महंगाई पर भारी दिखा परंपरा

Mau Updated Mon, 12 Nov 2012 12:00 PM IST
मऊ। दीपावली के पूर्व धनवंतरी जयंती यानी धनतेरस के दिन बाजारों में आस्था का ज्वार उमड़ पड़ा। शाम होते-होते बर्तन, सर्राफा, मूर्तियों आदि की दुकानों पर पांव रखने की जगह नहीं मिली। अपने सामर्थ्य के अनुसार हर लोगों ने किसी न किसी वस्तु की खरीददारी की। हिंदू धर्म के इस महत्वपूर्ण त्योहार पर महंगाई के बावजूद आस्था भारी पड़ती दिखी।
धनतेरस के एक दिन पूर्व शनिवार को ही बर्तन, सर्राफा आदि की दुकानें सजनी शुरू हो गई थी। महंगाई के चलते लोगों का अनुमान था कि बाजारों में बिक्री पहले की अपेक्षा कम रहेगी लेकिन शाम होते-होते नगर सहित हर छोटी बड़ी बर्तन, मूर्ति व आभूषणों की दुकानों पर भीड़ देखकर कारोबारी भी दंग रह गये। पौराणिक मान्यता के अनुसार सोना, चांदी, बर्तन आदि खरीदने पर धन संपदा में बढ़ोत्तरी होती है। नए पात्रों में ही दीपावली के दिन गणेश लक्ष्मी का पूजन अर्चन किया जाता है। इसी मान्यता के तहत लोगों ने धनतेरस पर जमकर खरीददारी की। बाजार में सबसे अधिक बिक्री बर्तनों की रही। वहीं दूसरे नंबर पर सर्राफा व्यवसाय दिखा। लोगों ने बर्तनों में इंडक्शन चूल्हा, फ्लैट बर्तन, फ्लैट कढ़ाही, कूकर, टिफीन, बाल्टी, गिलास, लोटा, चम्मच, डीनर सेट, टी सेट, भगौना, ड्रम खरीदा। वहीं अधिकांश लोगों ने छोटी वस्तुएं खरीदकर धनतेरस की रस्म अदायगी की। छोटे वर्तनों में सर्वाधिक बिक्री पीतल के पूजा सामग्रियों की रही। लोगों ने दीपदान, लोटिया, घंटी आदि की खरीददारी की। बर्तन व्यवसायी आलोक बर्नवाल ने बताया कि धनतेरस पर बाजार ठीक रहा। लोगों ने अपेक्षाकृत अधिक खरीददारी की। ज्वेलरी की दुकानों पर चांदी, सोना के सिक्कों के अलावा डायमंड के गहनों की खूब बिक्री हुई। सोने, चांदी की गणेश लक्ष्मी के साथ ही अंगूठी, चेन, गिन्नी, नेकलेस, झूमका की जबरदस्त खरीदारी हुई। स्वर्णकार समाज के जिलाध्यक्ष अजय सर्राफ ने बताया कि धनतेरस पर चांदी के सिक्के, लक्ष्मी गणेश की मूर्तियाें की बिक्री सर्वाधिक रही। इलेक्ट्रानिक सामान के विक्रेता विनोद पांडेय ने बताया कि बाजार में चाइनीज झालरों व अन्य रोशनी के सामानों की बिक्री रही। सतीश

जिले में अनुमानित व्यवसाय
सामान कारोबार लाख में
सराफा 400
बर्तन 200
इलेक्ट्रानिक 95

बर्तन की दुकानों पर लगी रही खरीदारों की भीड़
घोसी। धनतेरस के दिन घोसी कस्बा नगर के बस स्टेशन, मझवारा मोड़, कस्बा बाजार, बड़ागांव बाजार, रेलवे स्टेशन मोड़ आदि स्थानों पर बर्तन की दुकानों पर भीड़ रही। ज्वेलरी की दुकानों पर सोने चांदी के आभूषणों की बिक्री कम रही। सबसे अधिक भीड़ रोडवेज और मझवारा मोड़ पर रही। महंगाई की मार सबके चेहरे पर झलक रही थी।



कस्बे में रही चहल पहल
मधुबन। धनतेरस के दिन रविवार को कस्बा में चहल पहल रही। महंगाई की मार के बाद भी बर्तन की दुकानों पर भीड़ रही। ज्वैलरी की दुकानों पर अपेक्षाकृत भीड़ कम रही। महंगाई के चलते हर आदमी सस्ता आइटम ही खोजता मिला।


खरीदारों की लगी रही भीड़
रानीपुर। धनतेरस के दिन ब्लाक मुख्यालय स्थित बाजार सहित क्षेत्र के खुरहट, पलिया आदि बाजारों में चहल पहल रही। बर्तन, सर्राफा की दुकानों पर खरीदारों की जबरदस्त भीड़ रही।



खरीदारों की उमड़ी भीड़
इंदारा। धनतेरस के दिन कोपागंज, अदरी, इंदारा आदि बाजारों में चहल पहल रही। बर्तन की दुकानों पर खरीदारों की जबरदस्त भीड़ उमड़ी। दुकानदार केवल रसीद काटने में ही व्यस्त रहे। सर्राफा की दुकानों पर भी भीड़ लगी रही।

Spotlight

Most Read

Pratapgarh

अभी तक एक भी अपात्र से नहीं हुई रिकवरी

अभी तक एक भी अपात्र से नहीं हुई रिकवरी

20 जनवरी 2018

Related Videos

कोहरे ने लगाया ऐसा ब्रेक, एक के बाद एक भिड़ीं कई गाड़ियां

वाराणसी-इलाहाबाद राजमार्ग पर गुरुवार को घने कोहरे के बीच दो एक सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से विजिबिलिटी कम होने पर एक के बाद एक चार गाड़ियां एक-दूसरे से टकरा गईं। इस हादसे में चार लोगों के घायल होने की भी खबर है।

21 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper