नौ ग्राम पंचायत होगी वृंदावन पालिका में शामिल

Mathura Updated Mon, 03 Dec 2012 05:30 AM IST
राजीव अग्रवाल
वृंदावन। 146 वर्ष पुरानी नगर पालिका वृंदावन के विकास के लिए खाका तैयार हो रहा है। देश के पयर्टन और तीर्थाटन के नक्शे पर छाने को तैयार बांके बिहारी की लीला स्थली वृंदावन को हाल ही में पवन हंस हेलीकाप्टर सेवा से जोड़ा गया है। भविष्य की संभावनाओं को देखते हुए अब इसके सीमा विस्तार की तैयारी है। आस पास के नौ गांवों को इसमें शामिल कर इसका प्रस्ताव तैयार कर शासन को भेजा गया है।
यह नगर पालिका सन् 1866 में अस्तित्व में आई थी और इससे पहले 1967 में इसका सीमा विस्तार हुआ था। दूसरी बार इसके विस्तार की तैयारी है। प्रदेश के नगर विकास मंत्रालय से सीमा विस्तार के संबंध में प्रशासन से प्रस्ताव मांगा था। इसके बाद पालिका ने छटीकरा पूर्ण, सुनरख बांगर, सुनरख खादर, राजपुर बांगर, राजपुर खादर, तेहरा, अल्हैपुर, वृंदावन बांगर देहात और वृंदावन खादर देहात पूर्ण को शामिल करने का प्रस्ताव जिला प्रशासन को भेज दिया। सीमा विस्तार की कार्रवाई से ग्राम जैंत, आटस खादर और आटस बांगर को अलग रखा गया है। सीमा का विस्तार हुआ तो वृंदावन नगर पालिका परिषद का क्षेत्रफल दोगुना हो जाएगा। आबादी बढ़ेगी, समस्याएं आएंगी तो निस्तारण और विकास की संभावनाएं भी बढ़ेगी।
वृंदावन नगर पालिका अब
-आबादी : 63117
-मतदाता : 47087
-क्षेत्रफल : 13.49 वर्ग किमी
-सीवर, ड्रेेनेज का क्षेत्रफल : 31.5 किमी
-पेयजल के लिए ओवरहैड टैंक : 6
इतिहास: आठ बार प्रयास हुए, दो बार हुआ विस्तार
पहली बार आजादी से पहले 1943 में वृंदावन नगर पालिका की सीमा का विस्तार हुआ और इसे विद्यापीठ चौराहे तक किया गया। 1952, 1954 में प्रस्ताव आया, लेकिन सीमा विस्तार नहीं हुआ। दूसरी बार 1967 में तत्कालीन चेयरमैन पं. मगनलाल शर्मा के प्रयासों से विस्तार हुआ। तब पालिका की सीमा छटीकरा-वृंदावन मार्ग पर इस्कान मंदिर और मथुरा-वृंदावन रोड पर अटल्ला चुंगी तक बढ़ा दी गई। रतन छतरी गांव भी वृंदावन में शामिल किया गया। 1972, 1986, 1993 और 1998 में सीमा विस्तार प्रस्ताव बने पर कार्रवाई नहीं हुई।
सुनरख, छटीकरा भी बनेंगे ड्राई एरिया
1959 में प्रदेश सरकार ने वृंदावन नगर पालिका क्षेत्र को ड्राई एरिया घोषित कर दिया था। यहां अंडा, मांस, शराब एवं अन्य मादक पदार्थों की बिक्री पूर्णत: प्रतिबंधित हैं। प्रतिबंध के लिए नगर पालिका की सीमा परिक्रमा मार्ग तक निर्धारित है। सीमा विस्तार हुआ तो गांव सुनरख और छटीकरा में देशी-विदेशी शराब, बीयर के ठेके समाप्त करने होंगे।
कर्मचारियों की कमी खलेगी
वर्तमान में पालिका कर्मचारियों की कमी से जूझ रही है। सफाई के लिए मात्र 65 कर्मचारी हैं। निर्माण, जलकल, प्रकाश, टैक्स आदि विभागों में 24 से अधिक पद रिक्त हैं।

आमदनी में होगा भारी इजाफा
सीमा विस्तार के बाद वृंदावन नगर पालिका की आमदनी में भारी इजाफा होने का संभावना है। वृंदावन की सीमाओं से बाहर बने आश्रम, होटल, गेस्टहाउस और कालोनियों से पालिका को अच्छा राजस्व मिलेगा।


विस्तार से बढ़ेंगी चुनौतियां
सीमा विस्तार शासन से अपेक्षाओं में वृद्धि करेगा। पालिका के सामने कर्मचारियों की कमी की चुनौती और आधारभूत सुविधाओं को बढ़ाने की जिम्मेदारी होगी।
-मुकेश गौतम, पालिकाध्यक्ष

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी एसटीएफ ने मार गिराया एक लाख का इनामी बदमाश, दस मामलों में था वांछित

यूपी एसटीएफ ने दस मामलों में वांछित बग्गा सिंह को नेपाल बॉर्डर के करीब मार गिराया। उस पर एक लाख का इनाम घोषित ‌किया गया था।

17 जनवरी 2018

Related Videos

बांके बिहारी के दर्शन नहीं रहे आसान, शहर में घुसने पर लगी ये रोक

हर साल वसंत पंचमी और गणतंत्र दिवस पर होने वाली भीड़ को देखते हुए वृंदावन के ट्रैफिक प्लान में बदलाव किया गया है। अगर आप इन दोनों दिनों में से किसी भी दिन वृंदावन जाने की सोच रहे हैं तो ये खबर जरूर देखें।

17 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper