लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Mau News ›   Accused was angry due to the fight with Baba, had made a complete plan and killed Ramavadh

Mau News: बाबा से मारपीट से थी नाराज था आरोपी, पूरा प्लान बनाकर की थी रामअवध की हत्या

Varanasi Bureau वाराणसी ब्यूरो
Updated Mon, 05 Dec 2022 04:30 AM IST
Accused was angry due to the fight with Baba, had made a complete plan and killed Ramavadh
विज्ञापन
मऊ/हलधरपुर। जमीन सहरुल्ला गांव में वृद्ध किसान की हत्या पुरानी रंजिश में की गई थी। रविवार को डीह तिलक ठाकुर पुलिया के पास से गिरफ्तार आरोपी ने बताया कि उसने दस साल पहले अपने बाबा से मारपीट के अपमान का बदला लेने के लिए घटना को अंजाम दिया। हत्या में प्रयोग चाकू को पुलिस ने बरामद किया है।

सीओ मधुबन अभय सिंह ने बताया कि बीते 30 नवंबर को हलधरपुर थाना क्षेत्र के जमीन सहरुल्ला गांव निवासी रामअवध यादव (62) की उसके घर से 100 मीटर पहले चाकू से हमला कर हत्या कर दी गई थी। मामले में हलधरपुर एसओ गंगासागर मिश्रा ने हत्यारोपी अखिलेश यादव (21) उर्फ शेरू पुत्र पारसनाथ यादव निवासी जमीन सहरूल्ला को डीह तिलक ठाकुर पुलिया से गिरफ्तार किया।

पूछताछ में आरोपी ने बताया कि उसने पुरानी रंजिश में रामअवध की हत्या की थी। बताया की रामअवध तथा उसके परिवार के सदस्यों से वर्ष 2013 में रास्ते के विवाद को लेकर मारपीट हुई थी। रामअवध ने उसके बाबा शिवधारी को काफी पीटा था। उस समय वह बालक था। लेकिन युवा अवस्था तक पहुंचते पहुंचते यह घटना उसके लिए असहनीय होती गई।
आरोपी का कहना है कि रामअवध भी आए दिन इस बात को लेकर उसे देखकर बोली बोलता था। इससे आजिज आकर उसने रामअवध की हत्या की योजना बनाई। इसी क्रम में वह बलिया मेला देखने पहुंचा और वहां से फोल्ड होने वाला चाकू खरीद कर लाया। बताया कि बीते 30 नवंबर को भी उसकी बकरी रामअवध के घर के पास चली गई और वहां लगे फूल खा गई।
इससे नाराज रामअवध ने उसे बहुत बुरा भला कहते हुए मारने के लिए लाठी उठा ली थी। उसने परिवार के दूसरे सदस्यों के चलते कुछ नहीं बोला। अपने इरादे को पक्का कर वह रामअवध की हत्या करने निकल पड़ा। वह अपने ट्यूबवेल पर गया, तो देखा कि रामअवध पहसा की तरफ साइकिल से जा रहा था।
वह भागकर घर पहुंचा और रामअवध के पीछे साइकिल लेकर पहसा बाजार गया, वहां रामअवध नहीं मिलो। इसके बाद वह वापस अपने घर आकर खाना खाकर सो गया। कुछ देर बाद जब वह उठा तो देखा कि रामअवध साइकिल से आ रहे हैं। इस पर गन्ने के खेत में पहुंचकर छिप गया और रामअवध के नजदीक आने पर ताबड़तोड़ चाकू से हमला कर उसे मौत के घाट उतार दिया।
विज्ञापन
हत्या का खुलासा करने में हलधरपुर एसओ गंगासागर मिश्र, उपनिरीक्षक बृजेंद्र कुमार सिंह, बृजमोहन सरोज, पंकज कुमार, रजनीश रावत की मुख्य भूमिका रही।
-----------------------
कटी उंगली, चप्पल से मिला सुराग
आरोपी ने जब रामअवध पर छिपकर हमला किया तो रामअवध ने बचाव का प्रयास किया। इसी प्रयास में चाकू से आरोपी के दाहिने हाथ की कानी अंगुली कट कर सड़क के बगल गन्ने के खेत में गिर गई। इसके बाद उसने चाकू को रेलवे लाइन पार करते हुए दिलशादपुर में मऊ-बलिया हाइवे से कुछ पहले झाड़ी में फेंक दिया था। घटना को अंजाम देने के समय आरोपी का एक चप्पल घटनास्थल पर रह गया था। यह सबूत पुलिस को आरोपी तक पहुंचाने में मददगार साबित हुए।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00