किताब में दर्ज होंगे 20 साल के फैसले

Meerut Updated Mon, 17 Sep 2012 12:00 PM IST
मेरठ/परीक्षितगढ़। 20 साल से किसानों के हक की लड़ाई लड़ रहे सरदार वीएम सिंह ने किसान महापंचायत में राजनीतिक दलों की जमकर खबर ली। उन्होंने कहा कि चूल्हे में फायदा होगा तभी किसान बढ़ेगा। उनके हक की लड़ाई के लिए किसी भी पार्टी या संगठन ने एक भी अर्जी कोर्ट में नहीं लगाई। किसानों को उनके हक के प्रति जागरूक करने के लिए 20 साल में हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट ने जितने भी फैसले सुनाए हैं, उनकी एक किताब तैयार की जा रही है। इससे किसानों को फायदा होगा।
कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी और भाजपा के महासचिव अरुण जेटली के बारे में कहा कि ये लोग किसानों के खिलाफ और मिल मालिकों के लिए केस लड़ चुके हैं। समाजवादी पार्टी के बारे में भी यही कहा। कहा कि पूंजी पति अपनी मनमर्जी कर रहे हैं। किसानों को अपना हक छीनना होगा। 75 रुपये के बकाया भुगतान के बारे में कहा कि चार सप्ताह में अगर मिल भुगतान न करें तो गन्ना सोसायटी पर धरना दिया जाए। 15 दिन के बाद अगर मिलें भुगतान करती हैं तो ब्याज देना होगा। सरकार जब वसूली और ब्याज में राहत नहीं देती तो फिर किसान क्यों पीछे रहे।
किसान सेना रोकेगी भ्रष्टाचार
वीएम सिंह ने कहा कि जल्द ही किसान सेना का गठन किया जाएगा। पूर्व आर्मी जनरल वीके सिंह इसमें मदद करेंगे। किसान सेना गन्ना, गेहूं और धान के खरीद सेंटरों पर होने वाली बेईमानी और भ्रष्टाचार को रोकेगी। इसमें पूर्व सैनिकों को शामिल किया जाएगा।
एफडीआई का विरोध
किसान नेता ने मंच से एफडीआई का विरोध किया। उन्होंने कहा कि देहात के अधिकतर व्यापारी किसान हैं। केंद्र सरकार एफडीआई के जरिये करोड़ों को बेरोजगार कर देगी। हम इसके सख्त खिलाफ हैं, इसे लागू नहीं होने दिया जाएगा। रोजगार मिलने से ज्यादा छिन जाएंगे। डीजल और रसोई गैस का कोटा निर्धारित होने पर भी नाराजगी जताई।
गन्ने का गणित समझाया
गन्ना मूल्य को लेकर वीएम सिंह ने किसानों को गन्ना गणित समझाया। 2008-09 में गन्ने का मूल्य 140 रुपये क्विंटल था। चीनी 32 रुपये किलो थी। अब चीनी 40 से 42 रुपये किलो पहुंच गई है और गन्ना 240 रुपये क्विंटल है। गन्ने से मिलों को आमदनी पर उन्होंने कहा कि एक क्विंटल गन्ने से साढ़े पांच किलो शीरा निकलता है। 32 किलो खोई और करीब 10 किलो चीनी तैयार होती है। बायोप्रोडक्ट्स से ही मिलों को करीब 150 रुपये की कमाई हो जाती है। चीनी के दाम अलग। मिलों को घाटा कहां हो रहा है।
मंडल में हो आवंटन
गन्ने के आवंटन पर कहा कि यह मंडल में होना चाहिए, ताकि किसान कमिश्नर के सामने अपनी समस्या रख सकें। मिलों की नीति और सुविधा की शिकायत कर सकें लेकिन गन्ना क्षेत्र का आवंटन लखनऊ में किया जाता है, जिसमें ज्यादातर किसान भाग नहीं ले पाते। मिल खर्च देकर किसानों से अपनी नुमाइंदगी करवाते हैं। इससे मिलों का ही फायदा होता है।
‘नेताओं की बिरादरी ने किया नाश’
मथुरा की मांट विधानसभा सीट के विधायक तृणमूल कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष श्याम सुंदर दास ने कहा कि नेताओं की बिरादरी ने देश का नाश कर दिया है। किसान और मजदूर के हक की परवाह नहीं है। वीएम सिंह के बारे में कहा कि ‘तुमसा नहीं देखा’। कहा कि वो किसानों के हक की आवाज विधानसभा में उठाएंगे और वीएम सिंह बाहर आवाज बुलंद रखें। एफडीआई पर श्याम सुंदर बोले की हमारे बिटौड़ों पर लगने वाली तौरी और लौकी का भाव अब वॉलमार्ट तय करेगा।
हल भेंट किया
वीएम सिंह के स्वागत में राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन ने उन्हें लकड़ी का हल भेंट किया। अगली महापंचायत बिजनौर में 30 सितंबर को होगी।

किसानों की भीड़ ने बढ़ाया हौसला
नवीन मंडी में किसानों की भीड़ ने वीएम सिंह का हौसला बढ़ा दिया। कार्यक्रम में करीब दो घंटे देरी से पहुंचे किसान नेता को सुनने के लिए किसान बेताब थे। उमस भरी गर्मी में भूख प्यास की परवाह किए बगैर किसान महापंचायत में जमे रहे। खादर के सरदार किसानों की संख्या खासी थी।
महापंचायत में राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन के वेस्ट यूपी उपाध्यक्ष उपेंद्र सिंह, रिटायर्ड जनरल वीके सिंह के साले अरिदमन सिंह, प्रधानाचार्य पद्मसेन मित्तल, नगर पंचायत अध्यक्ष पति अमित मोहन गुप्ता, डॉ. सूरजपाल सिंह, श्रीकांत सिंह, हरवीर सिंह, सरदार उलफत सिंह, बिजेंद्र सिंह, प्रीतम सिंह, विवेक सिंह, राजवीर सिंह, गुल्लू प्रधान, जिला पंचायत सदस्य रणपाल सिंह, चौधरी रामबीर सिंह, जितेंद्र सिंह, सुदेश पाल आदि ने संबोधित किया। मवी रोड स्थित डीएम पब्लिक स्कूल में किसान नेता का स्वागत किया गया व स्कूल के डायरेक्टर चौधरी रविंद्र सिंह ने उन्हें स्मृति चिन्ह भेंट किया।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी में नौकरियों का रास्ता खुला, अधीनस्‍थ सेवा चयन आयोग का हुआ गठन

सीएम योगी की मंजूरी के बाद सोमवार को मुख्यसचिव राजीव कुमार ने अधीनस्‍थ सेवा चयन बोर्ड का गठन कर दिया।

22 जनवरी 2018

Related Videos

‘आओ साइकिल चलाएं’ कार्यक्रम का आयोजन, होगा ये फायदा

बागपत में एक पेट्रोल पंप पर 'आओ साइकिल चलाएं' कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में केंद्रीय मानव संसाधन राज्यमंत्री डॉ सत्यपाल सिंह भी शामिल हुए।

22 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper