विज्ञापन

इस्लाम भाईचारा सिखाता, नफरत नहीं

Meerut Updated Tue, 21 Aug 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
मेरठ। महीने भर की इबादत के बाद आखिर वह क्षण आ ही गया, जिसका बेसब्री से इंतजार था। रहमत और बरकत का महीना रमजान, रोजेदारों ने इबादत में गुजारा। ईद के मौके पर सुबह सभी अल्लाह की बारगाह में इबादत करने पहुंचे। यहां मुल्क के लिए अमन और तरक्की की दुआ की गई। इस मौके पर शहर काजी ने कहा कि इस्लाम भाईचारा सिखाता है, नफरत नहीं।
विज्ञापन
दिल्ली रोड स्थित शाही ईदगाह और शहर के विभिन्न स्थानों पर ईद उल फितर की नमाज अदा की गई। शाही ईदगाह पर शहर काजी जैनुस साजिद्दीन की इमामत में लाखों मुसलमानों ने ईद की नमाज अदा की। नमाज के बाद मुल्क की तरक्की, सांप्रदायिक सौहार्र्द कायम रहने की दुआ की गई। नमाज से पहले कारी शफीकुर्रहमान ने खिताब फरमाते हुए कहा कि इस्लाम का हर अमल प्यार-मोहब्बत आपसी भाईचारा और नेक जिंदगी गुजारने का नाम है। इस्लाम बिरादरी वाद के खिलाफ है, इस्लाम एकजुटता का हामी है। नमाज से पूर्व शहर काजी ने खिताब फरमाया कि ईद खुशी का दिन है, लेकिन असम और म्यांमार की घटना बेहद अफसोसजनक है। मुसलमान अभी भी वहां जुल्म ज्यादती का शिकार हैं। ईदगाह पर नमाज के बाद शहर काजी ने खुतबे में इस्लामी तालीमात पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि हर बुराई से बचने और नेक जिंदगी गुजारने के लिए हर मुसलमान को कुरान, हदीस पर पूरी तरह से अमल करना चाहिए। हजरत मोहम्मद के बताए रास्तों पर चलकर ही हर बुराई से छुटकारा मिल सकता है। इस्लाम नफरत नहीं, भाईचारा सिखाता है। कुरान ने पूरी दुनिया को इंसानियत का पैगाम दिया और इस्लाम हर जुल्म ज्यादती के खिलाफ है। ईदगाह के मुतवल्ली आसिम अली सब्जवारी ने कहा कि सभी के सहयोग से ईदगाह पहले से बेहतर है, लेकिन नमाजियों की संख्या देखते हुए इसका भव्य निर्माण कराना जरूरी है। नमाज के बाद सभी ने अमन, चैन, उन्नति, मुल्क की खुशहाली और असम पीड़ितों की सुरक्षा की दुआ की।
ईद की नमाज के लिए शहर क्षेत्र के विभिन्न इलाकों के लोग सुबह साढ़े छह बजे से ईदगाह आना शुरू हो गए थे। कुछ ही देर में ईदगाह परिसर नमाजियों से भर गया। इसके बाद लोगों ने मार्गों पर सफें बिछानी शुरू कर दीं। मौसम साफ होने की वजह से केसरगंज, मकसूद अली का चौक, मेट्रो प्लाजा तक नमाजियों की भीड़ देखी गई।
बसपा का नहीं लगा कैंप
ईदगाह के बाहर विभिन्न दलों और सामाजिक संगठनों के कैंप भी लगाए गए। ईद की बधाई देने के लिए इस बार बसपा की तरफ से कैंप नहीं लगाया गया। पूर्व सांसद शाहिद अखलाक की तरफ से कैंप लगाया गया, इसमें वे अपने साथियों के साथ मौजूद थे। उन्होंने अपने कैंप के सामने लगे सपा के कैंप पर जाकर रफीक अंसारी और अन्य लोगों को ईद की मुबारकबाद दी। इस दौरान विधायक गुलाम मोहम्मद, जयवीर सिंह, जहीरुद्दीन, हाजी अरशद, अब्दुल फईम, अब्बास, मोहम्मद आदिल भी मौजूद रहे।
इसके अलावा अन्य कैंपों पर कांग्रेस के राजेंद्र शर्मा, सलीम भारती, दीपक शर्मा, नवीन बादली, रमेश धींगड़ा, सैफी वेलफेयर एसोसिएशन के प्रदेश महामंत्री सलीम सैफी, इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग के मोहम्मद उवेस, इकबाल अहमद, भाजपा के कुंवर वासिद अली, चरण सिंह लिसाड़ी, आशीष शर्मा आदि ने भी सभी को ईद की मुबारकबाद दी। इसके साथ डीएम, एसएसपी और अन्य अधिकारियों ने भी गले मिलकर ईद की शुभकामनाएं दीं।
गले मिलकर दी मुबारकबाद
मेरठ। ईद पर विभिन्न संगठनों ने मुसलमान भाइयाें को ईद की शुभकामनाएं दी। देश भक्ति विचार मंच के मंजीत सिंह कोछड़ और पदाधिकारी लोगों से गले मिले और बधाई दी। उन्होंने बताया कि यह पर्व आपसी भाईचारे का संदेश देता है।
अखिल भारतीय मानवाधिकार निगरानी समिति ने दिल्ली रोड ईदगाह पर कैंप लगाकर मुबारकबाद दी। सचिन भारती, अजय चौधरी, बिलाल खान, अकरम, अनुरोध चौहान, शैलेंद्र बत्रा, विपिन गुप्ता मौजूद रहे। बहुजन समाज पार्टी के शहर सचिव चतर सिंह जाटव, रामवीर जाटव ने भी ईदगाह पहुंच कर बधाई दी। कोरी समाज के लोगों ने प्रदेश सरकार मंत्री शाहिद मंजूर से भेंट कर उन्हें ईद की मुबारकबाद दी। जगदीश गागह, रामचंद, लक्ष्मीचंद कंडारी, कुंवर पाल, रिषिपाल, जगपाल, मदनपाल, बाबूराम, विक्रम सिंह आदि मौजूद रहे। कर्तव्य संस्था के रणजीत सिंह जस्सल ने कहा ईद का पर्व विभिन्न धर्मों के लोगों को एकजुट करता है। संस्था के खैराती लाल, ओमप्रकाश फौजी, केके छाबड़ा, अब्दुल कादिर, मनमोहन सहोता ने ईदगाह पर गले मिलकर बधाई दी।
कड़ी सुरक्षा व्यवस्था रही
मेरठ। ईद की नमाज के दौरान कड़ी सुरक्षा व्यवस्था रही। शाही ईदगाह में दोनों प्रवेश द्वार पर डोर फ्रेम मेटल डिटेक्टर लगाए गए थे।
मनसबिया रेलवे रोड पर भी बड़ी संख्या में शिया समुदाय के लोगों ने ईद की नमाज अदा की। मौलाना मोहम्मद मेहजर आब्दी ने नमाज पढ़ाई। इस दौरान वक्फ मनसबिया के मुतवल्ली अलहाज शाह अब्बास सफवी, मौलाना ओन मोहम्मद, कैसर जैदी, नवाब हसन नकवी, हामिद अली, वसी हैदर जैदी, तालिब जैदी, मासूम असगर आदि मौजूद रहे। जैदी नगर सोसायटी स्थित अल मुर्तजा मस्जिद में भी ईद की नमाज हुई। हजरत बाले मियां नौचंदी, लालकुर्ती, नूर नगर ईदगाह, शकूर नगर मस्जिद, खैरनगर हौज वाली मस्जिद, मक्की मस्जिद, मस्जिद श्यामनगर, मस्जिद रियाजुल जिन्ना आदि में भी नमाज अदा की गई।
नमाज के बाद मुस्लिम बहुल इलाकों में ईद का जश्न रहा। जलीकोठी, मकबरा अब्बू, अहमद नगर, लिसाड़ी रोड, गोला कुआं, इस्लामाबाद, जाकिर कालोनी आदि इलाकों में बच्चों ने झूले झूले। युवाओं ने अपने फोटो भी खिंचवाए। मिठाई और खस्ता कचौड़ी भी खूब बिकी।
बांह पर बांधी काली पट्टी
मेरठ। ईदगाह दिल्ली रोड पर कुछ लोगों ने अपनी बांह पर काली पट्टी बांधकर असम और म्यांमार में मुसलमानों के साथ हुई जुल्म ज्यादती पर अफसोस जाहिर करते हुए विरोध जताया। पूर्व शहर विधायक हाजी याकूब और उनके साथ आए लोग काली पट्टी बांधे नजर आए।
असम पीड़ितों की मदद की अपील
असम पीड़ितों की मदद के लिए ईदगाह क्षेत्र में बाकायदा बैनर लगाए गए। शहर काजी जैनुस साजिद्दीन ने कहा कि असम, बर्मा, फलस्तीन में हो रही जुल्म ज्यादती की जितनी भी निंदा की जाए कम है। उन्होंने मुसलमानों से अपील की कि असम पीड़ितों की ज्यादा से ज्यादा आर्थिक रूप से सहायता करनी चाहिए। जमाते इस्लामी ने भी लोगों से आर्थिक मदद के रूप धन एकत्र किया जो असम पीड़ितों को भेजा जाएगा।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Meerut

मिशन 2019: अपनी खोई जमीनी ताकत को पाने में जुटे रालोद सुप्रीमो, भाजपा के खिलाफ कही ये बड़ी बातें

पश्चिमी यूपी में फिर से अपनी ताकत को खड़ा करने के लिए छोटे चौधरी अजित सिंह ने जमीनी स्तर से काम करना शुरू कर दिया है। किसानों से संवाद करने मेरठ पहुंचे चौधरी अजित सिंह ने भाजपा पर जमकर हमला बोला है। कही ये बड़ी बातें...

15 अक्टूबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

बुलंदशहर में जाटों ने किया आरक्षण के लिए महापंचायत का आयोजन, मोदी सरकार के खिलाफ लिया ये फैसला

लंबे समय से जाटों के लिए आरक्षण की मांग कर रही जाट आरक्षण संघर्ष समिति ने रविवार को बुलंदशहर में महापंचायत का आयोजन किया। कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे जाट आरक्षण संघर्ष समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी यशपाल मलिक ने सरकार को जाट विरोधी बताया।

15 अक्टूबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree