बांकेबिहारी मंदिर में लगाईं लोहे की सीढ़ियां

Mathura Updated Tue, 25 Dec 2012 05:30 AM IST
वृंदावन। ठाकुर बांके बिहारी मंदिर प्रबंधन ने मंदिर में वर्षों से लगीं लकड़ी की सीढ़ियों को हटवाकर स्टील की रेलिंग वाली लोहे की सीढ़ियां लगवा दीं। यह कार्य रविवार की देर रात्रि में पुलिस बल की मौजूदगी में किया गया। इस कार्य से सेवायतों मेें रोष है। उन्होंने इस कार्य को गलत बताया है।
सेवायतों का आरोप है कि मंदिर प्रबंधन द्वारा भारी पुलिस बल की मौजूदगी में मंदिर में वर्षों से लगीं लकड़ी की सीढ़ियों को हटवाकर लोहे की सीढ़ी लगाने का कार्य रविवार अर्धरात्रि को कराया गया। रविवार की देर रात मंदिर प्रांगण में एसपी सिटी राजूबाबू वर्मा मय पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। इस दौरान मंदिर प्रबंधन ने पुरानी लकड़ी की सीढ़ियां हटवाकर लोहे की सीढ़ियां लगवाईं। पुलिस बल की मौजूदगी के कारण सेवायत मंदिर के अंदर नहीं जा सके और न ही किसी प्रकार का विरोध हो सका। इस कार्य से सेवायतों, गोस्वामियों में मंदिर प्रबंधन के खिलाफ रोष है। एक गोस्वामी वर्ग लकड़ी की सीढ़ियों का समर्थन कर रहा है। उनके अनुसार लोहे की सीढ़ियां से लगने से श्रद्धालुओं के साथ आए दिन दुर्घटनाएं होंगी। मंदिर प्रबंधक अभिलाष सिंह के अनुसार मंदिर में पुरानी लकड़ी की जर्जर सीढ़ियां हटाकर नई लोहे की सीढ़ियां लगाई र्गइं हैं।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी करार

रांची स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले के तीसरे मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया है। साथ ही पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: ब्रज में यूं हुआ वसंत पंचमी से रंगोत्सव का आगाज

दुनियाभर में होली भले ही एक दिन का त्योहार हो लेकिन भगवान श्रीकृष्णश की ब्रजभूमि में यह उत्सव 40 दिन तक मनाया जाता है। होली के इस खास उत्सव की शुरुआत वसंत पंचमी के दिन से ही होती है।

22 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls