्था लागू करने में गैस वितरकों को समस्या से जूझना पड़ रहा है। काफी लोग धमकी दे रहे हैं। अब तो गैस वितरकों को सुरक्षा के लिए भी गंभीर होना पड़ रहा है।
- नमो जैन, अध्यक्ष जिला गैस वितरक फेडरेशन।

Spotlight

Most Read

Madhya Pradesh

MP निकाय चुनाव: कांग्रेस और भाजपा ने जीतीं 9-9 सीटें, एक पर निर्दलीय विजयी

मध्य प्रदेश में 19 नगर पालिका और नगर परिषद अध्यक्ष पद पर हुए चुनाव में कांग्रेस और भाजपा के बीच कड़ा मुकाबला देखने को मिला।

20 जनवरी 2018

Related Videos

तो अब होगी हिमाचल प्रदेश में प्राकृतिक खेती

बागपत के इंटरमीडिएट कॉलेज धनौरा सिल्वरनगर के वार्षिक समारोह में हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल आचार्य देवव्रत मुख्य अतिथि के तौर पर शिरकत की।

21 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper