बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

‘बिटिया’ के साथ हुई घटना की न हो पुनरावृत्ति

Mathura Updated Wed, 13 Feb 2013 05:30 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
मथुरा। पूर्व मुख्य न्यायाधीश जेएस वर्मा ने कहा कि दिल्ली में बिटिया के साथ हुई जघन्य घटना की पुनरावृत्ति हरगिज नहीं होनी चाहिए। बिटिया मामले पर महज एक महीने के अंदर सुझावों की रिपोर्ट सौंपकर एक मिसाल कायम करने वाले वर्मा ने युवाओं के सहयोग की प्रशंसा की। वर्मा आरसीए गर्ल्स पीजी कॉलेज मथुरा में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे। उन्होंने युवाओं से मुखर होने का आह्वान किया।
विज्ञापन

आयोगों के गठन और कई-कई सालों तक रिपोर्टों के लटके रहने के सवाल पर वर्मा ने कहा कि व्यक्तियों को अपने कर्तव्य का ईमानदारी और समय से पालन करना चाहिए। इस मौके पर उन्होंने छात्राओं सहित अन्य लोगों को अन्याय को मुंहतोड़ जवाब देने की शपथ दिलाई। सेमिनार का विषय ‘एजेंडा फॉर इन्क्लुसिव ग्रोथ द मिलेनियम डेवलपमेंट गोल्स एंड बियोंड’ है। इस अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार में डा. बीआर अंबेडकर विश्वविद्यालय के कुलपति डीएन जौहर, गिल्ड ऑफ सर्विस की अध्यक्षा वी मोहिनी गिरी, भारत की प्रथम सॉलिसिटर जनरल, यूएन वूमेन की सदस्या नोरा निको, महिला आयोग की पूर्व सदस्या डॉ. पद्मा सेठ, सुप्रीम कोर्ट की एडिशनल सॉलिसिटर जनरल इंदिरा आदि ने विचार व्यक्त किए।

इस दौरान भेदभाव को मानवता के खिलाफ बताते हुए मानवाधिकारों की बात कही गई। सेमिनार यूएन सदस्य देशों और 23 अंतर्राष्ट्रीय संगठनों द्वारा प्रस्तावित समग्र विकास के आठ लक्ष्यों पर आधारित था। 12 से 14 तारीख तक चलने वाले इस सेमिनार में कॉलेज की प्राचार्या डॉ. प्रीति जौहरी ने कहा कि मुझे खुशी है कि हम अंतरराष्ट्रीय वार्ताएं आयोजित कर कॉलेज की छात्राओं को लाभान्वित कर पाते हैं।
इससे पूर्व सेमिनार का शुभारंभ अतिथियों ने संयुक्त रूप से किया। इस अवसर पर विधायक प्रदीप माथुर, कॉलेज की संयोजिका कल्पना वाजपेई, गिरीश अग्रवाल, गजानंद मित्तल, अशोक जौहरी, मंजू दलाल, नीतू गोस्वामी, अर्चना पाल, हितैषी सिंह आदि थे। कार्यक्रम का संचालन ऋचा सिंह ने किया।

विश्वविद्यालय में सुधर रही है स्थिति
डॉ. बीआर अंबेडकर विश्वविद्यालय के कुलपति डीएन जौहर ने युवाओं की शक्ति को इक्कीसवीं सदी के उज्ज्वल भविष्य का निर्धारक बताया। युवाओं द्वारा विश्वविद्यालय में व्याप्त अव्यवस्थाओं के लिए शिकायत करने पर कुलपति ने भरोसा दिलाया और कहा कि मुझे अव्यवस्थाओं और क्षतिग्रस्त नियमों का भंडार मिला था जिसे मैं धीरे-धीरे साफ कर रहा हूं। अभी तक हमने 10-11 लोगों के अलावा कई कॉलेजों पर भी कार्यवाही की है।


मेरी पोतियों कंधे से कंधा मिलाओ और लक्ष्य को हासिल करो। ये वक्त सिर्फ तुम्हारा है और अपनी ऊर्जा से तुम इसे अपने हित में मोड़ सकती होे। - मोहिनी गिरी , गिल्ड ऑफ सर्विस की अध्यक्षा

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us