जीवित्पुत्रिका व्रत को लेकर बाजार रहा गुलजार

Mau Updated Mon, 08 Oct 2012 12:00 PM IST
मऊ। अश्विन मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी को पुत्र कामना के लिए किया गया व्रत मनोवांछित फल प्रदान करता है। इस दिन महिलाओं द्वारा पुत्र की दीर्घायु के लिए किया जाने वाला जीवित्पुत्रिका व्रत वास्तव में फलदायी होता है। जिले भर की महिलाएं सोमवार को जीवित्पुत्रिका व्रत रहेंगी। इसके चलते रविवार को बाजारों में खासी चहल-पहल देखी गई।
नगर सहित जिले के विभिन्न ग्रामीण अंचलों में जीवित्पुत्रिका व्रत धूमधाम से मनाया जाता है। इस अवसर पर महिलाएं पूरे दिन निर्जल व्रत रखकर देर शाम नदी, तालाब पर इकट्ठा होकर दीप और वस्त्र दान करती हैं। शहर के ब्रह्मस्थान और तमसा नदी के किनारे महिलाएं अपने पुत्रों के दीर्घायु की कामना करते हुए कल्याणकारी कहानियां सुनती हैं। व्रत की तैयारी पूरी कर ली गई है। तमसा नदी के बम घाट, हनुमान मंदिर, भीटी घाट सहित जिले के विभिन्न प्रमुख पोखरों के घाटों की साफ सफाई की गई। कहते हैं कि एक मां अपने पुत्र की जीवन रक्षा के लिए हर जतन करती है, जो उनसे बन पड़ता है। सुहाग के निराजल व्रत रखने वाली नारी सोमवार को अपने पुत्र की दीर्घायु के लिए निराजल व्रत रखेंगी। बेटे की सुख, समृद्घि तथा जीवन रक्षा के लिए रखे जाने वाले व्रत की पूर्व संध्या पर महिलाएं सरपुतिया बड़े चाव से खाती हैं। सब्जी की दुकानों पर सरपुतिया की खूब खरीददारी हुई। ज्यूतिया, उड़द,बताशा, चीनी की लेड़ुई आदि मिठाइयों की खरीददारी की। उधर बाजारों में चढावे के लिए फलों की खरीददारी में तेजी देखी गई। नगर केमठिया टोला, हरिकेशपुरा, सहादतपुरा, निजामुद्दीनपुरा, पावरहाउस कालोनी, भीटी आदि मुहल्लों की महिलाएं सोमवार को गीत गाते हुए मड़इया घाट और तमसा नदी तट पर पहुंचकर गौरी गणेश का पूजन अर्चन करेंगी। अमिला संवाददाता के अनुसार क्षेत्र के विभिन्न इलाके की जीवित्पुत्रिका व्रत की पूर्व संध्या पर ज्यूतिया, सब्जी, फल सहित विभिन्न सामानों की जमकर खरीददारी की।
जीवित्पुत्रिका व्रत: पुत्र की दीर्घायु के लिए व्रत रहेंगी माताएं की खबर का जोड़
रतनपुरा संवाददाता के अनुसार, जीवित्पुत्रिका व्रत की पूर्व संध्या पर क्षेत्र के विभिन्न इलाकों के प्रमुख तालाबों के घाटों की साफ सफाई की गई। वहीं बाजारों में चढ़ावे के लिए महिलाओं ने आवश्यक खरीदारी की। इससे दुकानों पर काफी भीड़ रही। प्रत्येक दिन पांच रुपया किग्रा बिकने वाली सरपुतिया रविवार के दिन 80 से 90 रुपया प्रति किलो बिकी।

Spotlight

Related Videos

कोहरे ने लगाया ऐसा ब्रेक, एक के बाद एक भिड़ीं कई गाड़ियां

वाराणसी-इलाहाबाद राजमार्ग पर गुरुवार को घने कोहरे के बीच दो एक सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से विजिबिलिटी कम होने पर एक के बाद एक चार गाड़ियां एक-दूसरे से टकरा गईं। इस हादसे में चार लोगों के घायल होने की भी खबर है।

21 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper