52 सेकेंड के लिए थम गया शहर

Meerut Updated Fri, 17 Aug 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
मेरठ। एक बार फिर अमर उजाला के महाअभियान ‘मां तुझे प्रणाम’ के आह्वान पर एक साथ राष्ट्रगान गाकर इतिहास रचा गया। स्वतंत्रता दिवस पर क्रांति के नगर मेरठ में सुबह 10 बजे लोगों में जोश, जुनून और जज्बा साफ नजर आया। यह जोश था आजादी का, जुनून था देश प्रेम का और जज्बा था राष्ट्रगान के लिए 52 सेकेंड रुकने का। तभी तो शहर के चप्पे-चप्पे पर राष्ट्रगान का आयोजन हुआ। जो जहां था, वहीं ठहर गया। जीआईसी के मैदान में भी हजारों लोगों ने तिरंगे को सलामी दी।
शहर के 41 चौराहों के साथ गलियों और रास्तों पर लाउडस्पीकर पर बज रहे देशभक्ति के तरानों के बीच सुबह 9.58 बजे जैसे ही सायरन बजा, वैसे ही जो जहां था वहीं ठहर गया। लोग रिक्शा, साइकिल, बाइक और कार से उतरकर खड़े हो गये। 10 बजे सभी लोग सावधान की मुद्रा में राष्ट्रगान गाने लगे। शहर का व्यस्ततम चौराहा बेगमपुल, जीरो माइल स्टोन, बागपत तिराहा, रिठानी, तेजगढ़ी चौराहा, एल ब्लाक तिराहा, गंगानगर, जेलचुंगी चौराहा, पल्लवपुरम, कंकरखेड़ा, घंटाघर, बुढ़ानागेट, ईव्ज चौराहा, गांधी आश्रम, हापुड़ तिराहा आदि पर दुकानदार भी मार्ग पर आकर राष्ट्रगान में शामिल हुए। अमर उजाला और महावीर एजूकेशनल पार्क की प्रस्तुति एडको मां तुझे प्रणाम के इस महाअभियान में शहर ने अपने जज्बे को बखूबी प्रदर्शित किया।
शिव चौक पर गाया राष्ट्रगान
कंकरखेड़ा। कंकरखेड़ा में लोग सुबह नौ बजे से ही शिव चौक पर इकट्ठा होने लगे थे। ठीक 10 बजे तिरंगा झंडा लिए छात्र, युवा और बुजुर्ग राष्ट्रगान में शामिल हुए। इस दौरान सभासद सेंसरपाल, ठाकुर ओपी सिंह, सतनाम सिंह नामी, सरबजीत कपूर, गुल्लू ठाकुर, गणेश अग्रवाल, अंकित गुप्ता, जगदीप सिंह बरनाला, रंजीत, इंद्रपाल बजरंगी, अंजू गिल, विश्वनाथ भारद्वाज, अजेंद्र दत्त, अवीश, कनिक, अंकुर, नमन सहित सरधना रोड व्यापार संघ के लोग शामिल रहे।
सभी ने दिया सहयोग
सामूहिक राष्ट्रगान के लिए समाजसेवी, व्यापारिक, राजनैतिक और छात्र संगठनों के साथ सभी ने अपना सहयोग दिया। अमर उजाला की टीम के साथ हर कोई चौराहों और रास्तों पर राष्ट्रगान के लिए सड़क पर मौजूद था।

जीआईसी में उमड़ पड़ा जन सैलाब
मेरठ। जीआईसी मैदान पर आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि पर्यटन राज्यमंत्री ठा. मूलचंद चौहान ने अमर उजाला को इस महाअभियान की बधाई देते हुए कहा कि यह वास्तव में एक अनूठा कार्यक्रम है। जिसके माध्यम से पूरा शहर राष्ट्र के प्रति समर्पित होकर राष्ट्रगान गाता है। इस तरह का आयोजन पूरे देश में होना चाहिये।
आरवीसी के मेजर जनरल जगविंदर सिंह ने कहा कि देशभक्ति का यह कार्यक्रम बहुत रोमांचक है। एक समय में लाखों के शहर का 52 सेकेंड के लिए ठहर जाना बताता है कि इसी शहर से आजादी का बिगुल बजा था। संपादक शंभूनाथ शुक्ल ने अतिथियों का स्वागत करते हुए बताया कि इस अभियान की शुरुआत चार साल पहले मेरठ से हुई थी। लेकिन आज यह अमर उजाला द्वारा उत्तर प्रदेश के सभी बड़े शहरों में आयोजित कराया जा रहा है।
इस दौरान एसीएम सदर वीके मौर्या, एसपी सिटी ओमप्रकाश सिंह, एडीएमएलए वीके सिंह, विनीत शारदा, जनहित सोसायटी के अध्यक्ष शैलेंद्र अग्रवाल, सिनेमा संघ के अजय गुप्ता, सपा जिलाध्यक्ष जयवीर सिंह, सपा नेता रफीक अंसारी, आदिल चौधरी, डा. राजेश शर्मा, नवीन चंद लोहनी, बसपा नेता शाहजहां सैफी, असलम जमशेदपुरी, कांग्रेेस नेता हरिकिशन वर्मा, सलीम खान, चैतन्यदेव स्वामी, जीआईसी के प्रधानाचार्य वीके सिंह, हर्ष गोयल, करुणेश नंदन गर्ग, इरशाद जहां आदि मौजूद रहे। महाप्रबंधक मनीष तिवारी ने सभी का आभार व्यक्त किया।
बहादुर हैदर को किया सम्मानित
किठौर मार्ग पर छह अगस्त को बगैर चालक दौड़ती स्कूल बस को नियंत्रित कर रोकने वाले आईआईएमटी एकेडमी के कक्षा 10 के बहादुर छात्र किठौर निवासी हैदर अली को अमर उजाला ने इस अवसर पर सम्मानित किया। हैदर को मुख्य अतिथि पर्यटन राज्यमंत्री ठा. मूलचंद चौहान ने पुष्प गुच्छ और जिलाधिकारी विकास गोठलवाल ने मूमेंटो देकर सम्मानित किया।
महेंद्र सिंह धानक के बैंड ने दी प्रस्तुति
कार्यक्रम में प्रसिद्ध बैंड मास्टर महेंद्र सिंह धानक ने भी अपने बैंड की प्रस्तुति दी। राष्ट्रगान के दौरान उनके बैंड ने भी धुन बजाई। वहीं एनसीसी बैंड ने भी शानदार प्रस्तुति दी।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Bihar

महज साढ़े आठ हजार रुपये में कबाड़ी को बेची 42,500 बोर्ड परीक्षा की कॉपियां 

बोर्ड परीक्षा की उत्तर पुस्तिकाएं गायब नहीं हुईं बल्कि इन्हें कबाड़ी के हाथों बेचा गया। बोर्ड परीक्षा की उत्तर पुस्तिकाओं के गायब होने के मामले में कबाड़ी ने ही अब इस आशय का दावा किया है।

24 जून 2018

Related Videos

VIDEO: RLD नेता के परिवार की महिलाओं से की छेड़छाड़ फिर सिपाही को मारी गोली

मनचलों की धरपकड़ के लिए योगी सरकार भले ही तमाम कोशिश कर रही हो, पुलिस भी मुस्तैदी के दावे कर ही है लेकिन मेरठ में मनचलों ने खाकी को ही चुनौती दे डाली।

24 जून 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen