कच्छा-बनियान गिरोह के चौदह डकैत बंदी

Mau Updated Fri, 17 Aug 2012 12:00 PM IST
मऊ। पूर्वांचल में दहशत का पर्याय बन चुके कच्छा-बनियान गिरोह के चौदह डकैतों को मंगलवार रात शहर कोतवाली क्षेत्र के कृष्ण विहार कालोनी के समीप रेलवे लाइन के पास से साढ़े तीन घंटे अभियान के बाद गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तारी के दौरान कई डकैतों के शरीर पर एक भी कपड़ा नहीं था। इनके पास से बांस, बंदूक, रिवाल्वर के साथ जिंदा कारतूस तथा लूटे गए सामान भी मिले हैं। बदमाशों ने जिले के साथ ही आजमगढ़ और बलिया में हुई डकैती और हत्याओं में भी शामिल होना बताया है। यह खुलासा पुलिस अधीक्षक जोगेंद्र कुमार ने किया।
शहर कोतवाली में गुरुवार को प्रेसवार्ता के दौरान एसपी ने बताया कि नगर के कृष्ण विहार और यशोदा विहार कालोनी में 18 जुलाई की रात को हुई डकैती और हत्या के बाद वहां गश्त बढ़ा दी गई थी। साथ ही कई स्टिंग मोबाइल टीमों को लगाया गया था। मंगलवार रात दो बजे सिपाही गश्त पर थे। अचानक रेलवे लाइन के किनारे कुछ लोगों की आहट मिलने के बाद सिपाहियों ने टार्च से देखा तो कई की संख्या में कच्छा पहने एवं कुछ नंग धड़ंग आदमी रोशनी पड़ते ही टहलने लगे। सिपाहियों ने इनमें से कुछ को दौड़ाकर पकड़ लिया जबकि कुछ लाइन के उस पार भागने लगे। आरक्षी हरिशंकर सिंह, सच्चिदानंद सिंह, ज्ञान मौर्य, सतवंत सिंह, विपिन, जितेंद्र यादव आदि ने इसकी सूचना उच्चाधिकारियों को दी। दस मिनट के भीतर ही मौके पर पुलिस अधीक्षक पहुंच गए। साथ ही प्रभारी कोतवाल मोहन लाल वर्मा, एसआई कृष्ण मुरारी, सलीम जावेद, राकेश जायसवाल, विमलेश मौर्या, आजमअली को बदमाशों को चारों तरफ से घेरने का आदेश दिया। कड़ी मशक्कत के बाद तकरीबन साढ़े तीन घंटे तक चले अभियान में घेरेबंदी कर चौदह डकैतों को पुलिस ने धर दबोचा। पकड़े गए बदमाशों में बलिया जनपद के रसड़ा थाना क्षेत्र के संवरा रामनगर निवासी कन्हैया मुसहर पुत्र लालमनी और अंतू पुत्र नरेश, भीमपुरा थाना क्षेत्र के पचमा गांव निवासी जोगेंद्र, हरेंद्र, राकेश पुत्रगण राजदेव, खेजुरी थाना क्षेत्र के फिरोजपुर गांव निवासी मुखलाल पुत्र स्वामी, बिहार प्रांत के बक्सर जिला राजपुर थाना क्षेत्र के कुनौली गांव निवासी विजय पुत्र जगदीश व जितेंद्र पुत्र शारदा, आजमगढ़ जनपद के सरायमीर थाना क्षेत्र के औडीहा गांव निवासी दिनेश पुत्र बदन व पतिराम पुत्र बसंत, गाजीपुर जनपद के सादात थाना क्षेत्र के कटया गांव निवासी शोभनाथ पुत्र बालकिशुन व बालकिशुन पुत्र पांचू, जंगीपुर थाना क्षेत्र के मिट्ठाबाग निवासी दिनेश पुत्र बुद्धू, कासिमाबाद थाना क्षेत्र के गंगौली गांव निवासी रामकीरत पुत्र मिसिर शामिल हैं। इनके पास से पुलिस ने एक 12 बोर की अद्धी बंदूक और दो जिंदा कारतूस, एक अदद देसी रिवाल्वर और दो जिंदा कारतूस तथा दस अदद हरे बांस के डंडे बरामद किए गए। आरोपियों की कृष्ण विहार कालोनी के कुछ लोगोें ने रात में ही पहचान भी की। आरोपियों ने मऊ, आजमगढ़ और बलिया में हुई कई घटनाओं को भी किया जाना कबूल किया है। पुलिस ने सभी को गुरुवार को चालान कर दिया। आईजी ने एसपी को वाहवाही देते हुए पुलिस टीम को 15 हजार नगद पुरस्कार से पुरस्कृत करने की घोषणा की है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी में नौकरियों का रास्ता खुला, अधीनस्‍थ सेवा चयन आयोग का हुआ गठन

सीएम योगी की मंजूरी के बाद सोमवार को मुख्यसचिव राजीव कुमार ने अधीनस्‍थ सेवा चयन बोर्ड का गठन कर दिया।

22 जनवरी 2018

Related Videos

कोहरे ने लगाया ऐसा ब्रेक, एक के बाद एक भिड़ीं कई गाड़ियां

वाराणसी-इलाहाबाद राजमार्ग पर गुरुवार को घने कोहरे के बीच दो एक सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से विजिबिलिटी कम होने पर एक के बाद एक चार गाड़ियां एक-दूसरे से टकरा गईं। इस हादसे में चार लोगों के घायल होने की भी खबर है।

21 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper