इन सड़कों की मौत का कौन जिम्मेदार

Meerut Updated Wed, 22 Aug 2012 12:00 PM IST
मेरठ। शहर की सड़कों की हालत पहले ही बदहाल थी कि रही सही कसर सोमवार हुई बारिश ने पूरी कर दी। जर्जर सड़कें बारिश का सितम नहीं सह पाईं और जलभराव से दम तोड़ने लगीं। कहीं सड़क धंसी तो कहीं परतों के साथ ही सरकारी दावों की कलई उधड़ गई। गहरे गड्ढे मुंह फैलाए हादसों को न्योता दे रहे। आखिर दम तोड़ती इन सड़कों का जिम्मेदार कौन है ? मंगलवार को ‘अमर उजाला’ ने इसकी पड़ताल की।
‘मेरठ-बागपत रोड’
मलियाना पुल से लेकर चेक पोस्ट तक सड़क से गुजरना खतरे से खाली नहीं है। जल निगम ने हाल ही में पाइप लाइन बिछाने के बाद अस्थाई रूप से सड़क का निर्माण किया था लेकिन घटिया निर्माण सामग्री के चलते सड़क जगह जगह धंस गईं। होटल सिगनेचर और केएमसी अस्पताल के सामने सड़क खतरनाक ढंग से टूटी हुई है। मंगलवार को यहां पूरे दिन भीषण जाम रहा।
‘रेलवे रोड चौपले से बच्चा पार्क तिराहा’
मेनका सिनेमा से लेकर छतरी वाला पीर और खैरनगर टायर मार्केट से होकर जाने वाली सड़क खस्ताहाल है। नगर निगम ने पिछले वर्ष यह सड़क बनवाई थी। जो जगह-जगह से उखड़ गई है। जिला अस्पताल, मेनका सिनेमा के सामने सड़क पर बड़े बड़े गड्ढे हो गए हैं।
‘कमिश्नर आवास से प्रभात नगर तक’
जेल चुंगी से कमिश्नरी आवास की ओर जाने वाले वाली रोड पर हाल में सीवर पाइप लाइन डाली गई है। व्यस्ततम रोड होने के चलते आनन फानन में रोड का निर्माण कार्य तो करा दिया गया लेकिन रोड जगह-जगह धंस गई है।
‘दिल्ली रोड अमर उजाला सेतु’
मेवला फाटक पर ओवर ब्रिज बन जाने के बाद भी लोगों की मुश्किलें कम नहीं हो रही हैं। बारिश होने के बाद जगह-जगह डाली गई मिट्टी और गिट्टी उखड़ गई। ओवर ब्रिज के नीचे से जाने वाला रोड पहले से खस्ताहाल है। ऐसे में लोगों का ब्रिज से गुजरना खतरे से खाली नहीं है। दोपहर बाद सेतु निगम में गड्ढों को भरने के लिए बजरी और गिट्टी का भराव किया है।
खत्ता रोड से माधवपुरम
ऊंचा सद्दीक नगर से माधवपुरम जाने वाली खत्ता रोड में सड़क के बीचों बीच तालाब बन गया है। सड़क के बीचों-बीच बने बड़े गड्ढों से आवागमन बाधित हो गया है।
‘बिजली बंबा बाईपास’
यहां से गुजरना दुर्घटना को दावत देने के समान है। पहले से ही जगह-जगह से टूटी सड़क में गड्ढे और बड़े हो गए हैं। बाईपास तिराहा पर सुपरटेक के सामने तो हालात और खराब हैं। जरा सी बरसात से यहां तालाब बन जाता है। ऊपर से यहां सड़क किनारे खड़े होने वाले ट्रक जाम और हादसों को न्यौता देते हैं।
‘बागपत गेट से भूमिया पुल’
इस मार्ग को पाइप लाइन बिछाने के लिए खोद तो दिया गया लेकिन लावारिस छोड़ दिया गया। सबसे ज्यादा मुसीबत इस मार्ग से गुजरने वालों को होती है। पहले जलभराव फिर पानी निकलने पर कीचड़ के चलते दुपहिया वाहनों का गुजरना मुश्किल है।
बदहाली यहां भी
शहर के इन मुख्य मार्गों के अलावा कालोनी के अंदर की सड़कों की हालत और बदतर है। गुरु नानक नगर, शंभू नगर, माधवपुरम, ट्रांसपोर्ट नगर, ब्रह्मपुरी, शास्त्रीनगर, गंगानगर आदि स्थानों की सड़कें खस्ताहाल हैं।

‘दुर्भाग्य नहीं तो क्या’
शायद नगर निगम, जल निगम और पीडब्लूडी के अफसर आसमान से सफर तय करते हैं इसलिए उन्हें सड़कों की यह बदहाली नहीं दिखती। आम आदमी कितना परेशान है, यह भी तभी महसूस होगा जब ये जिम्मेदार अफसर खुद कीचड़ों से गुजरकर और गड्ढों में गिरकर सबक लेंगे। खुद कमिश्नर एमके नारायण अफसरों को शहर की हर सड़क दुरुस्त करने के निर्देश दे चुके हैं लेकिन उनके आदेश भी बौने पड़ रहे हैं।

Spotlight

Most Read

Kanpur

बाइकवालाें काे भी देना हाेगा टोल टैक्स, सरकार वसूलेगी 285 रुपये

अगर अाप बाइक पर बैठकर आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर फर्राटा भरने की साेच रहे हैं ताे सरकार ने अापकी जेब काे भारी चपत लगाने की तैयारी कर ली है। आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर चलने के लिए सभी वाहनों को टोल टैक्स अदा करना होगा।

17 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: एसपी नेता ने पुलिस प्रशासन पर लगाए गंभीर आरोप

मेरठ में समाजवादी पार्टी के नेता अतुल प्रधान की कचहरी में पेशी हुई। इस दौरान उन्होंने मीडिया से बात करते हुए पुलिस प्रशासन पर सवाल उठाए और कहा कि, पुलिस अपने विवेक से काम करें ना कि बीजेपी के इशारों पर।

18 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper