गोकशी को लेकर सरधना में बवाल

Meerut Updated Mon, 20 Aug 2012 12:00 PM IST
सरधना (मेरठ)। ईद से एक दिन पहले सरधना के गांव मुल्हैड़ा में बवाल हो गया। गोकशी को लेकर करीब चार घंटे चले उत्पात में उपद्रवियों ने दो धर्मस्थलों के साथ-साथ पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों पर पथराव कर दिया।समुदाय विशेष के घरों को भी निशाना बनाया गया। उपद्रवियों ने मेरठ-करनाल हाईवे पर जाम लगा कर दो बसों में तोड़फोड़ की और एक बाइक में आग लगा दी। पथराव में पांच पुलिसकर्मियों समेत 12 लोग घायल हुए हैं। पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए हवाई फायरिंग के अलावा लाठीचार्ज भी किया, लेकिन उपद्रवी भारी पड़े। अधिकारियों ने गोकशी करने वालों के खिलाफ कठोर कार्रवाई का आश्वासन देकर जाम खुलवाया। इस मामले में रिपोर्टिंग चौकी मुल्हेड़ा में पांच हजार से ज्यादा अज्ञात लोगों के खिलाफ पुलिस पार्टी पर हमला, तोड़फोड़ और बलवे का केस दर्ज किया गया है। दूसरी तरफ गोकशी करने वाले अज्ञात लोगों के खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया है। इलाके में तनावपूर्ण स्थिति के मद्देनजर पीएसी तैनात कर दी गई है।
शनिवार रात मुल्हैड़ा के जंगल में ट्यूबवेल पर सोए जयपाल को बदमाश उठाकर ले गए और उससे नकदी एवं मोबाइल लूट कर पिठलोखर के रास्ते पर छोड़ दिया। रविवार सुबह करीब पांच बजे जयपाल ने गांव में आकर रात में जंगल में फायर होने के साथ-साथ गांव में घूमने वाले बछडे़ के रोने की आवाज सुनने की बात कही। ग्रामीणों ने बछडे़ की तलाश की। उन्हें गांव के पश्चिमी छोर पर छिद्दा पुत्र शीशराम के खेत में बछड़े के अवशेष मिले। ग्रामीण अवशेषोें को गांव के मुख्य बाजार में चौराहे पर ले आए। जानकारी मिलते ही लोगों में आक्रोश फैल गया और वे चौराहे पर इकट्ठा हो गए।
अचानक भीड़ ने समुदाय विशेष के दो धर्मस्थलों पर पथराव करते हुए कुछ घरों पर हमला बोल दिया। घर के लोगों ने भागकर जान बचाई। तब तक पुलिस भी मौके पर पहुंच गई और हवाई फायर करते हुए भीड़ को खदेड़ दिया। इसके बाद ग्रामीणों ने चौराहे पर धरना शुरू कर दिया। छुर, बपारसी, कालंदी और गोटका के ग्रामीण भी वहां पहुंच गए। तनाव को देखते हुए बाजार बंद हो गया।
डीएम विकास गोठलवाल और एसएसपी के. सत्यनारायणा यहां पहुंच कर लोगों को समझा-बुझा रहे थे कि उन्हें ग्रामीणों के मेरठ-करनाल हाईवे पर पहुंचने की सूचना मिली। बताया गया कि ग्रामीणों ने बपारसी पुल पर जाम लगाने के साथ ही हर्रा से पिठलोखर जा रहे कुछ लोगों के साथ मारपीट के अलावा तोड़फोड़ शुरू कर दी है।
डीएम और एसएसपी ने बपारसी पुल पहुंच कर जाम लगाने वालों को समझाने का प्रयास किया, परंतु ग्रामीण नहीं माने। इसी समय भीड़ में शामिल किसी व्यक्ति ने प्रशासनिक अमले पर पत्थर फेंक दिया। इस पर पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। इससे भीड़ भड़क गई और पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों पर पथराव कर दिया। इसी दौरान शामली से आ रही मेरठ डिपो की रोडवेज बस और पंजाब की टूरिस्ट बस के शीशे टूट गए। यात्रियों के साथ भी मारपीट की गई। कुछ उपद्रवियों ने एक बाइक में आग लगा दी और कई बाइकों में तोड़फोड़ कर दी। भीड़ के आक्रामक तेवर देखकर पुलिस ने लाठीचार्ज बंद कर दिया।
डीएम और एसएसपी ने ग्रामीणों से वार्ता की। दोनों अधिकारियों ने गोकशी पर रोक लगाने के साथ ही गोकशी करने वालों पर रासुका लगाने का आश्वासन दिया। इसके बाद ग्रामीणों ने जाम खोल दिया।

Spotlight

Most Read

Chandigarh

Report: पंजाब में टूटने लगी है ड्रग माफिया की कमर, जानिए कैसे और क्यों?

पंजाब में अब ड्रग माफिया की कमर टूटने लगी है, मतलब सरकार ने प्रदेश में नशा खत्म करने के लिए जो वादा किया था, वह पूरा होता दिख रहा है।

20 जनवरी 2018

Related Videos

हिन्दी नहीं लिख पाते मास्टर जी, क्या पढ़ाएंगे बच्चों को

जिन शिक्षकों के भरोसे बेहतर कल का भारत है अगर वो हिंदी ही ठीक से नहीं लिख पाते तो बच्चों को क्या पढ़ाएंगे। ऐसा मामला शामली जिले से सामने आया है, जहां एक शिक्षक हिंदी के शब्द ही ठीक से नहीं लिख पाए।

19 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper