दंगा नियंत्रण स्कीम अपडेट, अफवाहों पर ध्यान न देने की अपील

Meerut Updated Tue, 21 Aug 2012 12:00 PM IST
मेरठ। सरधना के मुल्हेड़ा में रविवार को हुए बवाल के बाद पुलिस महकमा सजग हो गया है। सोमवार को महकमे की गोपनीय बैठक में दंगा नियंत्रण स्कीम को अपडेट किया गया। तय हुआ कि जिले में लगभग 150 कट्टरपंथी चिन्हित हो चुके हैं जिनके खिलाफ ठोस कार्यवाही शुरू करते हुए पीला कार्ड जारी होगा।
इस गोपनीय बैठक में सांप्रदायिक तनाव फैलाने वाले तत्वों को चिन्हित करने की रिपोर्ट पर विचार विमर्श हुआ। साथ ही इसका भी ब्यौरा मांगा गया जिनमें पूर्व में जनपद या शहर में हुए सांप्रदायिक दंगे/बवाल के मामले में केस दर्ज हुए और उनमें क्या कार्रवाई हुई। तय हुआ कि इन केसों को प्राथमिकता पर लेते हुए ठोस कार्रवाई की जाए। इसके साथ ही जनपद के उन स्थानों की भी चिन्हिकरण रिपोर्ट मांगी गई जहां अक्सर बवाल होता रहा है। यहां पुलिस की दंगा नियंत्रण स्कीम कितनी प्रभावी है, इस पर भी जवाब तलब किया गया।
बैठक में सभी राजपत्रित अफसरों और थानेदारों को निर्देश दिए गए हैं कि वे दो समुदायों व जातियों के बीच व्याप्त विवादों/शत्रुता को चिन्हित करें। इन विवादों का कैसे समाधान हो सकता है, इसकी रिपोर्ट दें। दो संप्रदायों में आपसी सद्भाव कैसे बना रहे, इसके लिए सिविल डिफेंस, पीस कमेटी और संभ्रात लोगों की क्या स्थिति है। अधिकांश मामलों में धार्मिक स्थलों के आसपास जुलूस निकालने पर एतराज होता है जिसको लेकर खास एहतियात बरती जाए। गौकशी की घटना भी मुख्य कारक हो सकती है इसको लेकर खास सतर्कता बरती जाए। दोनों संप्रदाय के कट्टरपंथियों की सूची लगातार अपडेट कर उनके खिलाफ विधिक व निरोधात्मक कार्यवाही करते हुए पीला कार्ड जारी किया जाए। ऐसे तत्व किसी आयोजन, कार्यक्रम, जुलूस या त्यौहार के अवसर पर सामाजिक सद्भाव बिगाड़ने का प्रयास करते हैं।
अफवाहों व वायरलेस से बचें
किसी भी सांप्रदायिक संबंधी विवाद के मामले में सबसे ज्यादा अफवाह फैलती हैं। ऐसे में जरूरी है कि उन अफवाहों का त्वरित खंडन किया जाए। काफी हद तक स्थिति अफवाह फैलने से बिगड़ती हैं। साथ ही किसी भी घटना को वायरलेस सेट पर प्रसारित न कर फोन पर ही संक्षिप्त वार्ता की जाए।

कहना इनका
दंगा नियंत्रण स्कीम को अपडेट किया गया है। सांप्रदायिक सौहार्द बना रहे, इसके लिए सभी प्रयास हो रहे हैं। लगभग 150 कट्टरपंथियों को चिन्हित कर उन्हें पीला कार्ड दिया जा रहा है। लोगों से अपील है कि वे अफवाहों पर ध्यान न देकर शांति व्यवस्था में सहयोग दें। के. सत्यनारायणा, एसएसपी

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Meerut

मुख्यमंत्री ने सहारनपुर को उतराखंड से मिलाने के दिए संकेत

मुख्यमंत्री ने सहारनपुर को उतराखंड में मिलाने के संकेत दिए। उन्होंने कहा कि सहारनपुर को उत्तराखंड में मिलाने की मांग काफी समय से उठ रही है।

20 फरवरी 2018

Related Videos

एकाउंटर का खौफ, थाने पहुंचकर बोला 'गोली मत मारो, जेल में डालो'

यूपी पुलिस जिस तरह ताबड़तोड़ बदमाशों के एनकाउंटर में लगी है, उससे बदमाशों में पुलिस का खौफ साफ नजर आने लगा है।ताजा मामला यूपी के शामली जिले का है जहां एक हत्या का आरोपी खुद थाने पहुंचा।

20 फरवरी 2018

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen