एक ही दिन में नरक बन गया शहर

Meerut Updated Fri, 24 Aug 2012 12:00 PM IST
मेरठ। नगर निगम कर्मचारियों की हड़ताल के चलते गुरुवार को शहर में नारकीय हालात बन गए। ढलाव घरों से कूड़ा नहीं उठने के कारण शहर के हर कोने में दुर्गंध का साम्राज्य रहा। पेयजल आपूर्ति बाधित होने से त्राहिमाम की स्थिति रही। निगम कार्यालय में भी विरोध का बोलबाला रहा। न तो अधिकारियों को कुर्सी मिली, न ही फरियादियों को राहत।
कूड़ा उठाने नहीं पहुंची गाड़ियां
नगर निगम में 216 संविदाकर्मियों का मामला गरमा गया है। कूड़ा उठाने वाले वाहन के अधिकांश ड्राइवर संविदा पर कार्यरत होने के चलते गुरुवार को शहर के मोहल्लों से कूड़ा नहीं उठा। सुबह को सफाई कार्य तो हुए, लेकिन ढलाव घराें से कूड़ा उठाने के लिए गाड़ियां नहीं पहुंची। ये गाड़ियां सूरजकुंड वाहन और दिल्ली रोड वाहन डिपो पर खड़ी रहीं। चौराहों और गलियों के बाहर कूड़े के ढेर लगे रहे। डीएम कार्यालय के बाहर रखे डस्टबिन भी कूड़े से अटे रहे। बच्चा पार्क, दिल्ली रोड, शास्त्रीनगर, लिसाड़ी गेट आदि क्षेत्रों में लोगों का निकलना मुश्किल रहा।

जलापूर्ति रही बाधित
नगर निगम के जलकल विभाग में हड़ताल का असर दिखा। 138 ट्यूबवेलों में कई पर कर्मचारियों के नहीं पहुंचने से दर्जनों मोहल्लों में लोगों को सुबह पानी नहीं मिला। 27 ट्यूबवेलों के संचालन की व्यवस्था पूरी तरह संविदा कर्मियों हाथ में है। नगर आयुक्त ने हड़ताल के मद्देनजर जल निगम के अधिकारियों को आपरेटरों की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं।

कार्यालयों में लटके ताले
नगर आयुक्त कार्यालय समेत, अपर नगर आयुक्त, उपनगर आयुक्त, कर निर्धारण अधिकारी, जनगणना विभाग, शास्त्री नगर हाउस टैक्स विभाग, निर्माण विभाग और स्वास्थ्य विभाग में कामकाज पूरी तरह बंद रहा। पथ प्रकाश विभाग में भी कर्मचारियाें ने काम नहीं किया। कार्यालय पहुंचे अधिकारियों को वापस लौटना पड़ा। कंप्यूटर विभाग और हाउस टैक्स विभाग बंद होने से बिल ठीक कराने पहुुंचे लोग बैरंग लौटे। संयुक्त कर्मचारी संघ ने कार्यालयों में आज भी कार्य नहीं होने देने की बात कही है। नगर आयुक्त राजकुमार सचान ने कहा कि कर्मचारियों से वार्ता सफल रही है। अत्यावश्यक सेवाएं सहित हाउस टैक्स वसूली जैसे कार्य जारी रहेंगे। अगले दौर की वार्ता में कर्मचारियों को अन्य कार्य आरंभ करने के लिए मनाया जाएगा।

आज से उठेगा कूड़ा, पानी भी मिलेगा
दोपहर बाद कर्मचारियों की नगर आयुक्त से वार्ता हुई, जिसमें सफाई, कूड़ा उठान और पेयजल आपूर्ति को बाधित नहीं करने पर सहमति बनी। इससे पूर्व नगर आयुक्त कार्यालय में मुख्य सचिव वीके शर्मा के द्वारा भेजे फैक्स में स्थानीय निकाय और सफाई कर्मचारी संयुक्त मोर्चा द्वारा अनिश्चित कालीन हड़ताल का हवाला देते हुए आवश्यक जन सुविधाओं को बहाल रखने के लिए हर संभव उपाय करने के निर्देश दिए गए। हड़ताल कर रहे कर्मचारियों द्वारा हिंसा और तोड़फोड़ की कार्रवाई से सख्ती से निपटने के निर्देश दिए गए हैं। नगर आयुक्त ने बताया कि कर्मचारियों ने सफाई और पेयजल आपूर्ति बाधित नहीं करने का आश्वासन दिया है। वार्ता के दौरान कैलाश चंदोला, लोकेश शर्मा, रामचरण, श्रीपाल, ओमप्रकाश पटेल, हेमंत जाटव, रमेश चिंडालिया, विजेंद्र महरौल आदि मौजूद रहे।

हड़ताल जारी रहेगी
लखनऊ में नगर विकास विभाग के प्रमुख सचिव से वार्ता विफल होने के बाद निगम कार्यालय पहुंचे कर्मचारियों ने कामकाज ठप कर दिया। नगर निगम कर्मचारियों ने संयुक्त संघर्ष मोर्चा के बैनर तले मुख्यालय स्थित नगर आयुक्त कार्यालय के सामने धरना दिया। किशन कुमार की अध्यक्षता और कर्मचारी संघ अध्यक्ष अनीस अहमद के संचालन में हुई बैठक में संविदा कर्मियों की बहाली तक आंदोलन जारी रखने का निर्णय लिया गया। नगर निगम कर्मचारी संघ अध्यक्ष अनीस अहमद और महामंत्री तुलसी मोहन ने बताया कि केंद्रीय नेतृत्व के आह्वान पर हड़ताल जारी रहेगी। पानी और सफाई जैसी अत्यावश्यक सेवाएं बहाल रहेंगी। कैश काउंटर छोड़कर सभी कार्यालय बंद रहेंगे।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Shimla

बदलेगा मौसम, हिमाचल में चार दिन बारिश-बर्फबारी के आसार

हिमाचल में मौसम एक बार फिर से करवट बदल रहा है। मध्य एवं उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में बारिश और बर्फबारी की संभावना है।

19 फरवरी 2018

Related Videos

यूपी में अपराधियों के मन में एनकाउंटर का खौफ, सार्वजनिक रूप से मांग रहे माफी

यूपी में अपराधियों के मन में पुलिस के एनकाउंटर का खौफ पूरी तरह बैठ गया है। यहां लगातार हो रहे एनकाउंटर को देखकर दो अपराधियों ने सार्वजनिक तौर पर अपने करनामों के लिए माफी मांगी है। इन दोनों पर हत्या और लूट के नौ मामले दर्ज है।

17 फरवरी 2018

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen