चेयरमैन की दौड़ में 16 उम्मीदवार

Mau Updated Mon, 18 Jun 2012 12:00 PM IST
मऊ। नगरपालिका का 2012 का चुनाव अब धीरे-धीरे अपने शबाब पर पहुंच रहा है। मतदाता साइलेंट मोड में होकर सबकी गतिविधियों पर नजर गड़ाए हुए हैं और एक-दूसरे की समीक्षा कर रहे हैं। जबकि प्रत्याशी एक-दूसरे के विरुद्घ माहौल बनाने में लगे हुए हैं।
नगरपालिका में चेयरमैन की दौड़ में एक दो नहीं बल्कि 16 उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। इनमें सपा ने अपना प्रत्याशी घोषित करने से पहले ही इंकार कर दिया है। इसके चलते यहां सपा के ही कई दिग्गज मैदान में हैं। पिछले दो चुनावों से इस सीट पर सपा का दबदबा होने के चलते सपा का अधिकृत प्रत्याशी बनने को लेकर जूतम पैजार तक की नौबत आ चुकी है। फिर भी अभी पार्टी किसी के पक्ष में निर्णय लेने की स्थिति में नहीं है। यहां पूर्व चेयरमैन अरशद जमाल की पत्नी शाहिना जमाल, पूर्व चेयरमैन तैयब पालकी की बेगम रजिया सुल्ताना के बीच आपस में ही जंग है। वहीं सपा की सिमरन खां भी मैदान में हैं। भाजपा से काफी जद्दोजहद के बाद सरोज लता का टिकट फाइनल हुआ है। वह पिछले चुनाव में दूसरे स्थान पर रहने के चलते अपने को मजबूत प्रत्याशी मान के चुनाव लड़ रही हैं। वहीं बसपा से डा. अर्शिया हाशमी के आने से मुस्लिम मतों में बिखराव की भी संभावना है। डा. अर्शिया मुस्लिम मतों के साथ ही बसपा का समर्थन पाकर लड़ाई को संघर्षपूर्ण बनाए हुए हैं वहीं कौमी एकता दल की हनीफा नोमानी भी सदर विधायक मुख्तार अंसारी के भरोसे अपने को मजबूत प्रत्याशी मानकर मैदान में हैं। इन प्रमुख प्रत्याशियों के अलावा डा. मधुराय, ऊषा भारती, इंदूमती, विमला पांडेय, राना खातून, कांग्रेस की सीमा परवीन, पूजा महरोत्रा, परवीन अंजुम, सुगंधा देवी भी अपने-अपने क्षेत्रों में जीत का अपना अलग-अलग समीकरण पेश कर रही हैं। नगरपालिका में 16 प्रत्याशियों के आने के बाद लड़ाई काफी रोचक है। हालांकि अभी किसी का पलड़ा भारी नहीं दिख रहा है लेकिन चुनाव की तिथि जैसे-जैसे नजदीक आ रही है चुनाव की दिलचस्पी बढ़ती जा रही है। कुल मिलाकर इस बार चेयरमैन बनने की राह में कई मुश्किलें हैं। जीत का सेहरा किसके सिर बंधेगा यह भविष्य के गर्भ में है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

कोहरे ने लगाया ऐसा ब्रेक, एक के बाद एक भिड़ीं कई गाड़ियां

वाराणसी-इलाहाबाद राजमार्ग पर गुरुवार को घने कोहरे के बीच दो एक सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से विजिबिलिटी कम होने पर एक के बाद एक चार गाड़ियां एक-दूसरे से टकरा गईं। इस हादसे में चार लोगों के घायल होने की भी खबर है।

21 दिसंबर 2017