‘न मिला पानी, खाने की गुणवत्ता भी खराब’

Meerut Updated Fri, 24 Aug 2012 12:00 PM IST
मेरठ। चौधरी चरण सिंह विवि में गुरुवार को हुआ आशाओं का सम्मेलन अव्यवस्थाओं की भेंट चढ़ गया। आशाओं को बैठने तक की जगह नहीं मिल सकी। घंटों तक उन्हें पानी तक नहीं मिल सका। खाने की गुणवत्ता पर भी आशाओं ने सवाल उठा दिए।
बृहस्पति भवन में आयोजित समारोह में हॉल खचाखच भर गया। दर्जनोें आशाएं हॉल और बाहर चार घंटे खड़ी रहीं। खुद को आशा संघ की अध्यक्ष बताने वाली ईश्वरी, मवाना की शकुंतला, सिकैड़ा की परमा, मानेपुर की विकलांग अनीता, सरिता का कहना था कि हमें सुबह नौ बजे ही बुला लिया गया। दोपहर एक बजे तक एक गिलास पानी तक नसीब नहीं हुआ। दोपहर में जो लंच पैकेट परोसे गए, उसमें सूखी पूड़ी, सब्जी और खराब किस्म के छोले थे। किराये के नाम पर 50 रुपया ही दिया गया।
आशाओं की भूमिका महत्वपूर्ण
भले ही सम्मेलन में अव्यवस्थाओं पर आशाएं नाराज दिखीं, लेकिन उनकी शान में माननीयों ने जमकर कसीदे पढ़े। उद्घाटन करते हुए जिला पंचायत अध्यक्ष मनिंदर पाल सिंह ने कहा कि स्वास्थ्य क्षेत्र में आशाओं की भूमिका महत्वपूर्ण है। सरकार से प्रोत्साहन राशि के स्थान पर मानदेय दिलाने की मांग की जाएगी।
मुख्य विकास अधिकारी आरके सिंह ने कल्याणकारी योजनाओं को आम लोगों तक पहुंचाने की अपील करते हुए आशाओं से भारी संख्या में उपस्थित रहने के लिए बधाई दी। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. अमीर सिंह ने कहा कि आशाएं स्वास्थ्य विभाग और समुदाय के बीच की कड़ी हैं। एनआरएचएम की योजनाओं को आम लोगों तक पहुंचाने की जिम्मेदारी आशाओं पर ही है। प्रत्येक विकास खंड में तीन आशाओं को चेक और प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। संचालन डा. अशोक अरोड़ा ने किया। सीएमएस महिला अस्पताल डा. उषा तोमर, डा. उर्मिला, डा. दीपा सिंह, डा. पूजा शर्मा, राजेश कुमार, डा. संजय, डा. विश्वास चौधरी, डा. किरण मलिक ने विचार रखे।

वर्जन
- राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत 23 अगस्त को आशा दिवस मनाया जाता है। जिले में करीब 1300 आशाएं हैं। इनमें से 850 आशाओं, एनएम, महिला ग्राम प्रधानों को न्यौता दिया गया था। 600 आशाएं, एनएम और महिला ग्राम प्रधान पहुंच गईं। इस वजह से हॉल खचाखच भर गया। इतनी आशाओं के आने की उम्मीद नहीं थी। फिर भी अव्यवस्था जैसी स्थिति पैदा नहीं हुई, सब कुछ अच्छी तरह से निपट गया।
- डा. अमीर सिंह, मुख्य चिकित्सा अधिकारी

Spotlight

Most Read

Jammu

पाकिस्तान ने बॉर्डर से सटी सारी चौकियों को बनाया निशाना, 2 नागरिकों की मौत

बॉर्डर पर पाकिस्तान ने एक बार फिर से नापाक हरकत की है। जम्मू-कश्मीर में आरएस पुरा सेक्टर में पाकिस्तान की ओर से सीजफायर का उल्लंघन किया है।

19 जनवरी 2018

Related Videos

ईंठ भट्ठे की दीवार की लिपाई के दौरान दो लड़कियों के साथ हुआ भयानक हादसा

बागपत में ईंट भट्ठे की दीवार गिरने से दो लड़कियों की मौत हो गई। मरनेवाली दो लड़कियों में से एक की उम्र 15 साल थी। हादसे के बाद पूरे गांव में मातम पसरा हुआ है।

19 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper