...अब अधरों पर गीत नहीं अंगारे हैं

Meerut Updated Fri, 10 Aug 2012 12:00 PM IST
मेरठ। अमर उजाला और महावीर एजुकेशन पार्क की प्रस्तुति एडको ‘मां तुझे प्रणाम’ के अंतर्गत गुरुवार को आयोजित जश्न-ए-आजादी कवि सम्मेलन एवं मुशायरा में कवियों और शायरों ने देशभक्ति के जोश से श्रोताओं को सराबोर कर दिया। देर रात तक कार्यक्रम चलता रहा।
कार्यक्रम का शुभारंभ कवि सौरभ जैन ‘सुमन’ के संचालन में कवियित्री अनामिका जैन ‘अंबर’ की सरस्वती वंदना से हुआ। सबसे पहले ओज के युवा हस्ताक्षर पंकज अंगार ने एक के बाद एक कविताएं प्रस्तुत कर श्रोताओं में ओज का ऐसा जोश भरा कि देर तक पंडाल तालियों से गूंजता रहा। इस बीच उन्होंने वर्तमान राजनीति पर व्यंग भी कसे। पंकज अंगार ने कहा दौलत की इस दुनिया में हम हर बाजी हारें है, इसीलिए अब अधरों पर गीत नहीं अंगारे हैं। अगली पंक्ति में उन्होंने भारत माता को नमन करते हुए कहा - हर मजहब से ज्यादा सोेंधी अपने हिंदुस्तान की खुशबू, देश की माटी से आती है मुझको भगवान की खुशबू है।
इसके बाद हास्य और भक्ति रस के प्रसिद्ध कवि अशोक भाटी ने जन्माष्टमी पर श्रीकृष्ण लीला का भावपूर्ण प्रस्तुतिकरण किया। वहीं हास्य और व्यंग की फुहार छोड़ते हुए भाटी ने श्रोताओं को देर तक गुदगुदाया। शायरी की युवा पहचान खुशबू ने अपना कलाम पेश करते हुए कहा मैं हूं एक फूल पाकिजा, मैं खुशबू हूं वफाओं की, मेरी पूजा ने दुआओं का भ्रम रखा है, मेरे मौला ने दुआओं का भ्रम रखा है। इसके बाद आए हास्य के फड़कते शोले जॉनी बैरागी ने फिल्मी गीतों, राजनीति, आतकंवाद सभी पर जमकर प्रहार किए। बैरागी ने कहा मुझे इस बात का गम है कि मेरा नाम बम है। वहीं जाते-जाते वह देश को अपने ही शब्दों में नमन कर गए, उन्होंने महाराणा प्रताप और चेतक का उदाहरण देते हुए कहा यह हिंदुस्तान ही है जहां आदमी तो क्या घोड़े भी यहां देश पर शहीद हो जाते हैं।
मशहूर शायर हाशिम फिरोजाबादी ने दंगों की व्यथा को शायरी में ढालते हुए कहा जो तुमने आग लगाई थी, तुम तो भूल गए, हमारे दिलों से अभी तक धुआं निकलता है। नेताओं पर व्यंग करते हुए उन्होंने कहा जिनके हाथों से तिरंगा न संभाला जाए, ऐसे नेताओं को संसद से निकाला जाए। प्रसिद्ध गीतकार संतोषानंद ने गीत सुनाते हुए कहा ये आंसू की लड़ियां, ये शबनम के मोती, गर न होने तो मुहब्बत न होती। इस दौरान उन्होंने श्रोताओं की फरमाइश पर कई फिल्मी गीतों के बोल भी सुनाए। गीतों की सुंदर हस्ताक्षर अनामिका अंबर ने कहा चंदा की चकोरी से बात न होती, अगर तुमसे हमारी बात न होती। शायर कुंवर जावेद ने कहा ... मजाक देखिए दुरंगे लोग तिरंगे की बात करते हैं। हास्य के प्रसिद्ध कवि सरदार प्रताप फौजदार ने ओज की कविता प्रस्तुत करते हुए शहीदों की कुर्बानी पर कहा देशभक्त लहू पर बलिदान पतंगा होता है, मृत्यु का भय नहीं लगता जब हाथ तिरंगा होता है। इस जश्न ए आजादी के तरानों को सुनने के लिए देर रात तक श्रोता पंडाल में जमे रहे।
इससे पूर्व कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्य अतिथि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष और विधायक डा. लक्ष्मीकांत वाजपेयी द्वारा दीप प्रज्ज्वलित करके किया गया। इस मौके पर अमर उजाला के संपादक शंभूनाथ शुक्ला और महाप्रबंधक मनीष तिवारी ने भाजपा अध्यक्ष डा. लक्ष्मीकांत वाजपेयी, कैंट विधायक सत्यप्रकाश अग्रवाल, मेरठ दक्षिण विधायक रविंद्र भड़ाना, पूर्व विधायक अमित अग्रवाल, जिला पंचायत सदस्य धर्मेंद्र भारद्वाज, अरिहंत प्रकाशन के योगेश चंद जैन, एसएसपी के सत्यनारायणा, संयुक्त व्यापार संघ के अध्यक्ष अरुण वशिष्ठ, पूर्व अध्यक्ष बिजेंद्र अग्रवाल, ईंट भट्टा एसोसिएशन के महामंत्री पवन मित्तल, दीपेश जैन, रितेश जैन को माल्यार्पण और स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया। संचालन नावेद ने किया। भाजपा महानगर अध्यक्ष सुरेश जैन रितुराज, राजेंद्र गर्ग, ज्योति प्रसाद अग्रवाल, रजनीश कौशल, सोहेल अहमद, सुनील कुमार आदि मौजूद रहे।

Spotlight

Most Read

National

'पद्मावत' के विरोध में मल्टीप्लेक्स के टिकट काउंटर में लगाई आग

रात करीब पौने दस बजे चार-पांच युवक जिन्होंने अपने चेहरे ढक रखे थे, मॉल में आए और टिकट काउंटर के पास पहुंच कर उन्होंने हंगामा शुरू कर दिया।

20 जनवरी 2018

Related Videos

हिन्दी नहीं लिख पाते मास्टर जी, क्या पढ़ाएंगे बच्चों को

जिन शिक्षकों के भरोसे बेहतर कल का भारत है अगर वो हिंदी ही ठीक से नहीं लिख पाते तो बच्चों को क्या पढ़ाएंगे। ऐसा मामला शामली जिले से सामने आया है, जहां एक शिक्षक हिंदी के शब्द ही ठीक से नहीं लिख पाए।

19 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper