साकार होने लगा इनर रिंग रोड का सपना

Meerut Updated Wed, 19 Sep 2012 12:00 PM IST
मेरठ। 200 करोड़ रुपये की लागत वाला इनर रिंग रोड प्रोजेक्ट अब साकार रूप लेने लगा है। आवास-विकास परिषद के बाद मेरठ विकास प्राधिकरण ने भी लोहियानगर के अंतर्गत 1.9 वर्ग किलोमीटर अधिग्रहण मुक्त भूमि में मंगलवार से निर्माण कार्य की शुरुआत कर दी। इसमें 14 करोड़ रुपये का खर्च आएगा।
मेरठ को रफ्तार देने के लिए इनर रिंग रोड योजना बनाई गई है। लोहियानगर से शुरू होने वाली यह सड़क शहरी हिस्से में घूमती हुई सिवाया गांव से रुड़की रोड पर मिल जाएगी। दो चरण में कुल 34 किलोमीटर मार्ग का निर्माण किया जाना है। 45 मीटर चौड़ा और 14 किलोमीटर लंबा उक्त मार्ग मेरठ-सोनीपत मार्ग का हिस्सा होगा। इसके मध्य हिस्से में जुर्रानपुर फाटक पड़ता है। योजना परवान चढ़ने पर वाहन हवा की रफ्तार से परवाज भर सकेंगे। इससे पहले आवास-विकास परिषद एक सितंबर से जागृति विहार एक्सटेंशन योजना के अंतर्गत 2.2 किलोमीटर हिस्से में बीस करोड़ की लागत से इनर रिंग रोड निर्माण की शुरुआत कर चुका है। मंगलवार को निर्माण कार्य की शुरूआत के मौके पर एमडीए वीसी तनवीर जफर अली, सचिव जंग बहादुर यादव, मुख्य नगर नियोजक यशपाल सिंह, तहसीलदार मनोज, जन संपर्क अधिकारी अतहर काज़मी, नगर नियोजक विवेक भास्कर मौजूद रहे।

ढाई करोड़ की लागत से बनेगा ब्रिज
मुख्य अभियंता एसपी सिंह ने बताया कि लोहियानगर और आवास-विकास परिषद की जमीन के बीच गंदे नाले पर ब्रिज बनाया जाएगा। ढाई करोड़ की लागत वाला यह कार्य ब्रिज कॉरपोरेशन से कराया जाएगा। योजना को तेजी से परवान चढ़ाया जाएगा।

पहले चरण में यहां होना है निर्माण
पहले चरण के तहत 16 किलोमीटर हिस्से में सड़क निर्माण करने के लिए रामपुर पावटी, मलियाना, मोहकमपुर, रिठानी, जुर्रानपुर समेत सात अन्य गांवों में धारा चार का प्रस्ताव प्रशासन को भेजा गया था। जबकि दूसरे चरण में 18 किलोमीटर हिस्से में सड़क का निर्माण किया जाएगा।

बढ़ेगा विकास शुल्क
भारी भरकम वाले इस प्रोजेक्ट को परवान चढ़ाना एमडीए के लिए कड़ी चुनौती बनने जा रहा है। एनसीआर प्लानिंग बोर्ड द्वारा फंडिंग से इनकार किए जाने के बाद अब नए विकल्पों पर विचार किया जा रहा है। मुख्य अभियंता एसपी सिंह ने बताया कि बाह्य विकास शुल्क की दर बढ़ाकर निर्माण व्यय निकाला जाएगा।

Spotlight

Most Read

Chandigarh

RLA चंडीगढ़ में फिर गलने लगी दलालों की दाल, ऐसे फांस रहे शिकार

रजिस्टरिंग एंड लाइसेंसिंग अथॉरिटी (आरएलए) सेक्टर-17 में एक बार फिर दलाल सक्रिय हो गए हैं, जो तरह-तरह के तरीकों से शिकार को फांस रहे हैं।

21 जनवरी 2018

Related Videos

तो अब होगी हिमाचल प्रदेश में प्राकृतिक खेती

बागपत के इंटरमीडिएट कॉलेज धनौरा सिल्वरनगर के वार्षिक समारोह में हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल आचार्य देवव्रत मुख्य अतिथि के तौर पर शिरकत की।

21 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper