केंद्रीय टीम के आने की चर्चा से एफसीआई में हड़कंप

Mau Updated Thu, 01 Nov 2012 12:00 PM IST
मऊ। भारतीय खाद्य निगम द्वारा शासन से नामित राइस मिलों का चावल घटिया बताकर लेने से इंकार करने के बाद चावल डंप पड़ने से धान खरीद के प्रभावित होने की संभावना बढ़ गई है। राइस मिलर एफसीआई के अधिकारियों को ही दोषी ठहरा रहे हैं। शिकायत मिलने पर भारत सरकार की टीम गुरुवार को भारतीय खाद्य निगम के कार्यालय का निरीक्षण करेगी। टीम के धमकने की सूचना से एफसीआई के अधिकारियों और कर्मचारियों में हड़कंप मचा है।
धान क्रय एजेंसियों मार्केटिंग, पीसीएफ, क्रय विक्रय समिति, कर्मचारी कल्याण निगम द्वारा 55 राइसमिलों को चावल बनाने के लिए धान दिया गया था। एफसीआई द्वारा चावल की क्वालिटी खराब बताए जाने के बाद से भारी मात्रा में चावल डंप पड़ा है। खरीदे गए धान को कहां रखा जाएगा। यह तय ही नहीं हो पा रहा है। मिलरों की मानें तो एफसीआई के अधिकारियों के गैर जिम्मेदाराना रवैये से समस्या सामने आ रही है। जब छह माह तक चावल ही नहीं लिया जाएगा तो क्वालिटी पर असर तो पड़ेगा ही। शिकायत मिलने पर भारत सरकार की टीम गुरुवार को भारतीय खाद्य निगम के कार्यालय का निरीक्षण करेगी। टीम के अधिकारी बुधवार को आजमगढ़ में जांच पड़ताल मेें व्यस्त रहे। वहीं टीम के अधिकारी गुरुवार को निगम के अधिकारियों व कर्मचारियों के क्रियाकलापों तथा अभिलेखों की जांच करेंगे। मिलर भी अपनी समस्या तथा अधिकारियों का चिट्ठा सौंपने के लिए तैयार दिख रहे हैं। जांच की कार्यवाही से एफसीआई के अधिकारियों और कर्मचारियों में हड़कंप की स्थिति रही।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

कोहरे ने लगाया ऐसा ब्रेक, एक के बाद एक भिड़ीं कई गाड़ियां

वाराणसी-इलाहाबाद राजमार्ग पर गुरुवार को घने कोहरे के बीच दो एक सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से विजिबिलिटी कम होने पर एक के बाद एक चार गाड़ियां एक-दूसरे से टकरा गईं। इस हादसे में चार लोगों के घायल होने की भी खबर है।

21 दिसंबर 2017